दूध माफिया के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, 2 साल से कर रहे थे मिलावट

दूध माफिया के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, 2 साल से कर रहे थे मिलावट  दूध माफिया के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, 2 साल से कर रहे थे मिलावट dudh milavt

अलवर. जिले में नकली और सिंथेटिक दूध का कारोबार तेजी से फैलता जा रहा है. दीवाली के त्यौहार को देखते हुए पुलिस ने इस अवैध कारोबार के खिलाफ शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है. पुलिस ने किशनगढ़बास बड़ी कार्रवाई करते हुए नकली दूध से भरा टैंकर और एक बाइक से दूध बेचने आये दूधिया से 500 लीटर दूध जप्त किया है. पुलिस ने इस मामले में 5 आरोपियों को गिरफ्तार  किया है.

दूध माफिया के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, 2 साल से कर रहे थे मिलावट prachina in article 1

जयपुर स्पेशल टीम ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है. पुलिस ने ‘शुद्ध के लिए युद्ध’ अभियान के तहत भिवाड़ी में हाइवे पर धासोली बस स्टैंड के पास टैंकरों से दूध चोरी कर मिलावट करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते पांच आरोपियों को रंगे हाथों दबोचा लिया. ये लोग दुकानों की आड़ में चोरी छिपे दूध टैंकरों की सील तोड़कर उसमें नकली ओर सिंथेटिक दूध की मिलावट कर रहे थे. ये टैंकर से दूध चोरी कर उसमें पानी और केमिकल की मिलावट करते पकड़े गये हैं. पुलिस ने मौक़े से चोरी किया गया 500 लीटर दूध भी बरामद किया है.

2 साल से टैंकरों की सील तोड़कर कर रहे थे मिलावट का कारोबार
इसके साथ ही 30 हजार लीटर दूध से भरा एक टैंकर, एक कार, एक बाइक, एक सील और सील तोड़ने के उपकरण सहित अन्य सामान जब्त किया गया है. दूध का यह टैंकर सखी डेयरी का है. यह दूध भरकर निभेडा गांव से भिवाड़ी जा रहा था. पकड़े गये आरोपी करीब 2 साल से टैंकरों की सील तोड़कर दूध चोरी कर मिलावट का कारोबार चला रहे थे. चूंकि खाद्य विभाग की टीम इनके खिलाफ कार्रवाई नहीं करती है इसलिए जिले में नकली और सिंथेटिक दूध माफियाओं के हौसले बुलंद हैं.

COMMENTS