सड़क सुरक्षा के लिए तकनीकी अध्ययन कर आवश्यक सुधार करें -जिला कलेक्टर

3 Min Read

बीकानेर। जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए संबंधित विभाग तकनीकी अध्ययन कर आवश्यक सुधार करें, जिससे लोगों के जीवन की रक्षा की जा सके । जिला सड़क सुरक्षा समिति की शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में जिला कलक्टर ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि संबंधित विभाग संयुक्त रूप से मौका देख कर विस्तृत अध्ययन करते हुए रिपोर्ट दें जिससे तकनीकी सुधार किए जा सकें। उन्होंने कहा कि ओवरस्पीडिंग रोकना बहुत आवश्यक है, इसके लिए नियमों का उल्लंघन करने वालों के चालान काटने के साथ-साथ समझाइश व प्ररेणादायी फिल्में टोल नाकों पर नियमित रूप से दिखाई जाए। जिला कलक्टर ने कहा कि हाईवे पर स्पीड नियंत्रण के लिए औचक निरीक्षण बढाए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने हाईवे पर लोकेशन के साथ चालान काटे जाने की सूचना प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। सभी चेक पोस्ट पर ट्रैफिक पुलिस तैनाती की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए जिला कलक्टर ने कहा कि शहर में कहीं भी भारी वाहनों की एंट्री ना हो इस संबंध में गंभीरता से कार्रवाई करें । जिला कलक्टर ने शहर में ट्रैफिक लाइट लगाने के लिए चिन्हित स्थानों पर स्टॉप लाइन व ज़ेबरा क्रॉसिंग बनाने के लिए भी संबंधित विभागों को ट्रैफिक पुलिस के साथ समन्वय करने के निर्देश दिए। बसों में स्पीड गवर्नर लगाने के साथ-साथ नियम तोड़ने वालों के खिलाफ भी परिवहन विभाग कड़ी कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग के दोनों और अतिक्रमण पाया जाता है तो विभाग द्वारा 91 में मामला दर्ज करवाने की कार्यवाही करें। बैठक में टोल नाकों पर नेत्र जांच शिविर लगाने के भी निर्देश दिए गए। श्री डूंगरगढ़ और सेरूणा में आगामी 1 सप्ताह में अवैध कट बंद करवाते हुए रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा। जिला कलक्टर ने सभी स्कूलों में नो बैग डे के अवसर पर ट्रेफिक नियमों की जानकारी देने के निर्देश दिए। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) पंकज शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमित कुमार बुडानिया, नगर विकास न्यास सचिव यशपाल आहूजा, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता मुकेश गुप्ता सहित राष्ट्रीय राजमार्ग व एनएचएआई के सम्बंधित अधिकारी, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी सुनील बोड़ा उपस्थित रहे।

Share This Article