मंगल टीका जागरुकता अभियान : शहर के पाटों से, गांव की चौपालों तक’ देंगे जानकारी

मंगल टीका जागरुकता अभियान : शहर के पाटों से, गांव की चौपालों तक’ देंगे जानकारी  मंगल टीका जागरुकता अभियान : शहर के पाटों से, गांव की चौपालों तक’ देंगे जानकारी IMG 20210306 WA0010

मंगल टीका जागरुकता अभियान : शहर के पाटों से, गांव की चौपालों तक’ देंगे जानकारी mr bika fb post
बीकानेर। कोविड वैक्सीनेशन के प्रति जागरुकता के उद्देश्य से जिला कलक्टर नमित मेहता की पहल पर चल रहे ‘मंगल टीका जागरुकता अभियान’ के तहत शनिवार को वृद्धजन भ्रमण पथ पर शिविर आयोजित हुआ।
ब्लाॅक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. अनिल वर्मा ने कोविड वैक्सीनेशन एवं इसके लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि सभी पात्र व्यक्ति का वैक्सीनेशन करवाएं तथा कोरोना के खिलाफ सुरक्षाचक्र मजबूत हो, इसके मद्देनजर यह अभियान प्रारम्भ किया गया है। उन्होंने कहा कि इसके तहत आमजन को समझाइश की जाएगी। इस दौरान वरिष्ठ जनों ने भी टीके को पूर्णतया सुरक्षित बताया तथा कहा कि वैक्सीनेशन के बाद उन्हें किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुई।
पाॅलिटेक्निक काॅलेज के सेवानिवृत्त विभागाध्यक्ष 80 वषीय डाॅ. एम. पी. शर्मा ने बताया कि उन्होंने 5 मार्च को वैक्सीनेशन करवाया। इसके बाद उन्हें कोई दिक्कन नहीं हुई। इसी प्रकार उरमूल डेयरी के सेवानिवृत्त लेखाकार 63 वर्षीय हरिकिसन वर्मा, 64 वर्षीय अनिल कुमार चौपड़ा, 63 वर्षीय सत्यनारायण पुरोहित तथा दुर्गेश कंवर ने भी वैक्सीनेशन करवाए जाने तथा इससे किसी प्रकार की परेशानी नहीं होने की जानकारी दी। साथ ही उन्होंने कहा कि सभी वैक्सीनेशन करवाएं।
‘शहर के पाटों से, गांव की चौपालों तक’ देंगे जानकारी
जिला प्रशासन द्वारा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त तत्वावधान् में चल रहे अभियान के तहत 8 से 12 मार्च तक घर-घर पहुंचकर वैक्सीनेशन के प्रति जागरुकता का संदेश दिया जाएगा। इसके लिए पांच दिवसीय ‘शहर के पाटों से, गांव की चौपालों तक’ अभियान चलाया जाएगा। अभियान समन्वयक राजेन्द्र जोशी ने बताया कि जिले के समस्त बीएलओ, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, एएनएम, नर्सिंग स्टूडेंट्स तथा शहर एवं ग्रामीण क्षेत्र के अन्य कार्मिक पांच दिनों तक जागरुकता का सघन अभियान चलाएंगे। इस दौरान डोर-टू-डोर संपर्क करेंगे और पात्र लोगों को टीकाकरण करवाने के लिए प्रेरित करेंगे। इसी प्रकार 9 मार्च को जिले के सभी सरकारी कार्यालयों, स्कूलों, आंगनबाड़ी केन्द्रों में जागरुकता कार्यक्रम होंगे। प्रत्येक कार्यालय के प्रभारी द्वारा वैक्सीनेशन के संबंध में प्रचार-प्रसार किया जाएगा।

COMMENTS