NEET 2024 : इस EXAM का एक रात पहले मेरे पास आ गया था प्रश्न पत्र , छात्र ने काबुला

9 Min Read
NEET 2024

NEET 2024

NEET पेपर लीक मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। आरोपी अनुराग यादव ने पुलिस के सामने अपने बयान में कुबूल किया है कि जो प्रश्न पत्र लीक हुआ था, वही परीक्षा में आया था और सभी प्रश्न वही थे। अनुराग ने बताया कि उसे यह प्रश्न पत्र परीक्षा से एक दिन पहले ही मिल गया था। उसके फूफा ने सेटिंग करवाई थी और उसे कोटा से पटना बुलवाया था। रात भर उसे हर प्रश्न का उत्तर रटवाया गया था। परीक्षा के बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

4 जून को जब NEET परीक्षा का रिजल्ट आया तो पहली बार 67 छात्रों को 720 में से 720 अंक मिले। टॉपर्स की सूची देखकर नीट परीक्षा में धांधली का मुद्दा उठा। 13 जून को एनटीए ने फैसला लिया कि ग्रेस मार्क्स पाने वाले छात्रों की परीक्षा दोबारा आयोजित की जाएगी, लेकिन छात्रों का गुस्सा अभी भी शांत नहीं हुआ है। बिहार और गुजरात से आई पेपर लीक की खबरों ने एनटीए की विश्वसनीयता और पारदर्शिता पर सवाल खड़े कर दिए हैं, जिस कारण छात्र CBI जांच की मांग कर रहे हैं।

NEET 2024

पटना और पंचमहल से कई गिरफ्तारियां हुई हैं। पटना में 13 लोग गिरफ्तार हुए हैं, जिनमें 4 छात्र भी शामिल हैं। पुलिस जांच में पता चला कि पेपर लीक हुआ था और गिरोह ने बच्चों को पास कराने के लिए लाखों रुपए वसूले थे। पंचमहल में भी छात्रों से लाखों रुपए वसूले गए और गिरोह ने सही जवाब भरकर आंसर शीट जमा की।

- Advertisement -

यह खुलासा NEET परीक्षा की निष्पक्षता और पारदर्शिता पर गंभीर सवाल खड़े करता है और छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ की गंभीरता को उजागर करता है।

पटना के शास्त्रीनगर थाना पुलिस की जांच NEET पेपर लीक मामले में जूनियर इंजीनियर सिकंदर प्रसाद यादवेंदु तक पहुंच गई है। पुलिस पूछताछ में यादवेंदु ने स्वीकार किया कि वह भी इस धांधली में शामिल था और अपने भतीजे अनुराग यादव के लिए गड़बड़ी में भूमिका निभाई थी।

अनुराग यादव ने अपने बयान में दावा किया कि परीक्षा के दिन उसे वही पेपर मिला था जो एक दिन पहले ही उसे मुहैया कराया गया था। उसने बताया कि रातभर उसे हर प्रश्न रटवाया गया और परीक्षा में 100 प्रतिशत वही सवाल पूछे गए।

NEET 2024

NEET 2024
NEET 2024

अनुराग के बयान के अनुसार

“मेरा नाम अनुराग यादव (22 साल) है। मैं परिदा थाना हसनपुर, जिला समस्तीपुर का रहने वाला हूं। मैं अपनी सफाई का बयान बिना भय या दबाव, बिना लोभ लालच के शास्त्रीनगर थाने में दरोगा तेज नारायण सिंह के समक्ष दे रहा हूं। मैं नीट की परीक्षा की तैयारी कोटा में एलेन कोचिंग सेंटर में रहकर कर रहा था। मेरे फूफा सिकंदर यादवेंदु नगर परिषद दानापुर में जूनियर इंजीनियर के पद पर कार्यरत हैं। मेरे फूफा ने बताया कि 5 मई 2024 को नीट की परीक्षा है।

कोटा से वापस आ जाओ। परीक्षा की सेटिंग हो चुकी है। मैं कोटा से वापस आ गया और मेरे फूफा ने 4 मई 2024 की रात में अमित आनंद, नीतीश कुमार के पास मुझे छोड़ दिया। यहां मुझे नीट की परीक्षा का प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिका दी गई। रात में मुझे पढ़वाया और रटवाया गया। मेरा सेंटर डीवाई पाटिल स्कूल में था। मैं परीक्षा देने गया तो वही प्रश्न पत्र मिला जो मुझे रटवाया गया था। परीक्षा के उपरांत अचानक पुलिस आई और मुझे पकड़ लिया। मैंने अपना अपराध स्वीकार किया। यही मेरा बयान है।”

इस कबूलनामे ने NEET परीक्षा की निष्पक्षता और पारदर्शिता पर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं। मामले की जांच अभी भी जारी है और पुलिस ने कई गिरफ्तारियां की हैं। इस खुलासे ने छात्रों और अभिभावकों में आक्रोश पैदा कर दिया है, और वे CBI जांच की मांग कर रहे हैं।

NEET 2024

A big revelation has been made in the NEET paper leak case. Accused Anurag Yadav has admitted in his statement to the police that the question paper which was leaked was the same one that came in the exam and all the questions were the same. Anurag told that he got this question paper a day before the exam. His uncle had arranged and called him from Kota to Patna. He was made to memorize the answer to every question overnight. After the exam, the police arrested him.

When the result of the NEET exam came on June 4, for the first time 67 students got 720 out of 720 marks. Seeing the list of toppers, the issue of rigging in the NEET exam arose. On June 13, the NTA decided that the examination of the students who got grace marks would be conducted again, but the anger of the students has still not subsided. The news of paper leak from Bihar and Gujarat has raised questions on the credibility and transparency of the NTA, due to which the students are demanding a CBI inquiry.

NEET 2024

Several arrests have been made from Patna and Panchmahal. 13 people have been arrested in Patna, including 4 students. Police investigation revealed that the paper was leaked and the gang had charged lakhs of rupees to get the children passed. In Panchmahal too, lakhs of rupees were charged from the students and the gang submitted the answer sheet by filling in the correct answers.

This disclosure raises serious questions on the fairness and transparency of the NEET exam and highlights the seriousness of playing with the future of the students.

The investigation of Shastrinagar police station of Patna has reached Junior Engineer Sikandar Prasad Yadavendu in the NEET paper leak case. During police interrogation, Yadavendu admitted that he was also involved in this rigging and played a role in the disturbance for his nephew Anurag Yadav.

Anurag Yadav claimed in his statement that on the day of the examination, he got the same paper which was provided to him a day before. He told that he was made to memorize every question overnight and 100 percent the same questions were asked in the exam.

NEET 2024

According to Anurag’s statement

“My name is Anurag Yadav (22 years). I am a resident of Parida police station Hasanpur, district Samastipur. I am giving my statement of clarification without fear or pressure, without greed before Inspector Tej Narayan Singh at Shastrinagar police station. I was preparing for the NEET exam by staying at Allen Coaching Center in Kota. My uncle Sikandar Yadavendu is working as a junior engineer in Nagar Parishad Danapur. My uncle told that there is a NEET exam on 5 May 2024.

NEET 2024

Come back from Kota. The exam has been set. I came back from Kota and my uncle left me with Amit Anand, Nitish Kumar on the night of 4 May 2024. Here I was given the question paper and answer sheet of the NEET exam. I was made to study and memorize it at night. My center was in DY Patil School. When I went to take the exam, I got the same question paper which I was made to memorize. Then suddenly the police came and caught me. I confessed my crime. This is my statement.”

NEET 2024

This confession has raised serious questions on the fairness and transparency of the NEET exam. The investigation into the case is still on and the police have made several arrests. This revelation has sparked outrage among students and parents, and they are demanding a CBI inquiry.

Share This Article