आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों के अनुरूप कार्य करें अधिकारी

आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों के अनुरूप कार्य करें अधिकारी bikaner आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों के अनुरूप कार्य करें अधिकारी vaternary 2 1

जिला निर्वाचन अधिकारी ने दिए टिप्स

बीकानेर,  जिला निर्वाचन अधिकारी कुमार पाल गौतम ने कहा कि निष्पक्ष, भयरहित और पारदर्शी चुनाव के लिए सैक्टर अधिकारी आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों के अनुरूप कार्य करें।
गौतम मंगलवार को वेटरनरी यूनिवर्सिटी सभागार में नगर निगम चुनाव 2019 के मददेनजर सैक्टर अधिकारी एवं सैक्टर मजिस्ट्रेट के प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि निष्पक्ष चुनाव सम्पन्न करवाने में अधिकारी, कर्मचारियों की अहम भूमिका है। सैक्टर अधिकारी एवं सैक्टर मजिस्ट्रेट व एरिया मजिस्ट्रेट अपने दायित्व निर्वहन में निष्पक्ष होकर कार्य करने का विशेष ध्यान रखें और आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के प्रकरण को गंभीरता से लेकर तुरंत एक्शन लिया जाए। उन्होंने कहा कि आदर्श आचार संहिता की पालना के लिए संबंधित अधिकारी सतर्कता बरते और विभागों के साथ-साथ चुनाव से जुड़े अधिकारी भी इसकी पालना सुनिश्चित करावे।
गौतम ने कहा कि विभिन्न व्यवस्थाओं को सुचारू रखने के लिए सैक्टर अधिकारी मतदान केन्द्रों का लगातार भ्रमण करते हुए मतदान केंद्रों तक सरकारी वाहनों की आसान पहुंच और सुगम यातायात की व्यवस्था किया जाना सुनिश्चित करें। साथ ही मतदान केन्द्रों में आधारभूत सुविधाएं भी सुनिश्चित की जाएं, विशेषकर मतदान के दिन मतदाताओं के प्रवेश और निकासी का रास्ता अलग-अलग हो तथा बूथ पर प्रकाश की समुचित व्यवस्था रहे।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि मतदान के दौरान केन्द्रों पर किसी भी प्रकार की असुविधाजनक स्थिति न बने, सभी मतदाता शांतिपूर्वक ढंग से अपने मताधिकार का प्रयोग बिना भय के कर सके, इसके लिए सैक्टर अधिकारी एवं सैक्टर मजिस्ट्रेट को समन्वय से कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि वार्ड पार्षदांे का चुनाव बहुत ही संवेदनशील है। मतदाताओं को प्रलोभन या प्रभावित करने की प्रत्येक गतिविधि पर अधिकारी नजर बनाए रखें। नकदी, उपहार वस्तुए,ं शराब या मुफ्त भोजन वितरण या डराने-धमकाने या धन शक्ति अथवा बाहुबल का प्रयोग करने जैसी समस्त गतिविधियों पर रोक सुनिश्चित करेंगे।
असामाजिक तत्वों को करावें पाबन्द
जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिला मजिस्ट्रेट कुमार पाल गौतम ने कहा कि सैक्टर अधिकारी अपने भ्रमण के दौरान उस क्षेत्र में रहने वाले ऐसे व्यक्तियों को चिन्हित करें, जिनका प्रीवियस रिकाॅर्ड खराब रहा है अथवा लोकसभा और विधानसभा चुनावों के दौरान किसी तरह के विवाद एवं झगड़े में लिप्त रहे हैं, ऐसे व्यक्तियों की सूची बनाकर उन्हें भारतीय दंड संहिता के तहत पाबंद करवाये जाने की कार्यवाही अमल में लावें। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी भ्रमण के दौरान अपनेे क्षेत्र में आने वाले धार्मिक स्थलों के प्रबंधकों से भी बातचीत कर समझाईश करें कि कोई भी राजनैतिक दल का व्यक्ति इनका उपयोग चुनाव से जुड़े कार्यों में न करें।
गंभीरता से लें प्रशिक्षण
जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि सभी अधिकारी प्रशिक्षण के दौरान मतदान प्रक्रिया की समस्त जानकारी प्राप्त कर कत्र्तव्य निर्वहन के लिए स्वयं को तैयार करें। उन्होंने कहा कि स्वतंत्र, निष्पक्ष व शांतिपूर्ण मतदान सम्पन्न कराने में मतदान दलों के साथ आप सभी की भी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। मौके पर आने वाली समस्याओं के त्वरित निस्तारण के लिए आवश्यक है कि चुनाव नियमों एवं निर्देशों के साथ ही इलेक्ट्राॅनिक वोटिंग मशीन व वीवीपैट की कार्य प्रणाली की पूर्ण जानकारी हों। उन्होंने कहा कि अधिकारी मतदान दलों में निष्पक्षता उनके कार्य व्यवहार से प्रकट होना सुनिश्चित करवाएं।
गौतम ने सैक्टर अधिकारी एवं सैक्टर मजिस्ट्रेट से कहा कि मतदान के दिन यह सुनिश्चित कर लें कि मतदान केन्द्रों के पास भीड़ जमा नहीं होने दंे और केन्द्र के 200 मीटर की परिधि में किसी प्रत्याशी का बूथ नहीं लगना भी सुनिश्चित किया जाए।
इस अवसर पर उप जिला निर्वाचन अधिकारी ए.एच.गौरी सहित प्रशिक्षण प्रकोष्ठ के प्रभारी चंद्रभान सिंह भाटी, डाॅ.गौरव बिस्सा, परमेश्वर दयाल बैरवा, डॉ.वाई. बी. माथुर, डॉ.विपिन सैनी, गणेश सदारंगानी व डॉ.शमिन्द्र सक्सेना ने भी सैक्टर अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया ।

COMMENTS

WORDPRESS: 0