पीबीएम अस्पताल को मिलेंगे 50 जीएनएम , पढे खबर

पीबीएम अस्पताल को मिलेंगे 50 जीएनएम , पढे खबर  पीबीएम अस्पताल को मिलेंगे 50 जीएनएम , पढे खबर

बीकानेर। जिला कलक्टर नमित मेहता ने कहा कि कोरोना संक्रमित होम आइसोलेट रहे, इसकी निरन्तर माॅनिटरिंग हो। होम आइसोलेट रोगियों के स्वास्थ्य पर निगरानी के लिए नियुक्त पैरामेडिक स्टाॅफ उन तक पहुंच रहा है या नहीं, इसके बारे में रिपोर्ट प्रस्तुत करें।

मेहता ने कलेक्ट्रेट सभागार में बुधवार को कोविड-19 प्रबंधन समीक्षात्मक बैठक में कहा कि नर्सिंग स्टाॅफ प्रतिदिन होम आइसोलेट रोगी से सम्पर्क करे, इस सुनिश्चित किया जाए। कोविड-19 के लिए नियुक्त जोन एरिया मजिस्ट्रेट अपने क्षेत्र में भ्रमण कर, व्यवस्थाओं की समीक्षा करें। उन्होंने कहा कि सुपर स्पेशिलिटी में भर्ती रोगियांे अथवा उनके परिजनों द्वारा 181 पर किसी भी प्रकार की शिकायत की जाती है, तो वाॅर रूम में नियुक्त अधिकारी उसका निवारण करवाएंगे। कोविड-नियंत्रण हेतु नियुक्त अधिकारियों की कार्य कुशलता की सराहना करते हुए मेहता ने कहा कि सभी अधिकारी टीम को साथ लेकर, व्यवस्था में और अधिक सुधार के प्रयास करें।
जिला कलक्टर ने कोविड-19 रोगियों को आक्सीजन समय पर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए और पूछा कि अधिगृहित ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट द्वारा समय पर आक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है अथवा नहीं। इस पर सहायक निदेशक औषधि नियंत्रक ने बताया कि सेरूणा स्थित बी.एस.एयर प्रोडक्ट एल.एल.पी प्रोपर रेस्पांेस नहीं कर रहा है। इस पर जिला कलक्टर ने निर्देश दिए कि संबंधित फर्म से सम्पर्क कर,  कार्य प्रणाली में सुधार लाने के लिए पाबंद किया जाए। इसके बावजूद अगर व्यवस्था में सुधार नहीं हो तो संबंधित फर्म के खिलाफ कानून कार्यवाही प्रस्तावित की जाए। उन्होंने अधीक्षक पीबीएम से कहा कि जिला प्रशासन के द्वारा की गई आक्सीजन व्यवस्था के अतिरिक्त चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, जयपुर से आक्सीजन के टैंकर की मांग की जाए। उन्होंने कहा कि अधिग्रहित किए गए ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट पर निर्भर नहीं रहा जा सकता। अतः पीबीएम अस्पताल प्रशासन विभाग से आक्सीजन के अतिरिक्त टैंकर मंगवाकर, व्यवस्था में सुधार करें।
जिला कलक्टर ने सुपर स्पेशिलिटी कोविड-19 केयर सेन्टर सहित जिले में अन्य कोविड-19 केयर सेन्टरों में भर्ती कोरोना संक्रमितों के बारे में फीडबैक लिया और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने अधीक्षक पीबीएम अस्पताल को निर्देशित किया कि कोविड अस्पताल में 10 और अटेन्डेंट नियुक्त किये  जाएं। मेहता ने बताया कि पीबीएम अस्पताल को शीघ्र ही 50 जीएनएम अलग से दिए जाएंगे, इससे  कोविड-19 सुविधाओं में अधिक सुधार आ सकेगा।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ए.एच.गौरी, एडीएम (सिटी) सुनीता चैधरी, यूआईटी सचिव मेघराज सिंह मीना, जोन एरिया मजिस्ट्रेट ऋषि बाला श्रीमाली, एसीएम बिन्दू खत्री, उपायुक्त निगम मंगलाराम पूनिया, कार्यवाहक अधीक्षक पीबीएम अस्पताल डाॅ.गुंजन सोनी,भू-प्रबंध अधिकारी अर्चना व्यास, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.बी.एल.मीना, समसा के जिला समन्वयक हेतराम सहारण सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

पीबीएम अस्पताल को मिलेंगे 50 जीएनएम , पढे खबर prachina in article 1

COMMENTS