चीन से झड़प पर बोले पीएम मोदी- हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा

चीन से झड़प पर बोले पीएम मोदी- हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा bikaner hulchul चीन से झड़प पर बोले पीएम मोदी- हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा PM Narendra Modi

नई दिल्ली:  एलएसी (LAC) पर गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी  (PM Narendra Modi)  ने पहली बार इस मुद्दे पर अपना बयान दिया. उन्होंने साफ कहा कि भारतीय जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. कोरोना वायरस (Coronavirus) से निपटने को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी की 15 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक शुरू हो गई है. बैठक शुरू होने से पहले चीन सीमा पर हिसंक झड़प में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी गई.
पीएम मोदी ने कहा, ‘किसी को भ्रम, संदेह नहीं होना चाहिए. भारत उकसाने पर यथोचित जवाब देने में सक्षम है. भारत शांति चाहता है, लेकिन जवाब देना भी अच्छे से जानता है. पीएम मोदी ने कहा, ‘मैं देश को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. भारत अपनी अखंडता से समझौता नहीं करेगा. हमारे सैनिक मारते-मारते हुए मरे हैं

bikaner hulchul चीन से झड़प पर बोले पीएम मोदी- हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा prachina in article 1

पीएम मोदी बोले- पूरा देश शहीद जवानों के परिवारों के साथ
पीएम मोदी ने कहा, ‘पूरा देश शहीद जवानों के परिवारों के साथ है, जिन्होंने देश के लिए अपना बलिदान दिया. पीएम ने कहा कि भारत अपने स्वाभिमान और हर एक इंच जमीन की रक्षा करेगा. इतिहास भी इस बात का गवाह है कि हमने विश्व में शांति फैलाई, पड़ोसियों के साथ दोस्ताना तरीके से काम किया. हमेशा उनके विकास और कल्याण की कामना की है.

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ‘हम कभी किसी को भी उकसाते नहीं हैं, लेकिन हम अपने देश की अखंडता और संप्रभुता के साथ समझौता भी नहीं करते हैं. जब भी समय आया है, हमने देश की अखंडता और संप्रभुता की रक्षा करने में अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया है, अपनी क्षमताओं को साबित किया है. त्याग और तितिक्षा हमारे राष्ट्रीय चरित्र का हिस्सा हैं, लेकिन साथ ही विक्रम और वीरता भी उतना ही हमारे देश के चरित्र का हिस्सा हैं. मोदी ने कहा कि भारत शांति चाहता है, लेकिन भारत को उकसाने पर हर हाल में निर्णायक जवाब भी दिया जाएगा.

15 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक
बता दें कि कोरोना वायरस पर बात करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 15 राज्यों के मुख्यमियों के साथ बैठक चल रही है. बैठक में महाराष्ट्र, दिल्ली, तमिलनाडु, गुजरात जैसे राज्य शामिल हैं. ये वे राज्य या केंद्र शासित प्रदेश हैं, जिनमें कोरोना विस्फोट हो चुका है. मतलब कोरोना के सबसे ज्यादा मामले हैं. इससे पहले पीएम ने मंगलवार को 21 राज्यों के मुखियाओं से बात की गई थी. ये वे 21 राज्य थे जिनमें कोविड-19 की स्थिति कंट्रोल में है.

bikaner hulchul चीन से झड़प पर बोले पीएम मोदी- हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा ad for in article 1

COMMENTS