PM मोदी ने राहुल गांधी पर साधा निशाना , कही ये बड़ी बात

PM मोदी ने राहुल गांधी पर साधा निशाना , कही ये बड़ी बात  PM मोदी ने राहुल गांधी पर साधा निशाना , कही ये बड़ी बात rahul

PM मोदी ने राहुल गांधी पर साधा निशाना , कही ये बड़ी बात mr bika fb post

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को जम्मू और कश्मीर में आयुष्मान योजना की शुरुआत की. इस दौरान पीएम ने बीते दिनों संपन्न हुए DDC चुनाव का जिक्र किया. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जम्मू एवं कश्मीर में जिला विकास परिषद (डीडीसी) के चुनावों के शांतिपूर्ण व पारदर्शी ढंग से संपन्न होने और लोगों की बड़ी भागीदारी को भारत के लिए ‘‘गौरव’’ का क्षण बताया और कहा कि इन चुनावों ने एक नया अध्याय लिखा है और दिखाया कि देश में लोकतंत्र कितना मजबूत है.

PM मोदी ने राहुल गांधी पर साधा निशाना , कही ये बड़ी बात prachina in article 1

इस दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा. पीएम ने कहा  कि जम्मू-कश्मीर में इन चुनावों ने ये भी दिखाया कि हमारे देश में लोकतंत्र कितना मजबूत है. लेकिन एक पक्ष और भी है, जिसकी तरफ मैं देश का ध्यान आकर्षित कराना चाहता हूं. इस अवसर पर अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के उन आरोंपों का भी जवाब दिया जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘‘भारत में कोई लोकतंत्र’’ नहीं है और यह ‘‘केवल कल्पना में’’ मौजूद है.

मोदी ने कहा कि कांग्रेस शासित पुडुचेरी में उच्चतम न्यायालय के आदेश के बावजूद पंचायत और नगरपालिका के चुनाव नहीं हो रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘मैं देश का ध्यान आकर्षित कराना चाहता हूं। पुडुचेरी में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद पंचायत और म्यूनिसिपल इलेक्शन नहीं हो रहे. आप हैरान होंगे, सुप्रीम कोर्ट ने 2018 में ये आदेश दिया था. लेकिन, वहां जो सरकार है, इस मामले को लगातार टाल रही है. पुडुचेरी में दशकों के इंतजार के बाद साल 2006 में स्थानीय निकाय चुनाव हुए थे. इन चुनावों में जो चुने गए उनका कार्यकाल साल 2011 में ही खत्म हो चुका है’

‘राजनीतिक दलों की कथनी और करनी में कितना बड़ा फर्क’
मोदी ने कहा, ‘‘कुछ राजनीतिक दलों की कथनी और करनी में कितना बड़ा फर्क है, लोकतंत्र के प्रति वो कितना गंभीर है इस बात से ही पता चलता है. कितने साल हो गए, पुडुचेरी में पंचायत चुनाव नहीं होने दिए जा रहे हैं.’’

टाला जा रहा है चुनाव
पीएम ने कहा कि पुडुचेरी में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद पंचायत और म्यूनिसिपल इलेक्शन नहीं हो रहे.आप हैरान होंगे, सुप्रीम कोर्ट ने 2018 में ये आदेश दिया था. लेकिन वहां जो सरकार है, इस मामले को लगातार टाल रही है. साथियों,  पुडुचेरी में दशकों के इंतजार के बाद साल 2006 में स्थानीय चुनाव हुए थे. इन चुनावों में जो चुने गए उनका कार्यकाल साल 2011 में ही खत्म हो चुका है.

COMMENTS