विवेक मित्तल द्वारा निर्मित पोस्टर्स प्रदर्शनी – सिंगल यूज प्लास्टिक के दुष्प्रभाव

विवेक मित्तल द्वारा निर्मित पोस्टर्स प्रदर्शनी – सिंगल यूज प्लास्टिक के दुष्प्रभाव  विवेक मित्तल द्वारा निर्मित पोस्टर्स प्रदर्शनी – सिंगल यूज प्लास्टिक के दुष्प्रभाव bikaner headline 4

बीकानेर। श्रीमती शशिबाला मित्तल चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा विवेक मित्तल द्वारा निर्मित “पोस्टर्स प्रदर्शनी – सिंगल यूज प्लास्टिक के दुष्प्रभाव“ का प्रदर्शन जिला सैनिक कल्याण विभाग, गांधी पार्क के सामने किया गया। ट्रस्ट के अध्यक्ष विवेक मित्तल ने प्रदर्शनी की जानकारी देते हुए बताया इस पोस्टर्स प्रदर्शनी के माध्यम समाज में सिंगल यूज प्लास्टिक के मानव, जीव और जगत पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव की विस्तृत जानकारी आमजन के प्रदर्शन हेतु लगाई गई। इसके अलावा आगन्तुकों ने ‘पर्यावरण संरक्षण प्रतिज्ञा’ प्रपत्र भर कर सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग न करने की शपथ ली। प्रदर्शनी का मुख्य आकर्षण सैल्फी पाईण्ट ‘प्लास्टिक रूपी दावन’ था। अवलोकनार्थ आये दर्शकों ने ट्रस्ट के प्रयास को प्रशसनीय बताते हुए लिखा की अभिनव प्रयोग द्वारा समाज में प्लास्टिक प्रदूषण को पोस्टर्स के माध्यम से प्रस्तुत किया है ज्ञानवर्द्धक है। इससे पूर्व जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कर्नल पी.एस. राठौड तथा से.नि. ब्रिगे. एन.एल वर्मा द्वारा फीता खोल का प्रदर्शनी को आमजन के लिए आरम्भ किया। अपने उद्घाटन उद्बोधन में कर्नल राठौड़ ने कहा कि श्रीमती शशिबाला स्मृति चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा जनता में सिंगल यूज प्लास्टिक के बारे में जागरूकता लाने का सराहनीय प्रयास इस पोस्टर प्रदर्शनी द्वारा किया जा रहा है। हमें सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रयोग से बचना चाहिये तभी जीव-जन्तुओं की भी रक्षा हो सकेगी। छोटे-छोटे जागरूकता के कार्यक्रमों से निश्चित रूप से समाज में बदलाव सम्भव है। से.नि. ब्रिगे. एन.एल. वर्मा ने कहा कि सिंगल यूज प्लास्टिक देश व दुनिया के लिए अत्यन्त गम्भीर खतरा है। हमें कानून की बजाय स्वप्रेरणा से जागरूकता लाने का प्रयास करना चाहिए तथा इसके प्रयोग पर रोक लगानी चाहिए तथी पर्यावरण सुरक्षित रहेगा। से.नि. आयकर अधिकारी शिवाजी आहूजा ने कहा कि ट्रस्ट सदैव सकारात्मक सोच के साथ समाज में जनजागृति के लिए गम्भीर विषयों को प्रदर्शनी के माध्यम से कार्य कर रहा है। पूर्व में हम सभी कपड़ों के थैलों का प्रयोग करते थे। प्लास्टिक से मानव के साथ-साथ हवा-पानी भी प्रदूषित हो रहे हैं तथा इनसे नाले अवरूद्ध हो जाते हैं जिसके कारण सरकार का काफी ज्यादा पैसा खर्च हो रहा है। प्लास्टिक को पूर्णतया प्रतिबन्धित किया जाने के लिए कठोर कदम उठाने का आवश्यकता है। से.नि.आ.सू.मे. आर.पी मील ने कहा कि मानव, जीव और जगत की रक्षा करनी है तो हमें इस प्लास्टिक रूपी दानव को सदा के लिए भस्म करना होगा और यह तभी सम्भव हो सकेगा जब हम स्वप्रेरणा से प्लास्टिक को अपनाना छोड़ दें। इस अवसर पर वल्लभ गॉर्डन विकास मंच के उपाध्यक्ष रामचन्द्र मूलु, भाजपा महिला जिला अध्यक्ष श्रीमती मधुरिमा सिंह, पूनम सारण, सु.मे. गोविन्दसिंह, सु. भोमराज, कोशलेश गोस्वामी, ओमप्रकाश, घनश्यामसिंह, राजेन्द्र कुमार गर्ग, राकेश शर्मा, अशोक व्यास, महेश शर्मा ने भी अपने विचार रखे।

COMMENTS

WORDPRESS: 0