सोमनाथ मंदिर के अध्यक्ष बने प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह ने दी बधाई

सोमनाथ मंदिर के अध्यक्ष बने प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह ने दी बधाई  सोमनाथ मंदिर के अध्यक्ष बने प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह ने दी बधाई 8ef307e5c9c15db7420de64acc790976 342 660

सोमनाथ मंदिर के अध्यक्ष बने प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह ने दी बधाई mr bika fb post

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट (Somnath Mandir Trust) का अध्यक्ष बनाया गया है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minsiter Amit Shah) ने ट्वीट के जरिए यह खबर साझा की. अमित शाह ने प्रधानमंत्री मोदी को बधाई भी दी. गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि- “प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी को सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष बनने पर हृदयपूर्वक बधाई देता हूं. सोमनाथ तीर्थ क्षेत्र के विकास के प्रति मोदी जी का समर्पण अद्भुत रहा है. मुझे पूर्ण विश्वास है कि मोदी जी की अध्यक्षता में ट्रस्ट, सोमनाथ मंदिर की गरिमा व भव्यता को और बढ़ाएगा.”

सोमनाथ मंदिर के अध्यक्ष बने प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह ने दी बधाई prachina in article 1

इससे पहले ट्रस्ट के अध्यक्ष राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री केशूभाई पटेल थे. गुजरात पब्लिक ट्रस्ट एक्ट 1950 के तहत बने श्री सोमनाथ धार्मिक चैरिटेबल ट्रस्ट में 8 सदस्य होते हैं. पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, पूर्व भाजपा दिग्गज एलके आडवाणी और गुजरात के पूर्व मुख्य सचिव प्रवीण लाहेरी इस ट्रस्ट के सदस्य हैं. वहीं, अंबुजा न्योतिया समूह के हर्षवर्धन न्योतिया और वेरावल से संस्कृत के रिटायर्ड प्रोफेसर जेडी परमार भी ट्रस्ट के गैर राजनीतिक सदस्य हैं.

सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट में केंद्र और राज्य सरकारें चार चार सदस्यों को नॉमिनेट करती हैं, जबकि ट्रस्टी मंडल संभावित सदस्यों की एक लिस्ट तैयार करता है और सामान्य रूप से उसी में से सदस्य चुने जाते हैं.

पीएम मोदी इससे पहले अक्टूबर में सोमनाथ मंदिर की बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल भी हुए थे. सोमनाथ मंदिर की व्यवस्था और संचालन का कार्य सोमनाथ ट्रस्ट के अधीन किया जाता है. यह मंदिर गुजरात पर्यटन का एक विश्वविख्यात केंद्र है. सोमनाथ मंदिर के प्रांगड़ में रात साढ़े सात से साढ़े आठ बजे तक एक घंटे का साउंड एंड लाइट शो चलता है. इस शो में सोमनाथ मंदिर के इतिहास का सचित्र वर्णन किया जाता है. सोमनाथ मंदिर को इतिहास में कई बार तोड़ा तथा पुनर्निर्मित किया गया है.

COMMENTS