बीकानेर

दीपावली पर सार्वजनिक प्रकाश और सफाई व्यवस्था रहेगी चाक चौबंद ,सामूहिक आतिशबाजी भी होगी

बीकानेर। जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने कहा कि दीपावली के दौरान शहर की सफाई और सार्वजनिक प्रकाश व्यवस्था को चाक चौबंद रखा जाएगा। प्रत्येक शिकायत पर त्वरित कार्यवाही होगी। रोड लाइट बंद रहने की स्थिति में ठेकेदार की राशि काटी जाएगी।
जिला कलक्टर ने शुक्रवार को औद्योगिक और स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की और दीपावली के अवसर पर शहर के सौंदर्यकरण, यातायात सहित पहली बार आयोजित होने वाले रंगोली, दीपदान और सामूहिक आतिशबाजी कार्यक्रम के संबंध में चर्चा की।

जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौर के बाद इस बार दीपावली का त्योहार पूरे उत्साह के साथ मनाया जाए। उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा शहर की साफ-सफाई और रोड लाइट पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। इसके लिए उन्होंने निगम और नगर विकास न्यास को अतिरिक्त टीमें तैनात करने के निर्देश दिए।
जिला कलक्टर ने कहा कि आमजन सफाई और रोड लाइट से जुड़ी किसी समस्या के लिए निगम के मोबाइल एप ‘समाधान बीकानेर’ पर फोटो सहित अथवा जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष 0151-2226031 पर शिकायत दर्ज करवा सकेंगे। दोनों माध्यमों पर त्वरित कार्यवाही होगी। उन्होंने कहा कि इसमें किसी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी, इसके मद्देनजर निगम अपनी टीमों को सतर्क रखें। इस बार इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी के तहत भी श्रमिकों को सफाई कार्य के लिए नियोजित किया जा सकेगी।
जिला कलक्टर ने कहा कि दीपावली के मद्देनजर शहर के सभी ऐतिहासिक दरवाजे और 21 सर्कल्स को आकर्षक तरीके से सजाया जाएगा। इसके साथ ही प्रमुख बाजारों का सौंदर्यकरण औद्योगिक संगठनों द्वारा सामूहिक रूप से किया जाएगा। इस बार श्रेष्ठ बाजारों को सामूहिक रूप से पुरस्कृत किया जाएगा।

जिला कलक्टर ने बताया कि इस बार दीपावली से पूर्व भव्य रंगोली, दीप दान और सामूहिक आतिशबाजी का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसके लिए उन्होंने स्वयंसेवी संस्थाओं की भागीदारी का आह्वान किया।   उन्होंने मुख्य स्थानों पर मेडिकल टीमों और फायर ब्रिगेड की तैनाती, देवस्थान विभाग के मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना सहित विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर (प्रशासन) ओम प्रकाश, अतिरिक्त कलेक्टर (नगर) पंकज शर्मा, नगर विकास न्यास के पूर्व अध्यक्ष मकसूद अहमद, जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष द्वारका प्रसाद पचीसिया, नरपत सेठिया, अनंतवीर जैन, दीपक पारीक, जतिन यादव, अनवर अजमेरी, वीरेंद्र किराडू, सुरेंद्र पटवा, नितिन चड्ढा, प्रेम खंडेलवाल सहित विभिन्न औद्योगिक संघों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

What's your reaction?