राजस्थानबीकानेर

Railway : बीकानेर रेलवे मंडल रहा अव्वल, 4 करोड़ 80 लाख रुपयों वसूले

Railway : बिना टिकट अथवा अनाधिकृत टिकट से यात्रा की रोकथाम के लिए रेलवे द्वारा लगातार टिकट चेकिंग की जाती है।

इसके अतिरिक्त रेलवे अधिकारियों के नेतृत्व में विशेष टिकट चेकिंग अभियान भी चलाए जाते हैं। बीकानेर रेल मंडल को वर्ष 2023-24 के  प्रथम 05 माह अप्रैल से अगस्त तक टिकट चेकिंग से 1,13,388 प्रकरणों से  लगभग 4 करोड़ 80 लाख रुपयों का राजस्व प्राप्त हुआ जोकि पिछले वर्ष इसी अवधि अप्रैल से अगस्त 2022 के दौरान दर्ज किए गए 98993 से प्राप्त राजस्व रुपए लगभग 4 करोड़ 71 लाख से 01.95 प्रतिशत अधिक है। इन आंकड़ों में बिना टिकट अथवा अनाधिकृत टिकट पर यात्रा करते तथा   सीमा से अधिक वजन या आकर के सामान लेकर यात्रा करने वालों पर लगाए गए जुर्माने एवं अतिरिक्त किराए के अलावा बिना जुर्माने के उच्च श्रेणी में टिकट बनवाने पर प्राप्त अतिरिक्त किराया तथा धूम्रपान एवम गंदगी फैलाना पर लगाया गया जुर्माना भी शामिल है।

टिकट चेकिंग से प्राप्त राजस्व में बीकानेर मंडल पर अत्यधिक वृद्धि देखी गई है। वर्ष 2013 में बीकानेर मंडल को टिकट चेकिंग में 1 वर्ष में 2.76 करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ था जोकि बढ़ते बढ़ते वर्ष 2022-23 में 9.98 करोड़ तक पहुंचा तथा इस वित्तीय वर्ष 2023-24 में यह आंकड़ा 10 करोड़ के पार जाने का अनुमान है।

Railway: To prevent traveling without ticket or unauthorized ticket, ticket checking is done continuously by Railways. Apart from this, special ticket checking drives are also conducted under the leadership of railway officials. Bikaner Railway Division received a revenue of approximately Rs 4 crore 80 lakh from 1,13,388 cases of ticket checking in the first 05 months of the year 2023-24 from April to August, which is compared to 98993 rupees recorded during the same period last year from April to August 2022. The revenue received is approximately Rs 4 crore 71 lakh which is 01.95 per cent higher. These figures include fines and additional fares imposed on those traveling without tickets or on unauthorized tickets and carrying luggage exceeding the limit of weight or size, and additional fares received for booking tickets in higher classes without penalty, and smoking and littering. Also included is the penalty imposed.

Bikaner division has seen a huge increase in the revenue received from ticket checking. In the year 2013, Bikaner division had received a revenue of Rs 2.76 crore in one year from ticket checking, which increased to Rs 9.98 crore in the year 2022-23 and this figure is expected to cross Rs 10 crore in the financial year 2023-24. .

What's your reaction?