Rajasthan Congress Politics: 1 दर्जन MLAs कर रहे हैं जिलाध्यक्ष बनने के लिये लॉबिंग

 Rajasthan Congress Politics: 1 दर्जन MLAs कर रहे हैं जिलाध्यक्ष बनने के लिये लॉबिंग

जयपुर. राजस्थान कांग्रेस संगठन में जल्द नियुक्तियां होने की उम्मीद जताई जा रही है. पार्टी में जिलों की कार्यकारिणियां पिछले करीब एक साल से भंग है और सबसे ज्यादा नजरें जिलाध्यक्षों (District President) की नियुक्तियों को लेकर टिकी हैं. जिलाध्यक्ष बनने की दौड़ में कई दिग्गज नेता शामिल हैं. खास बात यह है कि करीब एक दर्जन विधायक (MLAs) भी जिलाध्यक्ष बनने के लिए लॉबिंग कर रहे हैं. ये विधायक संगठन में काबिज होना चाहते हैं. उसकी कई वजह हैं. ये विधायक अपने को और ज्यादा पॉवरफुल बनाने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रहे हैं और जयपुर से लेकर दिल्ली तक लॉबिंग कर रहे हैं.

दरअसल जिला, ब्लॉक और वार्ड स्तर पर संगठन में महत्वपूर्ण नियुक्तियां जिलाध्यक्ष के जरिए ही होती है. वहीं स्थानीय निकाय और पंचायत चुनाव में टिकट तय करने से लेकर लोकसभा और विधानसभा चुनाव में पैनल भेजने तक के काम जिलाध्यक्ष के जरिए ही होते हैं. जिले में संगठन का पूरा कामकाज इन्हीं के नेतृत्व में होता है. यही वजह है कि कई विधायक संगठन की बागडोर अपने हाथ में लेना चाहते हैं.

ये विधायक हैं दौड़ में शामिल
जिलाध्यक्ष बनने की दौड़ में जिन विधायकों के नाम चर्चाओं में हैं उनमें जयपुर शहर से रफीक खान और जयपुर देहात से गोपाल मीणा का नाम शामिल है. रफीक खान आदर्श नगर सीट से विधायक हैं वहीं गोपाल मीणा जमवारामगढ से विधायक हैं. संगठन के ज्यादातर आयोजन चूंकि राजधानी में होते हैं इसलिए जयपुर जिलाध्यक्ष को ज्यादा पॉवरफुल भी माना जाता है. यही वजह है कि सबसे ज्यादा लॉबिंग भी जयपुर के लिए ही हो रही है. इनके अलावा धौलपुर में विधायक रोहित बोहरा, नागौर में मंजू मेघवाल, बीकानेर में गोविन्दराम मेघवाल, श्रीगंगानगर में जगदीश जांगिड़, हनुमानगढ़ में अमित चाचाण, प्रतापगढ में रामलाल मीणा, जैसलमेर में रुपाराम मेघवाल, अजमेर देहात में राकेश पारीक और अलवर में सफिया जुबेर को भी जिलाध्यक्ष की दौड़ में माना जा रहा है.

S.N.Acharya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page