राजस्थान सरकार ने युवाओं को दी बड़ी सौगात , CM ने लगाई मुहर

राजस्थान सरकार ने युवाओं को दी बड़ी सौगात , CM ने लगाई मुहर  राजस्थान सरकार ने युवाओं को दी बड़ी सौगात , CM ने लगाई मुहर fdffui

जयपुर. राजस्थान ने कोरोना काल ) में प्रदेश के बेरोजगार अभ्यर्थियों को बड़ी राहत दी है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 31 हजार तृतीय श्रेणी शिक्षकों की भर्ती को मंजूरी प्रदान कर दी है. बुधवार को वित्त विभाग के प्रस्ताव को मुख्यमंत्री ने हरी झंडी दे दी. अब रीट परीक्षा के माध्यम से भर्ती की जाएगी. शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने संकेत दिए हैं कि अब जल्द ही रीट परीक्षा का आयोजन किया जाएगा.

राजस्थान सरकार ने युवाओं को दी बड़ी सौगात , CM ने लगाई मुहर prachina in article 1

बता दें कि मुख्यमंत्री गहलोत ने अपने बजट भाषण में कुल 53 हजार पदों पर भर्ती की घोषणा की थी. इनमें से 41 हजार पद शिक्षा विभाग के हैं. शिक्षा विभाग ने 31 हजार तृतीय श्रेणी शिक्षकों की भर्ती के संबंध में प्रस्ताव वित्त विभाग को भेजा था जिसे मुख्यमंत्री ने मंजूरी दे दी है.

सरकार के खजाने पर 1717.40 करोड़ का प्रतिवर्ष वित्तीय भार
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा वित्त विभाग के प्रस्ताव को मंजूरी देने के बाद इन पदों पर भर्ती से राज्य सरकार पर दो साल तक परिवीक्षा काल में 881.61 करोड़ का भार पड़ेगा. इसके बाद 1717.40 करोड़ रुपये प्रति वर्ष का वित्तीय भार आएगा.

 

बेरोजगार संगठन कर रहे थे मांग
दरअसल बजट भाषण की घोषणा पूरी नहीं होने पर विपक्षी पार्टियां सरकार पर लगातार निशाना साध रही थीं. बीजेपी ने आरोप लगाया था कि मुख्यमंत्री ने सिर्फ घोषणाएं की हैं लेकिन उन पर अमल करते हुए उन्हें धरातल पर नहीं उतारा है. इसके अलावा राज्य के विभिन्न बेरोजगार संगठनों ने शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को ज्ञापन सौंपकर बजट घोषणाओं में की गई भर्तियों को पूरी करने की मांग की थी. गहलोत सरकार ने अब इन भर्तियों को मंजूरी देकर विपक्ष के आरोपों का जवाब दिया है.

COMMENTS