ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं राजस्थान के अस्पताल, पढे पूरी खबर

ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं राजस्थान के अस्पताल, पढे पूरी खबर  ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं राजस्थान के अस्पताल, पढे पूरी खबर rajasthan corona ocsizem

जयपुर. राजस्थान  में तेजी से बढ़ते कोरोना केस के चलते अब अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी खड़ी हो गई है. सरकारी और निजी अस्पतालों में आईसीयू, वेंटीलेटर्स के साथ हाई फ्लो ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही है. ऐसे में मरीज इधर से उधर भटक रहे हैं. ऑक्सीजन की कमी के चलते विशेष रुप से आईसीयू और कोरोना मरीजों की जान पर बन आई है. एसएमएस में हादसा होते-होते टला. एसएमएस अस्पताल के ट्रोमा सेंटर के आईसीयू में भर्ती 26 मरीजों की जान पर उस वक्त बन आई, जब अचानक अस्पताल के आईसीयू में बीते शुक्रवार की शाम करीब साढे चार बजे ऑक्सीजन फेलियर अलार्म बज उठा.

ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं राजस्थान के अस्पताल, पढे पूरी खबर prachina in article 1

ऐसे में अफरा तफरी मच गई और तत्काल वेण्डर को एप्रोच किया गया कि वह कहीं से भी तुरन्त ऑक्सीजन की सप्लाई करे. ऐसे में अस्पताल में कार्यरत ऑक्सीजन इंजीनियर संजीव शर्मा और उनकी टीम ने तत्परता दिखाते हुए ऑक्सीजन पाइप को वातावरण की एयर से जोड़ दिया. ताकि वातावरण में मौजूद 21 प्रतिशत ऑक्सीजन को मरीज को मिल सके और उसकी जान बच सके. करीब 20 मिनट बाद ऑक्सीजन के सिलेण्डर अन्य स्थान से मंगवाकर मरीजों को ऑक्सीजन की सप्लाई दी गई.

रोजाना करीब 10 हजार सिलेण्डर की खपत
पूरे प्रदेश में इस समय कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढने के चलते ऑक्सीजन की डिमाण्ड बढ़ी है. ऐसे में सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति की मांग खडी हो गई है. अकेले राजधानी जयपुर के एसएमएस अस्पताल में ही रोजाना करीब 900 से 1000 सिलेण्डर की डिमाण्ड हो रही है. इसी प्रकार जोधपुर, कोटा, उदयपुर, बीकानेर और अन्य जिलों में भी ऑक्सीजन की डिमाण्ड हो रही है. वेण्डर्स का कहना है कि राजस्थान में ऑक्सीजन की सप्लाई झारखण्ड राज्य में लगे ऑक्सीजन प्लान्ट BOC से भी ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित हुई है.

 

COMMENTS