राजस्थान में बिजली उपभोक्ताओं को राहत , कम आएगा बिजली बिल, जानिए कितनी मिलेगी छूट

6 Min Read

जयपुर. राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार साल 2023 के चुनाव की तैयारी में जुट गई है. सरकार के इस बजट से कर्मचारी वर्ग भी खुश नजर आ रहा है. हर घर में जाने वाली बिजली के बिल में भी सरकार ने इस बजट में बड़ी राहत दी है. राज्य़ सरकार ने 1.18 करोड़ उपभोक्ताओं को बिजली बिल में बड़ी राहत दी है. सरकार की बजट घोषणा के तहत घरेलू उपभोक्ताओं को बिल 175 से 750 रुपए तक छूट (सब्सिडी) मिलेगी. इसमें 300 यूनिट से ज्यादा बिजली उपभोग करने वाले उपभोक्ता भी शामिल हैं, जिन्हें स्लैबवार बिल में छूट दी जाएगी. इससे बीपीएल और छोटे घरेलू श्रेणी के पचास यूनिट तक उपभोग करने वाले उपभोक्ताओं का तो विद्युत शुल्क शून्य हो जाएगा. हालांकि बिल शून्य नहीं होगा. इसमें फिक्स चार्ज, इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी और शहरी सेस जुड़कर आएगा. फिक्स चार्ज 100 से 400 रुपये प्रतिमाह है. नोटिफिकेशन जारी होने के साथ ही यह सब्सिडी प्रभावी हो जाएगी.

समझें आपको विद्युत शुल्क में कितनी मिलेगी छूट

उपभोक्ता श्रेणी                                                             अभी विद्युत शुल्क सब्सिडी                                    अब विद्युत शुल्क

- Advertisement -

1. बीपीएल व आस्था कार्डधारक उपभोक्ता                           (50 यूनिट तक उपभोग)— 175 रुपये— 175 रुपये—        शून्य

2. बीपीएल                                                                        (100 यूनिट तक उपभोग)— 500— 325—                          175

3. स्मॉल घरेलू                                                                         (50 यूनिट तक)— 192.50— 192.50—                         शून्य

4. स्मॉल घरेलू                                                                           (100 यूनिट तक)— 517.50— 342.50—                     175

5. सामान्य घरेलू                                                                         (50 यूनिट तक)— 237.50— 150—                            87.50

6. सामान्य घरेलू                                                                           (150 यूनिट तक)— 887.50— 450—                     437.50

7. सामान्य घरेलू                                                                            (300 यूनिट तक)— 1990— 750—                          1240

8. सामान्य घरेलू                                                                           (500 यूनिट तक)— 3520— 750—                           2770

(इसमें फिक्स चार्ज, इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी, शहरी सेस अलग है. इन पर किसी तरह की सब्सिडी नहीं है. यानि इनका चार्ज तो बिल में जुड़कर आएगा ही, भले ही विद्युत शुल्क शून्य ही क्यों न हो जाए. अरबन सेस : शहरी उपभोक्ता से 15 पैसे प्रति यूनिट देना पड़ेगा. साथ ही इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी: सभी उपभोक्ताओं से 40 पैसे प्रति यूनिट देना होगा और इसमें फिक्स चार्ज अलग देना होगा.) ​

Share This Article