निर्धारित समय पर पूर्ण गुणवत्ता के साथ हों सड़क निर्माण कार्य , जिला कलेक्टर ने की समीक्षा

2 Min Read

बीकानेर। जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने कहा कि शहरी क्षेत्र में सड़कों के पेचवर्क और रखरखाव के कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता से हों। इन कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए।
जिला कलक्टर मंगलवार को सार्वजनिक निर्माण विभाग, राजस्थान स्टेट रोड डवलपमेंट कारपोरेशन, एनएच, एनएचएआई और आरयूआईडीपी से संबंधित कार्यों की प्रगति समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों में क्षतिग्रस्त सड़कों के सुदृढ़ीकरण और दुरूस्तीकरण कार्य अतिशीघ्र पूर्ण कर लिए जाएं। विभागीय अधिकारी इनकी नियमित मॉनिटरिंग करें। सड़क निर्माण कार्यों में कार्यस्थल पर संबंधित अधिकारी तथा कार्य एजेंसी का नाम एवं मोबाइल नंबर के साथ इसकी वैधता की अवधि अंकित की जाए।
जिला कलक्टर ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में सड़क निर्माण के दौरान स्लैब और बरसाती जल निकासी व्यवस्था का विशेष ध्यान रखा जाए। किसी भी स्थिति में पानी के ठहराव से सड़क क्षतिग्रस्त नहीं हो। वर्क साइट पर तकनीकी विशेषज्ञ मौजूद रहंे, यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने क्वालिटी कंट्रोल के अधीक्षण अभियंता को निर्देश दिए कि निर्धारित नॉर्म्स के अनुसार जांच के नमूने लिए जाएं तथा कार्यों पर नियमित नजर बनाए रखें। गुणवत्ता के साथ किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाए।

इस दौरान जिला कलक्टर ने बजट घोषणाओं और मुख्यमंत्री द्वारा समय-समय पर की गई घोषणाओं के साथ जिले में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की। शहरी क्षेत्र में सड़क दुरूस्तीकरण के दौरान सीवरेज के मेन हॉल कवर नहीं किए जाएं, इसका विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मुख्य सड़कों पर यदि किसी व्यक्ति द्वारा अतिक्रमण किया हुआ है तो संबंधित विभाग द्वारा इसकी पूर्ण तथ्यात्मक रिपोर्ट उपलब्ध करवाई जाए।
इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर (नगर) अरुण प्रकाश शर्मा, अधिशाषी अभियंता सुनील गहलोत, संजय चौधरी, वियज शर्मा, जेपी अरोड़ा, आरयूआईडीपी के अनुराग शर्मा सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद रहे।

Share This Article