बीकानेर

सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित, जिला कलेक्टर ने यह निर्देश दिए

बीकानेर। जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने कहा कि जिले में सड़क दुर्घटनाओं पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए सभी संबंधित एजेंसियां समन्वित प्रयास करते हुए स्पष्ट रूप से नजर आने वाली कमियों को प्राथमिकता से दूर करें। सड़क सुरक्षा समिति की सोमवार को आयोजित हुई बैठक में
जिला कलक्टर ने यह निर्देश दिए।
जिला कलक्टर ने कहा कि जिले से होकर गुजरने वाले समस्त राष्ट्रीय राजमार्ग और राज्य राजमार्ग पर सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दिए गए निर्देशों अनुपालना रिपोर्ट लिखित में प्रस्तुत करें। जिला कलक्टर ने गत बैठक में निर्धारित किए गए लक्ष्यों की टाइमलाइन के अनुसार समुचित अनुपालना नहीं करने पर अधीक्षण अभियंता (एनएच पीडब्ल्यूडी) को कारण बताओ नोटिस जारी करने को कहा।
जिला कलक्टर भगवती प्रसाद ने कहा कि वाहनों के पीछे रिफ्लेक्टर लाइट, हेलमेट नहीं लगाने, वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात करने, सीट बेल्ट आदि की जांच करने के लिए परिवहन विभाग सघन अभियान चलाकर औचक निरीक्षण करते हुए प्रभावी कार्रवाई करें।
जिला कलक्टर ने कहा कि रोड सेफ्टी ऑडिट के तहत इंजीनियरिंग मॉडिफिकेशन के लिए विभाग को डीपीआर बनाकर रिपोर्ट भेजें, जिससे तकनीकी कमियां ठीक करवाई जा सकें।
जिला कलक्टर ने कहा कि पुलिस, परिवहन और पशु चिकित्सा विभाग राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित गांवों में समस्त पशुओं के सींगों पर रिफ्लेक्टर टेप लगवाना सुनिश्चित किया करें। उन्होंने कहा कि राजमार्गों के साइड पर पड़े मलबे को हटाने के संबंध में पुलिस से रिपोर्ट लेकर क्रॉस वेरीफाई करवाया जाएगा।
जागरूकता गतिविधियां हों आयोजित
जिला कलेक्टर ने कहा कि सड़क सुरक्षा के लिए आमजन में जागरूकता के लिए स्कूलों में प्रार्थना सभा सहित विभिन्न अवसरों पर जागरूकता गतिविधियां आयोजित की जाए। साथ ही टोल नाकों पर जागरूकता फिल्म आदि के माध्यम से भी नियमों के बारे में जानकारी दें।
जिला कलक्टर ने अवैध कट बंद करने, स्पीड कामिंग जोन (speed calming zone), ब्लैक स्पाॅट्स, राजमार्गों पर घुमाव में केट आईज और राजमार्गों पर साइनेज लगवाने आदि की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि ढाबों के समानांतर सड़क के किनारे रैलिंग एवं रिफ्लेक्टर टेप लगवाएं। साथ ही यदि कोई निजी व्यक्ति बंद किए कट को खोलते हैं, तो उनके विरुद्ध एफआईआर दर्ज करवाई जाए। बैठक में अधीक्षण अभियंता पीडब्ल्यूडी मुकेश गुप्ता, अतिरिक्त क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी जुगल माथुर, सीएमएचओ डॉ अबरार सहित संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

What's your reaction?