इसी महीने भारत में शुरू होगा रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-5 का ट्रायल

इसी महीने भारत में शुरू होगा रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-5 का ट्रायल  इसी महीने भारत में शुरू होगा रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-5 का ट्रायल

मॉस्को. रूस की कोरोना वायरस वैक्सीन स्पूतनिक-5 के अंतिम फेज का क्लिनिकल ट्रायल इस महीने से भारत में शुरू होगा. वैक्सीन बनाने के लिए फंड मुहैया कराने वाली एजेंसी रशियन डॉयरेक्ट इनवेस्ट फंड  के सीईओ किरिल दिमित्रिज ने कहा कि इस वैक्सीन का क्लिनिकल ट्रायल भारत समेत यूएई, सऊदी अरब, फिलीपींस और ब्राजील में इस महीने से शुरू हो जाएगा.

इसी महीने भारत में शुरू होगा रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-5 का ट्रायल prachina in article 1

मिली जानकारी के मुताबिक रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-5 का क्लीनिकल ट्रायल 40 हजार लोगों पर हुआ है. दिमित्रीएव ने बताया कि अमेरिका में 30 हजार लोगों पर एस्ट्राजेनेका वैक्सीन का तीसरे चरण का ट्रायल शुरू होने से पहले ही रूस में 26 अगस्त को पंजीकरण के बाद के अध्ययन 40 हजार लोगों पर शुरू हो गए थे. किरिल दिमित्रीएव ने कहा कि सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), फिलीपींस, भारत और ब्राजील में क्लीनिकल ट्रायल इस महीने प्रारंभ होंगे. तीसरे चरण के ट्रायल के प्रारंभिक परिणाम अक्टूबर-नवंबर, 2020 में प्रकाशित किए जाएंगे.

रूस में इसी हफ्ते से मिलेगी
रूस के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा है कि इस हफ्ते से कोरोना वायरस वैक्सीन स्पूतनिक-5 को आम नागरिकों के लिए जारी कर दिया जाएगा. इस वैक्सीन को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 11 अगस्त को लॉन्च किया था. इस वैक्सीन को मॉस्‍को के गामलेया रिसर्च इंस्टिट्यूट ने रूसी रक्षा मंत्रालय के साथ मिलकर एडेनोवायरस को बेस बनाकर तैयार किया है. दिमित्रीएव ने कहा कि भारत ऐतिहासिक रूप से रूस का अहम साझीदार रहा है. दुनियाभर की 60 फीसद वैक्सीन का उत्पादन भारत में ही होता है.
रूस भारतीय साझीदारों की बेहद संतुलित सोच का स्वागत करता है जिनका शुरुआत से ही सवाल था कि वैक्सीन कैसे काम करती है. उन्होंने वैक्सीन को निशाना बनाने के बजाय इसे समझने की कोशिश की. आरडीआइएफ के मुताबिक, ‘क्लीनिकल ट्रायल के सौ फीसद प्रतिभागियों में स्पूतनिक-5 ने स्थायी ह्यूमोरल और सेल्युलर प्रतिरक्षा तंत्र उत्पन्न किया. जिन स्वयंसेवकों को स्पुतनिक-5 वैक्सीन दी गई, उनमें वायरस को निष्क्रिय करने वाले एंटीबॉडीज उन मरीजों से 1.4 से 1.5 गुना ज्यादा मिले जो कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं.

COMMENTS