fbpx

पहला सोमवार, मान्यताएं और व्रत में खाने से जुड़ी जरूरी बातें

पहला सोमवार, मान्यताएं और व्रत में खाने से जुड़ी जरूरी बातें  पहला सोमवार, मान्यताएं और व्रत में खाने से जुड़ी जरूरी बातें lord shiva 625x400 41440593728 1

अगर आप भी सोच रहे हैं कि 2019 में सावन कब है या साल 2019 में सावन कब से शुरू हो रहा है, तो आपको बता दें कि इस साल 17 जुलाई से सावन का महीना शुरू हो रहा है. सावन का पहला सोमवार 22 जुलाई को और सावन का अंतिम दिन 15 अगस्त को होगा.

सावन (Sawan 2019) का महीना शुरू हो गया है. बस लोगों को इतजार है तो मानसून के आने का. दिल्ली में जहां बादल हल्के बरस कर लोगों को तरसा रहे हैं. सावन में शिव भक्त आराधना में डूब जाते हैं. जैसे ही हल्की बरसात होती है, लोग सावन के पहले सोमवार के बारे में जानकारी लताशने लगते हैं. अगर आप भी सोच रहे हैं कि 2019 में सावन कब है या साल 2019 में सावन कब से शुरू हो रहा है, तो आपको बता दें कि इस साल 17 जुलाई से सावन का महीना शुरू हो रहा है. सावन 2019 में भी शिव भक्त अपने देवता की अराधना में जुटेंगे. सावन के इसी महीने में शिवरात्रि (Shivratri) भी आती है. सावन का महीना 2019 में अपने पूरे जोर पर होगा. सावन 2019 में लोग शिव-पार्वती की पूजा-अर्चना में खुद को रमाएंगे. इस महीने में सोमवार को व्रत रखने का प्रावधान है. सावन के मौसम में पड़ने वाले चार सोमवार पर शिवभक्त व्रत रखते हैं. सावन में सोमवार का व्रत रखने से जुड़ी बहुत सी मान्यताएं हैं, लोगों का मानना है कि श्रावण सोमवार के व्रत रखने से अच्छा और मनचाहा जीवनसाथी मिलता है. सावन के दौरान रखे जाने वाले इन व्रतों को सावन के चार सोमवार व्रत के तौर पर जाना जाता है.



कब से शुरू होगा सावन 2019, पहला सोमवार का व्रत और सावन कब होगा समाप्त

– सावन का महीना 2019 में 17 जुलाई से शुरू हो रहा है. इसके साथ ही व्रत और त्योहारों की शुरुआत भी हो जाएगी.
– सावन का पहला सोमवार 22 जुलाई को होगा. इस दिन शिवभक्त चार सोमवार के व्रत की शुरुआत करते हैं.
– सावन 2019 में भी हर साल की तरह ही भगवान शिव का रुद्राभिषेक किया जाएगा. मान्यता है कि रुद्राभिषेक करने से भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं.
– सावन का अंतिम दिन 15 अगस्त को होगा.
– सावन के अंतिम दिन ही स्वतंत्रतता दिवस और रक्षाबंधन 2019 भी मनाया जाएगा.

सावन 2019 के संयोग और तिथियां

साल 2019 में पड़ने वाले सावन में हिंदू मान्यताओं के अुनसार सावन 2019 में कई शुभ संयोग बन रहे हैं. इस बार सावन के पहले सोमवार को ही श्रावण कृष्ण पंचमी है. वहीं दूसरे सावन में त्रयोदशी प्रदोष व्रत के साथ ही सर्वार्थ अमृत सिद्धि योग भी है. सावन 2019 में तीसरे सावन में नागपंचमी के शुभयोग हैं, जो कि बहुत ही भाग्यशाली माने जाते हैं. वहीं सावन 2019 के अंतिम सोमवार को त्रयोदशी तिथि का शुभ संयोग है.

सावन में सोमवार का व्रत रखें, तो बरतें ये सवाधानियां

सावन में सोमवार का व्रत रखने से जुड़ी बहुत सी मान्यताएं हैं, लोगों का मानना है कि श्रावण सोमवार के व्रत रखने से अच्छा और मनचाहा जीवनसाथी मिलता है. सावन के दौरान रखे जाने वाले इन व्रतों को सावन के चार सोमवार व्रत के तौर पर जाना जाता है. इस सावन का पहला सोमवार 17 जुलाई को होगा. सोमवार के व्रत खास तौर पर कुवांरी कन्याओं के लिए होता है, क्योंकि इसे रखने से मनचाहा वर मिलने की मान्यता है. व्रत रखने का मतलब है पूरे दिन अन्न न लेना. ऐसे मे सेहत से जुड़ी कई परेशानियां हो सकती है. अचानक से अपने रोजमर्रा के आहार में बदलाव करना और कम आहार लेना आपकी सेहत के लिए कई मायनों में खतरनाक हो सकता है. ऐसे में व्रत के दौरान अपनी सेहत से जुड़ी सवाधानियां बरतना भी जरूरी है, तो चलिए हम आपको बताते हैं कि कैसे आप भक्ति और सेहत का संतुलन बना सकते हैं




चार सोमवार के व्रत रखते हुए डाइट टिप्स

व्रत के दौरान कुछ लोग एक समय का खाना खाते हैं, तो कई लोग पूरा दिन फलहाल पर ही हैं. इस दौरान ख्याल रखा जाना चाहिए कि कम खाना या भूखा रहना आपके स्वास्थ्य को किसी तरह से हानि न पहुंचाए. व्रत रखते समय कई बातों का ध्यान रखने की जरूरत है जैसे-
– इस बात का ध्यान रखें कि हर दिन आपके शरीर को जरूरी मात्रा में पोषक तत्व मिलें.
– खाली पेट न रहें और ज़्यादा से ज़्यादा तरह पदार्थ लेते रहें. ऐसा करने से शरीर में ऊर्जा बनी रहेगी और साथ ही डिहाइड्रेशन से भी बचे रहेंगे.

व्रत में क्या न खाएं

– पुराना बचा कूट्टू या सिंघाड़े का आटा इस्तेमाल न करें. यह कुछ समय बात खराब हो जाता है. ऐसे में इसे खाने से डायरिया होने का खतरा बढ़ जाता है.
– बर्फी, लड्डू और फ्राइड आलू जैसी तली और अत्यधिक चीनी वाली चीजों को खाने से बचें.
– अगर आप ज्यादा तला-भुना, मीठा या बिना नमक का खाना ले रहे हैं तो यह आपको ब्लडप्रेशर से जुड़ी समस्या दे सकता है.
– तला-भुना खाना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है. यह वजन बढ़ाने का काम कर सकता है या शुगर को भी प्रभावित कर सकता है.
– इस मौसम में तला-भुना खाने से बचें. बारिश के मौसम में यह संक्रमण या अपच की समस्या पैदा कर सकती है.
– खाली पेट रहने से एसिडिटी हो सकती है, ऐसे में ठंडा दूध लें और थोड़ी-थोड़ी देर में कुछ खाते रहें.
– अगर आपको डायबिटीज की शिकायत है, तो इस बात का खास ध्यान रखें कि आप ज्यादा देर तक खाली पेट न रहें. कुछ न कुछ खाते रहें और भरपूर पानी पिएं.




 

व्रत में क्या खाएं

– व्रत के दौरान क्योंकि आप अनाज नहीं खाते इसलिए जरूरी है कि आप संतुलित भोजन लें.
– अगर आप सिर्फ फ्रूट्स खाते हैं और पानी कम पीते हैं तो कब्ज या शारीरिक कमजोरी महसूस हो सकती है.
– कुट्टू के आटे की रोटी या इडली भी आपके स्वाद और सेहत के लिए अच्छी साबित होगी.
– व्रत में खाए जाने वाले सामक के चावल आप पका सकते हैं अगर थोड़ा स्वाद भी पाना चाहते हैं तो इससे बना डोसा खा सकते हैं.
– लौकी, कद्दू या खीरे का रायता आपके खाने में एड ऑन होगा.
– आप खुद को एनर्जी देने के लिए लस्सी, मिल्करशेक, जूस वगैरह ले सकते हैं.
– जब भूख ज्यादा लगी हो तो ड्राई फ्रूट खा लें.

 

Humare Shivalya




COMMENTS

WORDPRESS: 0