देखिये क्या ख़ास है आज के शपथ ग्रहण समारोह में

देखिये क्या ख़ास है आज के शपथ ग्रहण समारोह में  देखिये क्या ख़ास है आज के शपथ ग्रहण समारोह में test

मुंबई. महाराष्ट्र में गुरुवार से ठाकरे राज शुरू हो रहा है। उद्धव ठाकरे आज राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में मुंबई के शिवाजी पार्क में शाम 6.40 बजे शपथ लेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समारोह में शामिल नहीं होंगी। उन्होंने उद्धव को पत्र लिखा- शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस ऐसे वक्त में साथ आईं, जब देश भाजपा से पैदा हुए खतरों का सामना कर रहा है। उद्धव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन करके कार्यक्रम में आने का न्योता दिया। इससे पहले उन्होंने प्रधानमंत्री को आमंत्रण पत्र भी भेजा था।

अजित पवार मंत्री पद की शपथ नहीं लेंगे। शरद पवार के करीबी छगन भुजबल और जयंत पाटिल को मंत्री पद की शपथ दिलवाई जा सकती है। कांग्रेस ने बालासाहेब थोराट का नाम मंत्री पद के लिए भेजा है। अशोक चह्वाण और पृथ्वीराज चह्वाण में से किसी को एक स्पीकर बनाया जा सकता है। कांग्रेस ने फैसला किया है कि जो पहले राज्य में मुख्यमंत्री रह चुके हैं, वे मंत्री पद की शपथ नहीं लेंगे।

शपथ समारोह के बाद उद्धव ठाकरे रात 8 बजे सहयाद्री गेस्ट हाउस में पहली कैबिनेट बैठक करेंगे। बताया जा रहा है कि उद्धव बतौर मुख्यमंत्री पहला फैसला किसानों की कर्जमाफी का ले सकते हैं। इसके साथ ही फसलों की बीमा योजना के रिव्यू का निर्णय भी लिया जा सकता है। गठबंधन की प्रेसवार्ता में शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे ने कहा- सरकार संकट से जूझ रहे किसानों के हक में फैसला लेगी। नाहर रिफाइनरी और बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर कैबिनेट मीटिंग में चर्चा होगी। हम ऐसा कानून बनाएंगे, जिससे राज्य में आने वाली नई कंपनियों में 80% रोजगार के मौके महाराष्ट्र के मूल निवासियों के लिए आरक्षित हों।

तीनों पार्टियों के 2-2 मंत्री भी शपथ लेंगे

उद्धव के साथ महाराष्ट्र विकास अघाड़ी यानी शिवसेना, कांग्रेस-राकांपा के दो-दो मंत्री भी शपथ ले सकते हैं। तीनों दलों की बुधवार शाम हुई बैठक के बाद मंत्रालय के बंटवारे को लेकर अंतिम सहमति बन गई है। बुधवार को राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि 3 दिसंबर से पहले विश्वासमत हासिल करना जरूरी है और मंत्रिमंडल का बाकी विस्तार इसके बाद ही किया जाएगा।

पटेल ने यह भी कहा कि महाराष्ट्र में एक ही डिप्टी सीएम होगा। हालांकि, अजित पवार के सवाल पर वे कुछ नहीं बोले। इसलिए माना जा रहा है कि अजित को पार्टी ने हाशिये पर रख दिया है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, जयंत पाटिल अगले उपमुख्यमंत्री बन सकते हैं। पटेल के मुताबिक, कांग्रेस को स्पीकर का पद दिया गया है। विधानसभा में एक डिप्टी स्पीकर भी होगा, ये पद राकांपा के पास गया है।

आदित्य ठाकरे ने सोनिया, मनमोहन को बुलाने दिल्ली गए 
बुधवार देर रात आदित्य ठाकरे सोनिया गांधी को शपथ ग्रहण समारोह का न्योता देने उनके निवास 10 जनपथ पहुंचे। आदित्य ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को भी समारोह में आने का न्योता दिया। इनके अलावा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, द्रमुक अध्यक्ष एमके स्टालिन, मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत, सपा प्रमुख अखिलेश यादव, जेडीएस प्रमुख एचडी देवेगौड़ा और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को न्योता दिया गया है। महाराष्ट्र में आत्महत्या करने वाले 400 किसानों के परिजन को भी समारोह में बुलाया गया है।

70 हजार कुर्सियां लगाईं गई 
उद्धव ठाकरे के शपथग्रहण को भव्य बनाने के लिए पूरी रात तैयारियां हुईं। बीएमसी, पीडब्लूडी और पुलिस के आलाधिकारी यहां लगातार मौजूद रहे। शिवाजी पार्क में करीब 70 हजार से अधिक कुर्सियां लगाई गई हैं, वहीं एक बड़े मंच पर विशेष मेहमानों के लिए सौ से अधिक कुर्सियां लगाई गईं।

इसलिए शिवाजी पार्क में शपथ ले रहे हैं उद्धव
ठाकरे परिवार के लिए मुंबई का शिवाजी पार्क हमेशा से खास रहा है। यही वो मैदान है, जहां से हाल में शिवसेना की दशहरा रैली में पार्टी नेता संजय राउत ने ऐलान किया था कि महाराष्ट्र का अगला मुख्यमंत्री शिवसेना से होगा। यहीं बाला साहब का अंतिम संस्कार हुआ। शपथ ग्रहण समारोह के लिए जहां मंच बनाया जा रहा है, उसके पीछे छत्रपति शिवाजी महाराज की बड़ी प्रतिमा है। साथ ही बाल ठाकरे का स्मारक बना हुआ है। यहीं पास स्थित गेट से उद्धव ठाकरे और शपथ ग्रहण समारोह में आने वाले अन्य वीवीआईपी एंट्री लेंगे।

COMMENTS

WORDPRESS: 0