राजस्थान सहित देश के इन 7 राज्यों में कब से खुल रहे हैं स्कूल, पढ़ें डिटेल

 राजस्थान सहित देश के इन 7 राज्यों में कब से खुल रहे हैं स्कूल, पढ़ें डिटेल

कोरोना संक्रमण में गिरावट और तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच छात्र और अभिभावक स्कूल खुलने को लेकर परेशान हैं. कई राज्यों में स्कूल खोलने को लेकर प्रयास चल रहे हैं. कई में खुल चुके हैं.

यहां पढ़ें डिटेल.

1- उत्तर प्रदेश
1 जुलाई से उत्तर प्रदेश के 1.5 लाख सरकारी प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों (UP Government Schools) को सिर्फ शिक्षकों के लिए खोला गया है. हालांकि अभी छात्र स्कूल नहीं आएंगे, सिर्फ शिक्षकों को ही स्कूल आने की अनुमति है. उन्हें कोविड प्रोटोकॉल के तहत स्कूल आना है. स्कूलों में मास्क और सैनेटाइजर का इंतजाम जरूरी होगा. इस दौरान शिक्षक छह से 11 साल के बच्चों का दाखिला भी करवाएंगे. स्कूलों में पठन-पाठन के अलावा कार्यालय संबंधी सभी काम को पूरा करना होगा.

2- हरियाणा 
हरियाणा सरकार ने घोषणा की कि 9वीं से 12वीं तक की कक्षाओं के लिए स्कूल 16 जुलाई से फिर से खुल जाएंगे और छात्रों को उनके माता-पिता की अनुमति से कक्षाओं में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी. एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि इसके अलावा कक्षा छह से आठ तक के विद्यार्थी भी 23 जुलाई से स्कूल में आ सकेंगे. उन्होंने हालांकि कहा कि छात्रों के लिए स्कूल आना अनिवार्य नहीं होगा क्योंकि ऑनलाइन कक्षाएं जारी रहेंगी. प्रवक्ता ने कहा कि स्कूल आने वाले विद्यार्थियों के लिए सामाजिक दूरी और अन्य नियम लागू होंगे. पांचवीं कक्षा तक के लिए स्कूल खोलने पर अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है.

3- पुडुचेरी 
कोविड-19 महामारी के कारण महीनों से बंद स्कूल व कॉलेज पुडुचेरी में 16 जुलाई से फिर से खुलेंगे. मुख्यमंत्री एन रंगासामी ने रविवार को बताया, “16 जुलाई से कॉलेज खुलेंगे. स्कूल भी आंशिक रूप से खुलेंगे और उस दिन केवल कक्षा नौवीं से बारहवीं की कक्षाएं ही होंगी.” वह उपराज्यपाल तमिलसाई सौंदरराजन को हाल में मंत्रिमंडल में शामिल किए गए मंत्रियों को विभाग आवंटन की सूची देने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में अब स्थिति में सुधार होने के मद्देनजर सरकार ने यह फैसला लिया है. पुडुचेरी में रविवार को कोविड-19 के कारण किसी भी संक्रमित की मौत नहीं हुई. वहीं संक्रमण के 145 नए मामले मिले.

4- महाराष्ट्र 
महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के उन क्षेत्रों में स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला किया है जो वर्तमान में कोविड -19 मामलों से मुक्त हैं. सरकार के अनुसार, इन कोविड-मुक्त क्षेत्रों में स्कूल अगले सप्ताह से ऑफ़लाइन कक्षाओं के लिए फिर से खुलेंगे. महाराष्ट्र की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा कि फिजिकल कक्षाओं के लिए महाराष्ट्र में स्कूल 12 जुलाई से कोविड मुक्त क्षेत्रों में खुलेंगे. स्कूल केवल उच्च कक्षाओं यानी कक्षा 8 से 12 तक के छात्रों के लिए फिर से खुलेंगे. चूंकि पिछले 1.5 वर्षों से स्कूल बंद हैं, इसलिए सभी शैक्षणिक गतिविधियां और कक्षाएं ऑनलाइन संचालित की जा रही हैं. वित्तीय मुद्दों के कारण सभी छात्रों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं उपलब्ध नहीं हैं और इसलिए, कई लोग फिजिकल कक्षाओं को फिर से शुरू करने की उम्मीद कर रहे हैं.

5- राजस्थान 
राजस्थान में 15 जुलाई से कक्षा 9वीं से 12वीं तक के स्कूल खोले जा सकते हैं. पिछले दिनों हुई मंत्री परिषद की बैठक में शिक्षा विभाग ने कक्षा 9 से 12वीं तक के स्कूल को 15 जुलाई 2021 से खोलने का प्रस्ताव दिया था. बच्चों का टीकाकरण नहीं होने और कोरोना की तीसरी लहर के खतरे के कारण गृह विभाग ने शिक्षा विभाग के प्रस्ताव को मना कर दिया था. अभी राजस्थान में स्कूल और कॉलेजों को खोलने को लेकर कोई फैसला नहीं किया गया हैं.

6- बिहार 
12 जुलाई से सभी शैक्षणिक संस्थान खुल जाएंगे. इस दौरान राज्‍य के ग्यारहवीं-बारहवीं के सभी स्कूल ( School), सभी डिग्री कालेज (college), सभी सरकारी व निजी विश्वविद्यालय और तकनीकी शिक्षण संस्थान कुल छात्र संख्या की 50 फीसदी उपस्थिति के साथ खोले जा सकेंगे. हालांकि सरकार ने स्कूल-कॉलेजों को कोरोना गाइडलाइन (Corona Guidelines) का पालन करने की सख्‍त हिदायत दी है. वैक्सीनेशन करा चुके शिक्षकों और कर्मचारियों को ही प्रवेश की अनुमति मिलेगी.

7- दिल्ली  
दिल्ली के शिक्षा निदेशालय ने नर्सरी से 12वीं तक की कक्षाओं में सेमी ऑनलाइन और ऑनलाइन शैक्षणिक गतिविधियां शुरू करने का फैसला लिया है. शिक्षा निदेशालय ने शैक्षणिक गतिविधियां शुरू करने से पहले छात्रों की भावनात्मक और मानसिक मजबूती के लिए एक कार्य योजना भी तैयार की है. कोरोना महामारी की स्थिति सामान्य होने तक स्कूल बंद ही रहेंगे. लेकिन ऑनलाइन और सेमी ऑनलाइन मीडियम से शिक्षकों और छात्रों के बीच जुड़ाव को लेकर कार्य जल्दी शुरू किया जाएगा.

-पहला चरण 28 जून से शुरू होगा. इस दौरान शिक्षक और स्कूल प्रमुख छात्रों व उनके अभिभावकों से संपर्क करेंगे. संपर्क सूची अपडेट करेंगे. वॉट्सएप ग्रुप बनाएंगे और स्मार्ट फोन या बिना फोन वाले छात्रों की सूची तैयार करेंगे.
-दूसरा चरण पांच जुलाई से शुरू होगा. जिसमें शिक्षक छात्रों से उनकी वर्तमान स्थिति समझकर भावनात्मक और मानसिक मदद देंगे.
-तीसरा और आखिरी चरण अगस्त में शुरू होगा. इस दौरान लर्निंग गैप को खत्म करने के लिए कक्षाएं आधारित गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा. जबकि नर्सरी से आठवीं कक्षा को सामान्य और विषय आधारित वर्कशीट दी जाएगी.

S.N.Acharya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page