राज्य सरकार का बड़ा फैसला : पांचवीं तक के बच्चों की नहीं होगी परीक्षाएं

राज्य सरकार का बड़ा फैसला : पांचवीं तक के बच्चों की नहीं होगी परीक्षाएं  राज्य सरकार का बड़ा फैसला : पांचवीं तक के बच्चों की नहीं होगी परीक्षाएं jdhm

राज्य सरकार का बड़ा फैसला : पांचवीं तक के बच्चों की नहीं होगी परीक्षाएं mr bika fb post

जयपुर। बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए सरकार ने एक से पांचवीं तक के बच्चों की परीक्षाएं नहीं कराने का फैसला लिया है। इन बच्चों को अगली कक्षा में एक अप्रैल से प्रमोट किया जाएगा। वहीं, कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों को नए सत्र के शुरूआती दिनों में बैक टू स्कूल कार्यक्रम के तहत उपचारात्मक शिक्षण कराया जाएगा। यानी नए सत्र में करीब डेढ़ महीने तक बच्चे पुरानी कक्षाओं की पढ़ाई करेंगे। वहीं, एक महीने देरी से एक मई से नई कक्षाओं में प्रवेश प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

राज्य सरकार का बड़ा फैसला : पांचवीं तक के बच्चों की नहीं होगी परीक्षाएं prachina in article 1

शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने इसकी घोषणा की। इसके बाद विभाग ने इसके आदेश जारी कर दिए। आदेशों के मुताबिक कोविड-19 के कारण कक्षा 1-5 तक के स्कूल लॉकडाउन के बाद से ही बंद है। ऐसे में सरकार ने अभी इन स्कूलों को खोलने की निर्णय नहीं लिया है। इसके चलते कक्षा एक से पांच तक के विद्यार्थियों को स्‍माईल-1, स्‍माईल-2 और आओ घर से सीखें कार्यक्रम के तहत किए गए आंकलन के आधार पर अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा। इसके अलावा कक्षा 6 और 7 की परीक्षा 15-22 अप्रैल तक विद्यालय स्‍तर पर होंगी।

कक्षा 9 और 11 की परीक्षा 6 से 22 अप्रैल तक जिला स्तर पर आयोजित की जाएगी। परीक्षाओं का परिणाम 30 अप्रैल को जारी होगा। आगामी सत्र की पढ़ाई एक मई से शुरू की जाएगी। 8 वीं की बोर्ड परीक्षा के लिए पंजीयक शिक्षा विभागीय परीक्षाएं बीकानेर की ओर से अलग से गाइड लाइन जारी की जाएगी।

 

COMMENTS