fbpx

अवैध खनन व ओवरलोड वाहनों पर सख्ता व प्रभावी कार्यवाही हो-गौतम

अवैध खनन व ओवरलोड वाहनों पर सख्ता व प्रभावी कार्यवाही हो-गौतम bikaner news अवैध खनन व ओवरलोड वाहनों पर सख्ता व प्रभावी कार्यवाही हो-गौतम IMG 20200121 WA0009

जिला कलक्टर कुमार गौतम ने सभी राजस्व अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए कि जिप्सम और बजरी का अवैध खनन किसी भी स्थिति में नहीं होना चाहिए।  साथ ही ओवरलोडेड वाहनों के विरूद्ध भी सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने उपखंड अधिकारी बज्जू अभिषेक सुराना को निर्देश दिए कि वह बज्जू क्षेत्र में नियमित रूप से भ्रमण कर, अवैध खनन और ओवरलोड वाहनों के विरूद्ध सख्त और प्रभावी कार्रवाई करें । अभियान चलाकर जिप्सम के अवैध कारोबार पर अंकुश लगाए इसके लिए परिवहन विभाग, पुलिस व ख्.ानन विभाग के अधिकारियों की एक टीम बनाकर लगातार कार्रवाई करें।
गौतम मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिले के सभी उपखंड अधिकारी व तहसीलदार सहित विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि जिप्सम के अवैध खनन से राजस्व की हानि हो रही है और ओवरलोड परिवहन के कारण सड़कों की स्थिति भी खराब होती है। ऐसे में राजस्व की हानि के साथ साथ सड़कों की टूट-फूट होने से दोहरा नुकसान हो रहा है । इस पर तत्काल सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाए। उपखंड अधिकारी सुराणा प्रतिदिन होने वाली कार्यवाही से जिला मुख्यालय पर भी अवगत करवाएंगे और अगर जरूरत पड़ी तो पुलिस के साथ-साथ आरएसी के जवान भी बज्जू क्षेत्र के लिए उपलब्ध करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि किसी भी स्थिति में बर्दाश्त नहीं होगा कि जिले में कहीं भी जिप्सम का अवैध खनन हो।
गौतम ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में पानी-बिजली, चिकित्सा और शिक्षा जैसी मूलभूत सुविधाएं सभी को मिलती रहे। प्रशासनिक स्तर पर खामी के चलते ग्रामीण इन सुविधाओं से वंचित न रहे, इसके लिए नियमित रूप से भ्रमण करते रहे तथा कार्यालय में जनसुनवाई करें और रात्रि चैपाल के समय आम लोगों की समस्याएं सुनते हुए इन सब बातों की सुनिश्चित करें कि ग्रामीण क्षेत्र में निर्बाध रूप से ये सुविधाए मिल रही है
उन्होंने कहा कि विद्युत विभाग यह सुनिश्चित करें कि सौभाग्य योजना में जो विद्युत कनेक्शन होने हैं, उन सब के कनेक्शन जल्द से जल्द कर दिए जाएं। विद्युत कनेक्शन करने के लिए अगर आवश्यक सामान की कमी हो, तो संबंधित उपखंड क्षेत्र के एक्सइएन की यह जिम्मेदारी बनती है कि वह सामान प्राप्त करने के लिए जिला मुख्यालय पर लिखें अन्यथा संबंधित उपखंड अधिकारी को बताएं कि कनेक्शन करने के लिए यह परेशानी आ रही है कि ट्रांसफार्मर, खंबे अथवा तारा नहीं दिए है। इस संबंध में उपखंड अधिकारी अपने स्तर पर उच्च अधिकारियों से बातचीत करें और ताकि विद्युत सामान की उपयोगिता सुनिश्चित हो सके । उन्होंने सभी उपखंड अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे समय-समय पर अपने क्षेत्र में जो 132 केवीजीएसएस हैं उनका निरीक्षण भी करें । विद्युत चोरी रोकने के लिए कार्यवाही करें।  अगर किसी स्थान पर ऐसा लगता है कि बिजली की चोरी अधिक हो रही है तो वहां पुलिस बल के साथ विद्युत विभाग के अधिकारी जाकर कार्रवाई करें । विशेषकर बज्जू क्षेत्र में बिजली के बिजली की चोरी अधिक हो रही है।  उपखंड अधिकारी विद्युत वितरण निगम के अभियंताओं और पुलिस के अधिकारियों के साथ उन क्षेत्रों का सघन निरीक्षण कर चोरी रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाएं।
जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने कहा कि भारतमाला परियोजना के तहत काम जल्द से जल्द शुरू किया जा सके इसके लिए मुआवजा वितरण सभी स्थानों पर चालू हो जाए। नोखा, बीकानेर, लूणकरणसर उपखंड अधिकारी इस कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता पर रखें । इस प्रोजेक्ट की उच्च स्तर पर नियमित मॉनिटरिंग हो रही है। अतः इस कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता पर रखते हुए कम से कम उतना आवंटन कर दिया जाए ताकि काम चालू करवाया जा सके।
गौतम ने कहा कि किसानों की बात सुने और उनकी कोई समस्या हो तो समाधान के प्रयास करें, लेकिन यदि जानबूझकर कोई काम नहीं होने देता पाया जाए तो संबंधित के विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई करें।
गौतम ने कहा कि  लेफ्ट आउट फ्रॉम बेसलाइन के तहत जो शौचालय आज तक नहीं बने हैं उन्हें जल्द से जल्द पूरा करवाया जाए। साथ ही नो मैन लेफ्ट बिहाइंड के तहत वंचित पात्र लोगों के लिए शौचालय स्वीकृत करवाते हुए 15 फरवरी तक करते हुए काम पूरा करवाया जाए।
सभी उपखंड अधिकारी खाद्य सुरक्षा, संपर्क, पेंशन जैसे प्रकरणों को करते हुए यह भी सुनिश्चित करें कि ईडब्ल्यूएस के प्रकरण 5 दिन से ज्यादा पेंटिंग ना रहे। सभी उपखंड अधिकारी अपने कार्यालयों में नियमित जनसुनवाई करें तथा जनसुनवाई के प्रकरण पोर्टल पर अपलोड करवाएं। हफ्ते में दो बार रात्रि चैपाल और भ्रमण कर आमजन को राहत प्रदान करें । जिला कलक्टर ने संपर्क पोर्टल पर 6 माह से पुराने प्रकरण को बुधवार को ही निस्तारित करने के निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे प्रकरणों को पेंडिंग ना रखें,  अन्यथा कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।bikaner news अवैध खनन व ओवरलोड वाहनों पर सख्ता व प्रभावी कार्यवाही हो-गौतम IMG 20200121 WA0010 400x225
जिला कलक्टर ने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अभियंता को निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्र में पीने के पानी की जितनी भी योजनाएं वर्तमान संचालित हो रही है उनसे शुद्ध पेयजल आपूर्ति सुनिश्चत की जाए। इसके लिए संबंधित उपखंड क्षेत्र में उनके अभियंता उपखंड अधिकारी व तहसीलदार के साथ निरन्तर निरीक्षण करे और समय-समय पर पानी के सैंपल भी लिए जाएं। उन्होंने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग अभियंता को निर्देश दिए कि वे उनके विभाग द्वारा संचालित सभी जीएलआर को नीले रंग से रंग करवाए और उस पर विभाग का नाम लिख दें ताकि विभाग और पंचायत समिति द्वारा संचालित योजनाओं का चिन्हीकरण और जानकारी आमजन के साथ-साथ अधिकारियों को भी सुगमता से हो सके। उन्होंने सभी उपखंड अधिकारियों से कहा कि वह जलदाय विभाग के अभियंताओं और पंचायत समिति के अधिकारियों के साथ मिलकर मनरेगा के माध्यम से पानी की डिग्गी की सफाई कार्य करें। सफाई के बाद उस पर सफाई की दिनांक अवश्य अंकित की जाए तथा  डिग्गी सफाई के समय स्थानीय नागरिकों की उपस्थिति में करवाई जाएं।
गौतम ने सभी उपखंड अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने क्षेत्र में यह भी देखें कि अगर कोई पानी की टंकी जर्जर अवस्था में है और उसके गिरने से  जानमाल का नुकसान हो सकता है, ऐसी टंकियों को गिराने के आदेश विभाग के अभियंता को दें । उन्होंने कहा कि आने वाले समय में नहर बंदी भी रहेगी, ऐसे में पानी की आपूर्ति निर्बाध रूप से होती रहे,  इसके लिए सभी अधिकारी अपने अपने क्षेत्र का प्रथक प्रथक कंटीजेंसी प्लान बना ले।  प्लान बनाते समय जलदाय विभाग के अधिकारियों से विचार-विमर्श करने के बाद कंटीजेंसी प्लान की एक प्रति अनुमोदन के लिए जिला मुख्यालय को भी दी जाए ।

COMMENTS

WORDPRESS: 0