जिला अस्पताल बीकानेर सहित नोखा व श्रीडूंगरगढ़ में हुआ सफल ड्राई रन

जिला अस्पताल बीकानेर सहित नोखा व श्रीडूंगरगढ़ में हुआ सफल ड्राई रन  जिला अस्पताल बीकानेर सहित नोखा व श्रीडूंगरगढ़ में हुआ सफल ड्राई रन Photo 8

जिला अस्पताल बीकानेर सहित नोखा व श्रीडूंगरगढ़ में हुआ सफल ड्राई रन mr bika fb post

बीकानेर। देश भर के साथ बीकानेर में भी शुक्रवार को कोविड-19 वैक्सीनेशन का ड्राई रन चलाया गया। जिला प्रशासन के नेतृत्व में सभी तीनो रन सफल रहे। बीकानेर में पहले भी 2 स्थानों पर सफल ड्राई रन किया गया था। वैक्सीनेशन की रिहर्सल से पहले लाभार्थियों के मोबाइल नम्बर पर मैसेज भेजकर सूचना दी गई बाद में वैक्सीनेशन के दौरान अपनाई जाने वाली सभी प्रक्रिया अपनाई गई। आधार आधारित वेरिफिकेशन के दौरान ओटीपी ना आने से कई बार देरी हुई और बिना ओटीपी के ही अन्य दस्तावेजों के आधार पर लाभार्थी सत्यापन किया गया। दोपहर तक रिपोर्टिंग के साथ ड्राई रन पूर्ण हुआ। देश के 33 राज्यों के 736 जिलों में ड्राई रन हुआ वहीं बात करें प्रदेश की तो 33 जिलों में 102 सेंटर्स पर ड्राय रन एक साथ किया गया।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुकुमार कश्यप ने बताया कि राजकीय एसडीएम जिला अस्पताल, बीकानेर, बाबा छोटू नाथ राजकीय उ.मा. विद्यालय, नोखा व राजकीय बालिका उ.मा. विद्यालय, श्रीडूंगरगढ़ में बनाए गए वेक्सिनेशन बूथ पर ड्राई रन सुबह 10 से लेकर दोपहर 1 बजे तक चला जहां लक्षित 25-25 लाभार्थियों में से क्रमशः 19, 24 व 25 यानिकी कुल 68 लाभार्थियों पर मोक ड्रिल की। टीकाकरण अभियान के जिला सह नोडल अधिकारी व आरसीएचओ डॉ राजेश कुमार गुप्ता ने बताया कि ड्राई रन का उद्देश्य था कि पता चल जाए कि रियल वैक्सीनेशन करने में क्या-क्या दिक्कतें आ सकती हैं। कोविड-19 वैक्सीनेशन ड्राई रन के लिये वैक्सीनेशन के पूर्व दिवस पर टीकाकरण किये जाने वाले 25 लाभार्थियों का चयन किया गया। सभी लाभार्थियों को मोबाइल पर कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिये स्थान व समय की सूचना भेजी गई। हर सेंटर पर तीन कमरे आरक्षित किए गए। पहला कमरा वेटिंग के लिए, इसमें हेल्थ वर्कर की पूरी जानकारी का डेमो मिलान किया गया। दूसरे कमरे में वैक्सीन दी गई और तीसरे कमरे में वैक्सीन लगवाने वाले को 30 मिनट रखा गया ताकि उसे कोई परेशानी होने पर इलाज दिया जा सके। वैक्सीनेशन के लिये जीएनएम, एएनएम, आशा सहयोगिनी, सुरक्षाकर्मी व डाटा एंटी आॅपरेटर की पांच सदस्यीय टीम बनाई गई थी। ड्राई रन के दौरान सैनिटाइजेशन, मास्क और 2 गज की दूरी संबंधित कोविड प्रोटोकॉल का शत प्रतिशत पालन किया गया।
सभी बूथ पर सम्बंधित प्रभारी उपखंड अधिकारी व बीसीएमओ द्वारा कमान संभाली गई जिला अस्पताल में ड्राई रन के दौरान  उपखण्ड अधिकारी बीकानेर मीनू वर्मा,प्राचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ एस.एस. राठौड़, अधीक्षक डॉ सी.एल. सोनी, आरसीएचओ डॉ आर.के. गुप्ता ने जबकि नोखा में डिप्टी सीएमएचओ डॉ इंदिरा प्रभाकर ने निरिक्षण किया

जिला अस्पताल बीकानेर सहित नोखा व श्रीडूंगरगढ़ में हुआ सफल ड्राई रन prachina in article 1

COMMENTS