स्वास्थ्य विभाग की औचक कार्यवाही, मुखबिर की सूचना के आधार पर 426 लीटर देशी घी किया जब्त

3 Min Read

बीकानेर। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मुखबिर की सूचना के आधार पर फड़ बाजार स्थित अंबिका स्टोर और इसके फड़ बाजार स्थित गोदाम पर औचक छापेमारी करते हुए 426 लीटर देशी घी जब्त किया है। विभाग द्वारा घी के नमूने भी लिए गए हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मोहम्मद अबरार पंवार ने बताया कि जिला कलेक्टर के निर्देशानुसार जिले में दीपावली के मद्देनजर शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत विशेष कार्यवाही संचालित की जा रही है। इसी श्रंखला में शनिवार को एक मुखबिर द्वारा जानकारी मिली कि फड़ बाजार के अंबिका स्टोर में मिलावटी घी का विक्रय किया जा रहा है। इस पर डॉ. पंवार और खाद्य सुरक्षा अधिकारी भूराराम गोदार ने टीम के साथ औचक छापामारी की। इस दौरान वहां 15 लीटर के केन और आधा एवं एक लीटर के ट्रेटा पैक भी मिले। दुकान संचालक का एक गोदाम बीछवाल औद्योगिक क्षेत्र में होनी की सूचना पर टीम को वहां भी भेजा गया। दोनों स्थानों से टीमों द्वारा कुल 426 लीटर घी जब्त किया गया है तथा नियमानुसार सैंपल लेते हुए जांच के लिए भिजवाए गए हैं।

डॉ. पंवार ने बताया कि दीपावली के मद्देनजर ऐसी कार्यवाही सतत रूप से संचालित की जाएगी। उन्होंने बताया कि कोई भी मुखबिर मिलावटी सामान की शिकायत कर सकता है। उन्होंने बताया कि विशेष अभियान की अवधि में खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वाले उत्पादकों की सूचना देने वाले मुखबिर को ‘अनसेफ फूड’ प्रमाणन पर 51 हजार रुपए तथा ‘सब स्टैंडर्ड’ होने पर 5 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। उन्होंने कहा कि चालान के साथ प्रोत्साहन राशि का आधा हिस्सा सूचना देने वाले को दिया जाएगा। कोई भी व्यक्ति मिलावट की सूचना हेल्पलाइन नंबर 181 पर दे सकता है। सूचना देने वाले की पहचान गोपनीय रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि अभियान का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए तथा सैंपलिंग के दौरान नॉर्म्स की पूर्ण पालना की जाए। उन्होंने कहा कि औद्योगिक और उपभोक्ता संगठन भी इस अभियान में भागीदारी निभाएं, जिससे आमजन को शुद्ध खाद्य सामग्री मिल सके।

Share This Article