बीकानेरराजस्थान

जर्जर बिल्डिंग्स का सर्वे कर नोटिस दें -जिला कलेक्टर

बीकानेर। जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल की अध्यक्षता में सोमवार को साप्ताहिक समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में पंचायती राज और ग्रामीण विकास ,जलदाय विभाग, सार्वजनिक निर्माण विभाग, डिस्कॉम आरयूआईडीपी, नगर निगम, नगर विकास न्यास, वन विभाग, आईजीएनपी सहित विभिन्न विभागों के कार्यों और बजट घोषणाओं की प्रगति की समीक्षा की गई।
जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद ने कहा कि नगर निगम शहर की जर्जर बिल्डिंग्स का सर्वे करवाते हुए जल्द नोटिस जारी करें। उन्होंने कहा कि आगामी मानसून के दौरान बारिश  के कारण से  ऐसी इमारतों को गिरने की आशंका के मद्देनजर ये कार्यवाही जल्द पूरी की जाए।
उन्होंने कहा कि नगरीय निकाय क्षेत्रों के निचले इलाकों में जलभराव की स्थिति से बचने के लिए सभी व्यवस्थाएं कर ली जाए , साथ ही कंट्रोल रूम के नंबर भी कार्यशील स्थिति में हों, संबंधित जिला स्तरीय अधिकारी यह सुनिश्चित करें।जिला कलेक्टर ने नगर निगम को मानसून से पहले नालों की सफाई का काम पूरा करवाने के भी निर्देश दिए।
मानसून के दौरान जिले में व्यापक पौधारोपण के लिए तैयारी के निर्देश देते हुए जिला कलेक्टर ने कहा कि वन विभाग वृहत स्तर पर पौध तैयार करवाएं । सुजानदेसर में पौधारोपण कार्य की प्रगति की भी समीक्षा की गई। जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद ने बताया कि आगामी मानसून के दौरान सहजन फली की 2 लाख  पौधे तैयार करवाने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही सभी सरकारी कार्यालयों में भी प्लांटेशन के निर्देश दिए गए हैं। बैठक में विद्युत आपूर्ति की स्थिति की समीक्षा की गई। जिला कलेक्टर ने कहा  कि किसानों को दो हजार यूनिट निशुल्क बिजली उपलब्ध कराने के संबंध में यदि कोई तकनीकी समस्या आ रही है तो  समन्वय करते हुए तकनीकी खामी को दूर करें ताकि किसानों को इस योजना का लाभ दिलाया जा सके। उन्होंने ढाणियों में विद्युतीकरण, मुकाम में निर्माणाधीन 132 केवी जीएसएस, कृषि कनेक्शन सहित विभिन्न योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की । उन्होंने कहा कि जो कृषि कनेक्शन डिफाल्टर है उनके कनेक्शन काटें अन्यथा संबंधित अधिकारी के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।
जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता राजेश पुरोहित ने बताया कि जिले के विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में 70 ट्यूबवेल में से 43  के प्रस्ताव भिजवाए गए हैं इनमें से 17 की स्वीकृति प्राप्त हो गई है। पंचायती राज व ग्रामीण विकास विभाग के विभिन्न कार्यों की समीक्षा करते हुए जिला कलेक्टर ने कहा कि चारागाह विकास के तहत लगाई जाने वाली घास की व्यवस्था समय पर कर ली जाए। बैठक में सार्वजनिक निर्माण विभाग के तहत निर्माणाधीन सड़कों की प्रगति की समीक्षा की गई और कार्य गुणवत्ता के साथ समय पर पूरा करने के निर्देश दिए गए ।बैठक में जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी नित्या के, अतिरिक्त जिला कलेक्टर (शहर) हरि सिंह मीणा, भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु अधिकारी यक्ष चौधरी, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता मुकेश गुप्ता सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

What's your reaction?