बीकानेर

वन्य जीव सप्ताह का समापन समारोह आयोजित , जिला कलक्टर ने की मरुस्थलीय पारिस्थितिकी को बचाने की अपील

बीकानेर।सम्भागीय आयुक्त डॉ नीरज के पावन ने कहा कि भावी पीढ़ी पर पर्यावरण संरक्षण की महती जिम्मेदारी है। हम सब मिलकर पर्यावरण को बचा सकते हैं। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी पर्यावरण और वन्यजीवों का मानव अस्तित्व के साथ महत्व समझें और इसके संरक्षण के लिए तैयार हों।
संभागीय आयुक्त ने शनिवार को वन्य जीव सप्ताह के समापन  पर रविंद्र रंगमंच पर आयोजित कार्यक्रम में यह बात कही।
जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने कहा कि वन्यजीव सप्ताह  मनाने का उद्देश्य आम जन को पर्यावरण संरक्षण के लिए जागरुक करते हुए उनकी सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करना है। उन्होंने मरुस्थलीय क्षेत्र बीकानेर की पारिस्थितिकी बचाने में प्रत्येक व्यक्ति से पर्यावरण संरक्षण से जुड़ने की अपील की। कार्यक्रम में सभागीय आयुक्त ने वन्यजीवों व प्रकृति संरक्षण की शपथ दिलाई।
इस अवसर पर वीरेन्द्र सिंह जौरा उप वन संरक्षक, ई. गा.न.प., रंगास्वामी ई. उप वन संरक्षक  महेन्द्र कुमावत उप वन संरक्षक, ईकबाल सिंह, उप वन संरक्षक व लाखन सिंह उप वन संरक्षक डॉ. सुनील कुमार गौड उपस्थित रहे।
उपवन संरक्षक गौड़ ने बताया  कि वन्यजीव सप्ताह के दौरान श्रमदान स्कूली बच्चों द्वारा वन भ्रमण प्रश्नोत्तरी चित्रकला फैंसी ड्रेस फोटो , फोटो प्रतियोगिता, ्् सहित विभिन्न विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया साथ ही 8 स्कूलों के 525 बच्चों को जोड़बीड़ गिद्ध संरक्षण क्षेत्र का भ्रमण भी करवाया गया।
समापन समारोह में भवई नृत्य की रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी गई।जीव विज्ञानी डॉ.प्रताप सिंह ने जैव विविधता पर विस्तृत प्रकाश डाला तथा गिद्धों के बारे में जानकारी दी। डॉ. कृष्णा आचार्य  ने कविता पाठ किया।
वन विभाग ने प्रतियोगिताओं के विजेताओं को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। मंच संचालन मीनाक्षी शर्मा ने किया।  डॉ. सुनील कुमार गौड़, ने  आभार प्रकट किया।

What's your reaction?