fbpx

त्याग, संयम और ध्यान लगाकर ही लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है-डाॅ.कल्ला

त्याग, संयम और ध्यान लगाकर ही लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है-डाॅ.कल्ला bikaner hulchul त्याग, संयम और ध्यान लगाकर ही लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है-डाॅ.कल्ला 20200221 120130

बीकानेर,   ऊर्जा एवं जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री ने युवाओं को अपना लक्ष्य प्राप्त करने के लिए त्याग, संयम और ध्यान लगाकर, प्रयास करने का आव्हान किया। उन्होंने कहा कि बिना तालीम के हम अपना लक्ष्य नहीं प्राप्त कर सकते।
डाॅ. कल्ला शुक्रवार को शहीद मेजर जेम्स थाॅमस राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के वार्षिकोत्सव व प्रतिभा सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को अपना सपना साकार करने के लिए अच्छी तालीम की जरूरत है, बिना तालीम के कुछ भी नहीं बन सकोंगे। कुछ बनने के लिए शिक्षा ही एक मात्र माध्यम है। बिना शिक्षा के आदमी कुछ भी नहीं बन सकता।
डाॅ.कल्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने बजट में घोषणा की है कि शनिवार के दिन स्कूलों में पढ़ाई नहीं होगी। इस दिन विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास से जुड़ी गतिविधियां होगी। खेलकूद,संगीत, डिबेट कंपटीशन, बालसभा के कार्यक्रम होंगे। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए जरूरी है, कि वह पढ़ाई के साथ-साथ खेल-कूद की गतिविधियों में भी भाग ले। उन्होंने जंक फूड से बचने, टी.वी., मोबाईल और वीडियो गेम को बालकों का दुश्मन बताया और कहा कि छात्र-छात्राओं को इससे दूर रहना चाहिए।
डाॅ.कल्ला ने कहा कि जब भी विद्यार्थी स्कूल आए समय का प्रबंधन करें। एक-एक क्षण का सही दिशा में उपयोग करें। उन्होंने विद्यार्थियों को सफलता का मंत्र देते हुए कहा कि नियमित गृह कार्य करें, कौवे की तरह चेष्टाशील, बगुले की तरह ध्यान केंद्रित करें और संतुलित आहार और उसके साथ-साथ जागनिद्रा और गृहस्थी की बातों से अलग रहोगे, तभी आगे चलकर अच्छे विद्यार्थी और अच्छे नागरिक बन सकोगे। विद्यार्थी अपने खानपान पर जब तक ध्यान नहीं देगा तो शरीर स्वस्थ नहीं होगा। स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क का विकास होता है। संगत अच्छी रखा,े किताबों, अच्छे गुरुजनों की संगत करो और जहां भी ज्ञान मिले उसे ग्रहण करें। उन्होंने लक्ष्य सामने रखने पर जोर दिया और कहा कि स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि ’उठो, जागो और तब तक मत रुको, जब तक लक्ष्य की प्राप्ति ना हो जाए। उन्होंने मेजर जेम्स थाॅमस को श्रद्धाजंलि देते हुए शेर कहा ’शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर वर्ष मेले, वतन पर मरने वालों का यही बाकी निसा होगा।’
डाॅ.कल्ला ने शहीद मेजर जेम्स थाॅमस स्कूल में शिक्षा के माहौल और अन्य गतिविधियों की सराहा की और कहा कि प्राचार्य नाजिमा अजीज के प्रयासों से इस स्कूल में पढ़ाई व अन्य शैक्षणिक गतिविधियों का अच्छा माहौल दिखाई दे रहा है। यहां पर प्राइवेट स्कूल में जो वातावरण  होता है वैसा ही यहां परिलक्षित हो रहा है। इस स्कूल की जो भी समस्याएं है, उनका निस्तारण किया जायेगा।
इससे पहले शहीद मेजर जेम्स थाॅमस और मां सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जवलित कर, समारोह की शुरू आत हुई। शहीद मेजर जेम्स थाॅमस की माता श्रीमती मैरी कुट्टी थाॅमस का अतिथियों ने शाॅल ओढ़ाकर और स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया। समारोह का संचालन संजय पुरोहित ने किया। अतिथियों ने विद्यालय के छात्रों को खेल-कूद और परीक्षाओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन पर पुरस्कृत किया। इस अवसर पर शाला के छात्रों ने रंगा-रंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। शाला की प्राचार्य नाजिमा अजीज ने सभी का स्वागत किया और प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।
इस अवसर पर जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम, शिक्षा निदेशक (माध्यमिक शिक्षा) सौरभ स्वामी, जिला शिक्षा अधिकारी उमाशंकर किराडू, अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक समग्र शिक्षा हेतराम सारण, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी सुनील बोडा अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

COMMENTS

WORDPRESS: 0