लगातार तीसरे दिन कोलायत क्षेत्र के दौरे पर रहे उच्च शिक्षा मंत्री , क्षेत्रवासियों को दी अनेक सौगातें

 लगातार तीसरे दिन कोलायत क्षेत्र के दौरे पर रहे उच्च शिक्षा मंत्री , क्षेत्रवासियों को दी अनेक सौगातें

बीकानेर। उच्च शिक्षा मंत्री भँवर सिंह भाटी रविवार को लगातार तीसरे दिन कोलायत विधानसभा क्षेत्र के सघन दौरे पर रहे और क्षेत्रवासियों को अनेक सौगातें दी।
उच्च शिक्षा मंत्री ने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, अक्कासर में प्रार्थना स्थल पर टीन शेड, सीसी ब्लॉक और अन्य निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया। विधायक निधि से हुए इन विकास कार्यों पर 16.90 लाख रूपए खर्च हुए हैं।

इस दौरान भाटी ने कहा कि कोलायत का सर्वांगीण विकास करवाना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसमें किसी प्रकार की कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि अब कोलायत के विकास को नई दिशा दी जा रही है। अब तक पिछड़ा इलाका कहे जाने वाला यह क्षेत्र विकास की ओर अग्रसर है। यहां शिक्षा और चिकित्सा सहित प्रत्येक क्षेत्र में आधारभूत सुविधाओं का विकास हो रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने गरीब और जरूरतमंद लोगों के लिए ऐतिहासिक कार्य किए हैं। कोविड-19 की प्रतिकूल स्थिति के बावजूद विकास की गति को रूकने नहीं दिया। सरकार ने कोविड मैनेजमेंट के उल्लेखनीय व सराहनीय कार्य किए, जिसकी देशभर में सराहना हुई।

इस दौरान उच्च शिक्षा मंत्री ने युवाओं की मांग पर अक्कासर में खेल मैदान बनने की घोषणा की। उन्होंने बताया कि खेल मैदान बनाने के लिए जिला प्रमुख ने सहमति व्यक्त की है। बीस लाख रुपए की लागत से जिला परिषद द्वारा खेल मैदान की चार दीवारी का निर्माण करवाया जाएगा। उन्होंने अक्कासर में अक्कासर गो सेवा समिति द्वारा संचालित गोशाला का निरीक्षण किया। समिति के सदस्यों ने गोशाला में गायों के लिए टीन शेड और दो ट्यूबवेल बनवाने की मांग की।

चांडासर में किया कक्षा कक्षों का उद्घाटन
उच्च शिक्षा मंत्री ने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, चाण्डासर में 35.23 लाख रुपये की लागत से बने 4 नवीन कक्षा-कक्षों का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि निर्वाचित जनप्रतिनिधियों की आमजन तक आसान पहुंच, विकास कार्यों में पारदर्शिता व इनमें हर नागरिक की भागीदारी, गहलोत सरकार की पहचान बनी है। आज दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में भी भरपूर विकास कार्य हो रहे हैं, इनसे स्थानीय नागरिकों के जीवन स्तर में सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि विकास का यह क्रम अंतिम छोर तक बैठे व्यक्ति तक पहुंचने तक जारी रहेगा। इस दौरान ग्रामीणों ने विद्यालय में फर्नीचर देने की मांग की। इस पर उन्होंने पंचायत समिति की ओर से स्कूल में 200 फर्नीचर देने की घोषणा की। इस दौरान ग्रामीणों ने नवीन पशु चिकित्सा उपकेंद्र खोलने के लिए उच्च शिक्षा मंत्री का आभार प्रकट किया । यहां भी ग्रामीणों की मांग पर स्कूल में टीन शेड बनवाने का विश्वास दिलाया।

स्वास्थ्य केंद्रों में सौंपी एम्बुलेंस
उच्च शिक्षा मंत्री ने गजनेर और हदां के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में अत्याधुनिक सुविधायुक्त एक-एक एंबुलेंस भेंट की। इस दौरान उन्होंने कहा कि दूरदराज के क्षेत्रों से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में पहुंचने वाले गंभीर रोगियों तथा दुर्घटनाग्रस्त व्यक्तियों को पीबीएम अस्पताल रेफर करने की स्थिति में यह एंबुलेंस उपयोगी सिद्ध होंगी। इनके माध्यम से समय पर उपचार मिलने से मरीजों का जीवन बचाया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि दोनों एंबुलेंस के लिए विधायक निधि कोष से 29 लाख रुपये स्वीकृत किए गए थे।
गजनेर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की एम्बुलेंस आगामी छह महीनों तक चलाने की जिम्मेदारी लेने वाले भामाशाह ओम प्रकाश गेदर, प्रेमाराम व अमित कुमार मोहता का अभिनन्दन किया गया। मंत्री भाटी ने एम्बुलेंस की चाबी सीएचसी प्रभारी डॉ. प्रियंका भादू को सौंपी।

कोविड प्रोटोकॉल की करें पालना
उच्च शिक्षा मंत्री ने रविवार को ही राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय चानी और राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय कोटड़ी में नवनिर्मित कक्षा-कक्षों का लोकार्पण किया।
इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर का खतरा कम हुआ है लेकिन अभी यह संकट पूर्णतया खत्म नहीं हुआ है। इसके मद्देनजर प्रत्येक व्यक्ति कोविड एडवाइजरी की पालना करे। उन्होंने कहा कि आम जन की भावनाओं को समझते हुए राज्य सरकार द्वारा लॉकडाउन में लगातार छूट दी जा रही है। इसके बावजूद प्रत्येक व्यक्ति गंभीरता रखे और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करे। उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी सम्भावित लहर का प्रभाव कम से कम रहे, इसके लिए हमें कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर की पालना करनी होगी। इसके साथ ही उन्होंने आमजन को टीकाकरण के लिए भी प्रेरित किया तथा कहा कि कोरोना से बचाव के लिए प्रत्येक व्यक्ति टीका जरूर लगवाएं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री कोरोना विधवा सहायता और मुख्यमंत्री कोरोना पालनहार जैसी योजनाएं प्रारम्भ की हैं। कोविड से पीड़ित परिवारों के लिए यह योजनाएं सम्बल बनेंगी।
शैक्षणिक व्यवस्थाओं में सुधार के लिए सरकार प्रतिबद्ध है तथा गांव गांव में शैक्षणिक व्यवस्था सुदृढ़ीकरण की दिशा में कार्य हो रहा है। उन्होंने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं। इन्हें उच्च स्तरीय शिक्षा व्यवस्था मुहैया करवाने में सरकार की ओर से किसी प्रकार की कमी नहीं आने दी जाएगी।
उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा चानी के विद्यालय में डीएमएफटी फंड से टीन शेड तथा जिला परिषद की ओर से दो कक्षा कक्ष बनवाए जाएंगे।

यह रहे मौजूद
उच्च शिक्षा मंत्री के सघन दौरे के दौरान जिला प्रमुख मोडाराम मेघवाल, झंवरलाल सेठिया, कोलायत के उपप्रधान रेवन्तराम कुमावत, पूर्व सरपंच मुश्ताक खां, प्रभुदयाल गोदारा, सुन्दर लाल राठी, पंचायत समिति सदस्य राम निवास गोदारा, उपखण्ड अधिकारी प्रदीप कुमार चाहर, विकास अधिकारी दिनेश सिंह भाटी, तहसीलदार हरि सिंह शेखावत, सीबीईओ मूल सिंह, समासा के अतिरिक्त परियोजना अधिकारी हेतराम सारण, ब्लाॅक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.अनिल कुमार वर्मा, बिशन सिंह भाटी, जिला शिक्षा अधिकारी सुरेन्द्र सिंह, पंचायत समिति के पूर्व सदस्य ओम प्रकाश सेन आदि उपस्थित रहे।

सर्किट हाउस में सुनी जनसमस्याएं
इससे पहले उच्च शिक्षा मंत्री ने रविवार सुबह सर्किट हाउस में आमजन से मुलाकात की तथा उनके अभाव अभियोग सुने। उन्होंने संबंधित अधिकारियों से दूरभाष पर वार्ता कर त्वरित समाधान हेतु निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि आमजन की परेशानियों का समयबद्ध निराकरण सरकार की प्राथमिकता है। मुख्यमंत्री स्वयं इसकी नियमित समीक्षा करते हैं। वहीं जिला स्तरीय अधिकारियों को भी आमजन की समस्याएं सुनने और नियमित फील्ड विजिट के लिए निर्देशित किया गया है।

 

S.N.Acharya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page