बीकानेर

सख्ती से लागू हों पीसीपीएनडीटी एक्ट के प्रावधान , जिला कलेक्टर ने दिए निर्देश

बीकानेर। जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद दलाल ने कहा कि जिले में जन्म के समय लिंगानुपात सुधारने के प्रभावी प्रयास हों। पीसीपीएनडीटी एक्ट के प्रावधानों की पालना सख्ती से करवाई जाए।

जिला कलेक्टर ने लिंगानुपात सुधारने और बीकानेर को एनीमिया फ्री बनाने के उद्देश्य से चलाए जा रहे शक्ति अभियान समीक्षा के लिए शुक्रवार को आयोजित बैठक के दौरान यह निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने कहा कि जन्म के समय लिंगानुपात में गिरावट चिंताजनक है। इसमें सुधार के लिए समन्वित प्रयास हों। लिंग भ्रूण परीक्षण किसी भी स्थिति में स्वीकार नहीं किया जाए। पीसीपीएनडीटी समन्वयक, चिकित्सा अधिकारियों के साथ विजिट करते हुए सख्त कार्यवाही करें। कहीं भी लिंग परीक्षण की सूचना पाई जाती है, तो अविलंब कार्यवाही की जाए। जिला कलेक्टर ने कहा कि जिले में वितरित की जा रही आयरन फोलिक एसिड टेबलेट्स का शत प्रतिशत उपयोग हो, यह सुनिश्चित किया जाए तथा उपयोग संबंधी रिपोर्ट भी नियमित रूप अपलोड की जाए।

जिला कलेक्टर ने कहा कि मुख्यमंत्री निशुल्क दवा वितरण योजना के तहत सीएचसी और पीएचसी स्तर के लिए अप्रूव्ड सभी दवाएं मरीजों को उपलब्ध करवाई जाएं। इनमें से जो दवाईयां, स्वास्थ्य केंद्रों पर जो उपलब्ध नहीं हैं, उनकी डिमांड की जाए। किसी भी परिस्थिति में बाहर की दवा नहीं लिखी जाए।  सभी चिकित्सा केंद्रों पर उपलब्ध दवाओं की सूची चस्पा करवाई जाए। यदि किसी स्थान पर बाहर से दवाई लिखे जाने की सूचना पाई जाती है, तो संबंधित के खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
महिला अधिकारिता विभाग की उपनिदेशक मेघा रतन ने बताया कि शक्ति अभियान के तहत स्कूलों में आई एम शक्ति कॉर्नर बनाए जा रहे हैं।राजकीय गंगा बाल उच्च माध्यमिक विद्यालय में पहला आई एम शक्ति कॉर्नर का बना दिया गया है। जिले के अन्य विद्यालयों में भी इसके लिए समन्वय किया जा रहा है। बैठक में महिला एवं बाल विकास विभाग की उपनिदेशक शारदा चौधरी, सीएमएचओ डॉ बी एल मीना सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

What's your reaction?

Leave A Reply

Your email address will not be published.