राजस्थान में इस दिन इतने घंटे तक बंद रहेगी पेट्रोल-डीजल की बिक्री , जाने वजह

3 Min Read

प्रदेशभर में करीब 4700 पेट्रोल पंप 31 मई को शाम 8 से 11 बजे यानी की तीन घंटे के लिए बंद रहेंगे. साथ में इस दिन पंप संचालक ऑयल डिपो से ईंधन भी नहीं खरीदेंगे यानी की नो परचेज डे रहेगा. इसको लेकर आज पेट्रोलियम डीलर एसोसिएशन ने केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री के नाम तीनों तेल कंपनियों के स्टेट कॉरिनेटर को ज्ञापन सौंपा.

केंद्र सरकार ने भले ही पेट्रोल डीजल पर एक्साइज ड्यूटी कम कर आम लोगों को राहत देने की कोशिश की हो लेकिन राज्य के लोगों को 31 मई से पेट्रोल डीजल की किल्लत का सामना करना पड़ सकता है. राज्य के पेट्रोल पंप डीलरों ने 31 मई को सरकारी तेल कंपनियों के ऑयल डिपो से पेट्रोल डीजल नहीं खरीदेने का फैसला किया है. पेट्रोल पंप डीलर अपनी मांगों को लेकर सरकार पर दवाब बनाने के लिए 31 मई को ऑयल डिपो से पेट्रोल डीजल नहीं खरीदने का फैसला किया है.

पंप मालिकों का कहना है कि 2017 के बाद से पेट्रोल डीजल बेचने पर उनका कमीशन नहीं बढ़ाया गया है जबकि पेट्रोल डीजल का न्यूनत्तम स्टॉक रखने के लिए डीलरों को जो निवेश करना होता है, वो महंगे दामों के चलते दोगुना हो चुका है. पेट्रोल पंप डीलरों का कहना है कि 60 से 70 रुपए में जब पेट्रोल मिला करता था और 45 से 50 रुपये में जब डीजल मिल रहा था, उस समय उन्हें जो कमीशन मिला करता था. वहीं कमीशन पेट्रोल डीजल की कीमत 100 रुपये से ऊपर जाने पर मिल रहा है. मौजूदा समय में पेट्रोल पंप मालिकों को पेट्रोल बेचने पर 3.85 रुपये प्रति लीटर तो डीजल बेचने पर 2.58 रुपये प्रति लीटर का कमीशन मिलता है.

पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन राजस्थान के अध्यक्ष सुमित बगई ने कहा कि 31 मई को राज्य का कोई भी डीलर ऑयल डिपो से तेल नहीं खरीदेगा और आम लोगों को परेशानी ना हो, इसके लिए हमेन रात 8 बजे से 11 बजे तक तीन घंटे पेट्रोल-डीजल की बिक्री नहीं करने का फैसला किया है. हमारी सरकार से दो मांगे हैं, जिसमें पहली कमीशन में बढ़ोतरी और दूसरी पूरे राज्य में पेट्रोल डीजल का बिक्री मूल्य समान हो.

Share This Article