आज से एक से दूसरे जिले में जाने पर भी लगी रोक,जाने क्या रहेगी पाबंदिया

आज से एक से दूसरे जिले में जाने पर भी लगी रोक,जाने क्या रहेगी पाबंदिया  आज से एक से दूसरे जिले में जाने पर भी लगी रोक,जाने क्या रहेगी पाबंदिया rajasthan curfew

आज से एक से दूसरे जिले में जाने पर भी लगी रोक,जाने क्या रहेगी पाबंदिया mr bika fb post

राजस्थान में कोरोना महामारी की दूसरी लहर को रोकने के लिए गहलोत सरकार एक्शन के मोड में है. 26 अप्रैल सुबह 5 बजे से निजी वाहनों  के एक जिले से दूसरे जिले में जाने पर भी रोक लग गई है. सुबह 5 बजे से निजी यात्री वाहन (बसों को छोड़कर) के एक जिले से दूसरे जिले में जाने पर रोक लगाई गई है.

आज से एक से दूसरे जिले में जाने पर भी लगी रोक,जाने क्या रहेगी पाबंदिया prachina in article 1

निजी वाहनों को केवल इमरजेंसी या अत्यावश्यक सेवाओं के लिए ही ड्राइवर के साथ 50 प्रतिशत क्षमता तक ही अनुमति होगी. राजस्थान में कोरोना की दूसरी लहत घातक बनती जा रही है. इसका प्रसार रोकने के लिए राजस्थान गृह विभाग ने 23 अप्रैल को नई गाइडलाइन जारी की थी. वह आज यानी 26 अप्रैल सुबह 5 बजे से प्रभावी हो गई है.

बसों में भी 50 फीसदी यात्री ही बैठ सकेंगे
नई गाइडलाइन में सरकार द्वारा काफी सख्ती की गई है. इसके चलते मेडिकल इमरजेंसी और अति आवश्यक सेवाओं को छोड़कर बिना अधिकृत अनुमति के यात्री निजी वाहनों से एक जिले से दूसरे जिले में यात्रा नहीं कर सकेंगे. पूरे राज्य में यह प्रतिबंध लागू होगा. एक जिले से दूसरे जिले में यात्रा के लिए बसों में भी 50 फीसदी यात्री ही बैठ सकेंगे. यदि कोई व्यक्ति सरकारी गाइडलाइन का उल्लंघन करता है तो उसे भारी जुर्माना देने के साथ सजा भी भुगतनी पड़ सकती है. संबंधित व्यक्ति पर महामारी अधिनियम-2005 के तहत और राज्य सरकार द्वारा कोरोना के रोकथाम के लिए बनाए गए कानून के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

एलपीजी वितरण की होगी 5 बजे तक की अनुमति
एलपीजी वितरण सेवाएं ग्राहकों के लिए प्रातः 6 बजे से शाम 5 बजे तक मिल सकेगी. राज्य सरकार ने 25 अप्रैल को जारी संशोधित नई गाइडलाइन में कुछ आंशिक राहत भी प्रदान की है. पूर्व में इसकी अनुमति दोपहर 12 बजे तक की थी. निजी वाहन अब पेट्रोल-डीजल 7 बजे से दोपहर 12 बजे तक ही पंप से ले पाएंगे. दोपहर 12 बजे बाद निजी वाहनों को फ्यूल नहीं दिया जाएगा. सार्वजनिक परिवहन और माल ढुलाई वाहनों को पहले की तरह डीजल-पेट्रोल मिलता रहेगा.

गाइडलाइन में संशोधन

सराकर ने सब्जियां एवं फलों (Vegetables & Fruits) के ठेले को रोजाना लगाने की अनुमति दे दी है. गहलोत सरकार ने 23 अप्रैल को जारी गाइडलाइन में आंशिक संशोधन करते हुए इसमें कुछ राहत प्रदान की है. यह नई गाइडलाइन सोमवार से लागू होगी.

राज्य सरकार ने सब्जियों एवं फलों को ठेले/साइकिल/रिक्शा/ऑटो रिक्शा/ मोबाइल वैन द्वारा रोजाना विक्रय करने अनुमति प्रदान की है. अब सुबह 6 बजे से शाम 5 बजे तक फल और सब्जियों को बेचा जा सकेगा. गृह विभाग ग्रुप-7 ने संशोधित आदेश जारी कर दिए हैं. 23 अप्रैल को सरकार ने इनके लिए सुबह 6 से 11 बजे तक की अनुमति दी थी. इसी प्रकार एलपीजी वितरण सेवाएं ग्राहकों के लिए सुबह 6 बजे से शाम 5 बजे तक की अनुमति रहेगी. सरकार ने पूर्व में एलीपजी वितरण सेवा सुबह 7 बजे से दोपहर 12 बजे तक चालू रखने की अनुमति दी थी.

पेट्रोल-डीजल भरवाने का समय 12 बजे तक
सार्वजनिक परिवहन/माल ढुलाई वाहन/अत्यावश्यक सेवाओं में लगे वाहनों एवं सरकारी वाहनों के लिए पेट्रो /डीजल पम्प, सीएनजी पेट्रोलियम एवं गैस से संबंधित खुदरा (रिटेल)/थोक (होल सेल) आउटलेट पूर्व की भांति खोलने की अनुमति होगी. निजी वाहनों द्वारा पेट्रोल/डीजल प्रातः 7 बजे से दोपहर 12 बजे तक भरवाया जा सकेगा.

इस तरह खुला करेंगी अब ये दुकानें
>> सभी तरह के खाद्य पदार्थ एवं किराने का सामान, आटा चक्की संबंधी दुकानअब सोमवार से शुक्रवार तक रोज सुबह 6 से सुबह 11 तक खुलेंगी.

>>पशुचारे संबंधी दुकानें सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 6 से सुबह 11 बजे तक खुलेंगी.
>>कृषि आदान विक्रेताओं की दुकान सोमवार और गुरूवार को सुबह 6 से सुबह 11 तक खुल सकेंगी.
>>डेयरी एवं दूध की दुकान प्रतिदिन दो बार खुलेंगी. इसके लिए सुबह 6 से 11 और शाम को 5 से रात 7 बजे तक समय तय किया गया है.
>>बैंक, बीमा एवं माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूशन की सेवाऐं सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक चालू रहेंगी.
>>प्रोसेस्ड फूड, मिठाई व मिष्ठान, बेकरी, रेस्टोरेन्ट्स रहेंगे बंद. इनसे केवल होम डिलीवरी ही की जा सकेगी.
>>निर्माण सामग्री से सम्बन्धित दुकानों को खोलने की अनुमति नहीं होगी.

COMMENTS

You cannot copy content of this page