राजस्थान के इन 7 जिलों में कल बारिश की संभावना , बढ़ेगा सर्दी का असर

3 Min Read

उत्तर भारत में सक्रिय हुए वेस्टर्न डिस्टर्बेंस(पश्चिमी विक्षोभ) का असर आज राजस्थान के कई शहरों में भी देखने को मिल रहा है। जयपुर, बीकानेर संभाग में आज आसमान में हल्के बादल छाए हुए हैं। मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक कल यानी मंगलवार को उत्तरी राजस्थान के 7 जिलों में हल्की बारिश भी हो सकती है।

पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म होने के बाद राजस्थान सहित अन्य प्रदेशों के मैदानी इलाकों में सर्दी का असर बढ़ेगा और तापमान में 4 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट देखने को मिल सकती है। इधर, बादल छाने की वजह से कई शहरों में रविवार को दिन के तापमान में गिरावट हुई। सवाई माधोपुर, सिरोही, गंगानगर में पारा 4 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। इसी तरह भीलवाड़ा, पिलानी, कोटा, चित्तौड़गढ़, बाड़मेर, जैसलमेर, जोधपुर, चूरू, टोंक, अलवर करौली में भी अधिकतम तापमान 1 से 2 डिग्री सेल्सियस तक गिरा।

इसके उलट रात के तापमान में बढ़ोतरी दर्ज हुई है। चूरू, बाड़मेर, उदयपुर, भीलवाड़ा, अजमेर, जोधपुर समेत अन्य शहरों में रात का तापमान 2 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ा है। इससे इन शहरों में रात में सर्दी का असर मामूली कम हुआ है।

9 नवंबर तक रहेगा सिस्टम का असर
जयपुर मौसम केंद्र के मुताबिक जो सिस्टम अभी उत्तर भारत में सक्रिय हुआ है, उसका असर 9 नवंबर तक देखने को मिल सकता है। इस सिस्टम से जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और हिमाचल में बारिश-बर्फबारी तो हो ही रह है, राजस्थान में भी 8 नवंबर को बीकानेर, गंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू, सीकर, झुंझुनू व अलवर जिलों में कहीं-कहीं हल्के दर्जे की बारिश होने की संभावना है।

अगले तीन से चार दिन में 10 डिग्री से नीचे जाएगा पारा
मौसम केंद्र जयपुर के वैज्ञानिकों के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ से कश्मीर, हिमाचल, लद्दाख में बर्फबारी हो रही है। ये सिस्टम 9 नवंबर के बाद जाएगा, उसके बाद वापस उत्तरी हवाएं मैदानी इलाकों में आने लगेगी। इससे पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के एरिया में तापमान गिरने लगेगा।

उत्तरी हवाओं के प्रभाव से 10-11 नवंबर से राजस्थान के शहरों में न्यूनतम तापमान में 4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट होने की संभावना है। इससे अगले तीन से चार दिन में सीकर, चूरू, झुंझुनूं एरिया में तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या उससे नीचे भी जा सकता है।

Share This Article