कोरोना के नए वेरिएंट ऑमिक्रोन के ये हैं नए लक्षण ,दिखाई देते ही जाए डॉक्टर के पास

3 Min Read

कोविड-19 के ओमीक्रॉन वैरिएंट ने लोगों में एक बार फिर से दहशत पैदा कर दी है। WHO के अनुसार, यह नया वैरिएंट वायरस के व्यवहार को ही बदल देता है। इस वैरिएंट ने साउथ अफ्रीका के साथ भारतीय लोगों की चिंताएं भी बढ़ा दी हैं। विशेषज्ञ कहते हैं कि यह नया संस्करण डेल्टा वैरिएंट की तुलना में और भी ज्यादा खतरनाक हो सकता है। कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों के लिए यह बहुत घातक है। दुनियाभर के टक्रीकल एडवायजरी ग्रुप इस नए वैरिएंट पर लगातार नजर बनाए हुए हैं, ताकि संक्रमण की गंभीरता का पता लगाया जा सके। बता दें कि दक्षिण अफ्रीका ने पिछले दो हफ्तों में नए मामलों में चार गुना वृद्धि दर्ज की है।

कोरोना के नए वैरिएंट ऑमिक्रोन का फैलाव तेज हो रहा है लेकिन फेफड़ों तक संक्रमण नहीं फैलने से प्राणलेवा साबित नहीं हो रहा। केवल बुखार, खांसी जुकाम आदि ऑमिक्रोन के प्रमुख लक्षण नहीं हैं। मरीजों में ऑमिक्रोन वैरिएंट के कुछ ऐसे लक्षण दिखाई दे रहे हैं जो कोविड-19 के अन्य वैरिएंट्स से बिल्कुल अलग है। इनमें खासकर त्वचा पर नजर आते हैं। मसलन त्वचा पर चकते या लाल निशान भी ऑमिक्रोन के लक्षण हो सकते हैं।

विशेषज्ञों की मानें तो ऑमिक्रोन त्वचा को प्रभावित कर रहा है। कोविड के बाद भी कई मरीजों में त्वचा से जुड़े लक्षण पाए गए। इनमें त्वचा पर चकते, लाल निशान, दाद आदि मिले हैं। चिकित्सकों का कहना है कि अभी हल्की हवा से गलन हो रही है। कड़ाके की धूप नहीं खिलने से गर्म कपड़ों में एलर्जी वाले कीटाणु पनप रहे हैं। ये त्वचा को नुकसान पहुंचा रहे हैं। तापमान में उतार-चढ़ाव के कारण बीमारी गंभीर होती है। अ

- Advertisement -

रोगी बढ़े
इन दिनों त्वचा से संबंधित बीमारियों के रोगी बढ़े हैं। कोविड़ के बाद मरीजों में त्वचा संबंधी रोगी मिले हैं। त्वचा में किसी भी प्रकार का प्रभाव दिखाई देने पर तुरंत डॉक्टर्स को दिखाएं।

लक्षण सर्दी-लू सरीखे
नाक बहना, सिरदर्द, छींक आना, लगातार खांसी, गले में खराश और त्वचा से संबंधित रोग। ये लक्षण सर्दी-लू की तरह हैं। यही वजह है कि अधिकतर लोग इसे नजरअंदाज कर रहे हैं। अगर आपको यह लक्षण महसूस हो रहे हैं डॉक्टर की सलाह लें।

Share This Article