jaipur : मंदिर का ताला तोड़ 500 साल पुरानी अष्टधातु की 30 मूर्तियां ले गए चोर

jaipur : मंदिर का ताला तोड़ 500 साल पुरानी अष्टधातु की 30 मूर्तियां ले गए चोर  jaipur : मंदिर का ताला तोड़ 500 साल पुरानी अष्टधातु की 30 मूर्तियां ले गए चोर hdgd

jaipur : मंदिर का ताला तोड़ 500 साल पुरानी अष्टधातु की 30 मूर्तियां ले गए चोर mr bika fb post

रविवार की रात जयपुर के जैन समाज की आस्था पर बहुत भारी पड़ी. यहां के एक प्राचीन दिगम्बर जैन पार्श्वनाथ मंदिर से चोर 30 मूर्तियां (Idols) चुरा ले गए. इनमें से अधिकांश मूर्तियां अष्टधातु और पाषाण की है, जो 500 साल पुरानी बताई जाती हैं. चोरों ने मंदिर के दान पात्र को भी नहीं छोड़ा. वह दानपात्र का ताला तोड़कर उसमें रखी नकदी और अन्य सामान भी ले उड़े. मंदिर से 3 आभामंडल और 3 छत्र और प्राचीन यंत्र भी गायब हैं. वारदात के बाद से आक्रोशित जैन समाज के कई संगठनों ने प्रदर्शन करते हुए पुलिस (Police) से जल्द चोरों को पकड़ने की मांग की है.

jaipur : मंदिर का ताला तोड़ 500 साल पुरानी अष्टधातु की 30 मूर्तियां ले गए चोर prachina in article 1

चोरों के निशाने पर आया यह दिगम्बर जैन मंदिर पार्श्वनाथ (बोहरा जी) जयपुर में घाट की गुणी इलाके में है. मंदिर के मेन दरवाजे का ताला तोड़कर चोर यहां दाखिल हुए. शुरुआती जांच में यह बात सामने आई कि रविवार की रात चोरों ने मंदिर में दाखिल होते ही पुजारी और आर्यिका माता जी के कमरे की कुंडी बाहर से लगा दी. और फिर चोरी की वारदात को अंजाम दिया.

पुजारी और आर्यिका जी को बनाया बंधक

बताया जा रहा है कि इस चोरी की वारदात का पता तब चला जब सुबह मंदिर के पुजारी और आर्यिका माताजी की नींद टूटी. बताया गया कि सोमवार सुबह जब आर्यिका माताजी उठीं तो उनके कमरे का दरवाजा बाहर से बंद था. तब आर्यिका श्री ने आवाज लगाई. इसी से पुजारी जी की भी नींद टूटी. उन्होंने अपने कमरे का दरवाजा खोलना चाहा तो वह बाहर से बंद मिला. तब उन्होंने किसी तरह अपने कमरे का दरवाजा तोड़ा और बाहर निकले. बाहर का मंजर देखकर वे चौंक गए. मंदिर परिसर में सभी ताले टूटे थे. तब उन्होंने आर्यिका माताजी के कमरे का दरवाजा खोला. इसके बाद मंदिर कमेटी को चोरी की इस वारदात की सूचना दी गई. सूचना के फौरन बाद कमेटी के लोग वहां पहुंचे तो उन्होंने पाया कि मंदिर से मूर्तियां गायब हैं.

पुलिस ने जांच शुरू कीबताया गया कि मंदिर से अष्टधातु और पाषाण की 30 जैन प्रतिमाएं, 65 हजार नकद, 3 आभामंडल और 3 छत्र और प्राचीन यंत्र गायब हैं. इसके अलावा दानपात्र के ताले भी टूटे हुए थे. कमेटी के पदाधिकारी कमल जैन ने बताया कि मंदिर में मूर्तियों के साथ दो किलो चांदी का सामान भी नहीं मिला. इसके बाद ट्रांसपोर्ट नगर थाना पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटना की जांच शुरू कर दी है.

जैन समाज में आक्रोश

राजस्थान जैन युवा महासभा जयपुर के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप जैन ने इस चोरी की घटना पर आक्रोश व्यक्त किया है. राजस्थान के कई जैन संगठनों ने इस चोरी की घटना पर आक्रोश करते हुए प्रदर्शन किया है. पुलिस से जल्द खुलासा करने की मांग की है.

COMMENTS