उत्तराखंड के 7 जिलों में रेड अलर्ट, देहरादून के स्कूलों में आज छुट्टी

सावन के शुरुआती हफ्ते में ही देश के कई राज्यों में अच्छी बारिश हुई। पिछले हफ्ते से अलग-अलग क्षेत्रों में हो रहे झमाझम ने मानसून के सीजन में हुई बारिश की कमी कुछ हद तक दूर कर दी है। मौसम विभाग ने हरियाणा, पंजाब और हिमाचल के कुछ इलाकों में भारी बारिश का अनुमान जताया है। हरियाणा, पंजाब और उत्तरप्रदेश में तेज बारिश का अलर्ट जारी किया है। वहीं उत्तराखंड में देहरादून समेत राज्य के सात जिलों में शनिवार को भारी बारिश की संभावना है। मौसम विभाग ने आपदा प्रबंधन विभाग और सभी जिलाधिकारियों को रेड अलर्ट जारी किया है।

जुलाई के दौरान देशभर में बरसात में सुधार हुआ है। हालांकि, पूरे मानसून सीजन की बरसात पर नजर डालें तो अबतक बारिश सामान्य के मुकाबले 19 प्रतिशत कम दर्ज की गई है। मौसम विभाग के मुताबिक अबतक बीते मानसून सीजन यानि पहली जून से जुलाई तक के दौरान देशभर में औसतन 313.1 मिलीमीटर बरसात हुई है। जबकि सामान्य तौर पर इस दौरान 384.7 मिलीमीटर बरसात होती है।  उधर, बिहार, असम और पूर्वोत्तर के कई हिस्से पहले से ही बाढ़ की चपेट में हैं। देश के पहाड़ी इलाकों और पूर्वोत्तर के राज्यों में भारी बारिश से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

देहरादून जिले के स्कूलों में आज छुट्टी
मौसम विभाग के अलर्ट को देखते हुए देहरादून जिला प्रशासन ने शनिवार को जिले के सभी स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों में एक दिन का अवकाश घोषित कर दिया है। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने शुक्रवार को कहा कि नैनीताल, चंपावत, पिथौरागढ़, ऊधमसिंहनगर, देहरादून, हरिद्वार व पौड़ी में शनिवार को भी भारी बारिश की आशंका है। सभी के डीएम को रेड अलर्ट जारी कर दिया है। उधर, देहरादून में शुक्रवार को पूरे दिन बारिश होती रही। सुबह के वक्त कई इलाकों में तेज बौछारें पड़ीं। दोपहर के समय राजधानी के कई इलाकों में तेज बारिश जबकि कई क्षेत्रों में हल्की बूंदाबांदी हुई। वहीं, रात को कई इलाकों में फिर मूसलाधार बारिश हुई। शुक्रवार को बारिश से दून का मौसम सुहावना हो गया। मौसम विभाग के मुताबिक, देहरादून के तापमान में चार डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। ऋषिकेश और विकासनगर में भी दिनभर बारिश हुई।

पूर्वानुमान : आज इन राज्यों में हो सकती बारिश
मौसम विभाग ने 27 जुलाई को  कोंकण, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, असम, ओडिशा और गोवा भारी से भारी बारिश का अनुमान जताया गया है। वहीं, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, झारखंड, सिक्कम, छत्तीसगढ़ और गुजरात के कुछ इलाकों में तेज बारिश का अनुमान है। हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पूर्वी राजस्थान, मध्यप्रदेश के पश्चिमी इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी है। पूर्वी राजस्थान में भी दक्षिण पश्चिमी मानसून सक्रिय होने के कारण 28 जुलाई तक भारी बारिश की संभावना जताई है।

दिल्ली में दो दिन बारिश, फिर बढ़ेगा पारा

दिल्ली में जारी बारिश की वजह से मौसम खुशनुमा बना हुआ है। इस वजह से लोगों को गर्मी के साथ ही उमस से राहत मिली हुई है, लेकिन दो दिन बाद फिर दिल्ली वालों को गर्मी के साथ ही उमस सता सकती है। मौसम विभाग की तरफ से जारी पूर्वानुमान के अनुसार शनिवार को जहां हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है, जबकि रविवार को हल्की बारिश होने का अनुमान है। इसके साथ ही अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी होना शुरू हो जाएगी। जिसमें दो दिनों में चार डिग्री तक की बढ़ोतरी हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार को दिल्ली के सफदरजंग केंद्र में 7.4 मिमी बारिश दर्ज की गई, इस वजह से अधिकतम तापमान 32.5 डिग्री रहा है। जो सामान्य से 2 डिग्री कम है, तो वहीं गुरुवार को दर्ज अधिकतम तापमान से 2 डिग्री अधिक रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि शनिवार को बारिश होने की वजह से तापमान में मामूली गिरावट दर्ज की जा सकती है, लेकिन इसके बाद तापमान में बढ़ोतरी होना शुरू हो जाएगा, जिसके चलते अधिकतम तापमान सोमवार तक 35 डिग्री के पार पहुंच सकता है।

उत्तरप्रदेश में मानसून फिर सक्रिय 
उत्तर प्रदेश में मानसून फिर पूरी तरह सक्रिय है। पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य के अनेक हिस्सों में बारिश हुई।  शुक्रवार को लखनऊ का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहा। पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के ज्यादातर स्थानों पर बारिश हुई।  बरेली में सबसे ज्यादा 13 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई। इसके अलावा बर्डघाट और मौदहा में 12-12, कायमगंज और मेरठ में 10-10, बांदा में नौ, करछना, कासगंज और अतरौली में सात-सात सेंटीमीटर वर्षा रिकार्ड की गई।

बिहार में नदियां खतरे के निशान के ऊपर
बिहार के जलग्रहण क्षेत्रों में गुरुवार को हुई भारी बारिश के बाद उत्तर बिहार की नदियां फिर खतरे के निशान से ऊपर बह रही है, जिससे बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है। बाढ़ का पानी नए क्षेत्रों में प्रवेश कर रहा है। बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले में भी गुरुवार को बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है। उधर, गया से गुजर रही मानसून टर्फ की वजह से शुक्रवार को दक्षिण बिहार के कई जिलों सहित अन्य हिस्सों में बारिश दर्ज की गई। शुक्रवार को आरा, बक्सर, छपरा, सीवान सहित आसपास के इलाके में झमाझम बारिश हुई । वहीं पटना में दोपहर बाद 6.4 मिमी बारिश हुई।  हालांकि इस बारिश का खास असर अधिकतम तापमान पर नहीं हुआ।

खराब मौसम ने अमरनाथ यात्रा रोकी
जम्मू से कश्मीर के लिए रवाना होने वाली अमरनाथ यात्रा शुक्रवार को खराब मौसम की वजह से शुक्रवार को रोक दी गई। इस साल यात्रा शुरू होने के बाद से यह तीसरा मौका है, जब अमरनाथ यात्रा रोकी गई है।एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि जम्मू कश्मीर राजमार्ग पर बृहस्पतिवार को भारी बारिश हुई। यह देर रात तक लगातार जारी थी। इसके कारण अमरनाथ यात्रा को निलंबित करने का फैसला लिया गया। उधर, कश्मीर घाटी को लद्दाख से जोड़ने वाला 434 किलोमीटर लंबा श्रीनगर-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग बारिश के बाद भूस्खलन की वजह से शुक्रवार को दूसरे दिन बंद रहा। यातायात पुलिस के एक अधिकारी ने  बताया कि राजमार्ग को कल दोपहर बाद कुछ घंटों के लिए ही बंद किया गया था, लेकिन फिर भूस्खलन होने की वजह से इसे दोबारा बंद करना पड़ा।

महाराष्ट्र : तीन जिलों में अलर्ट जारी
मौसम विभाग ने शुक्रवार को महाराष्ट्र के तीन जिलों रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। वहीं अगले 24 घंटों में मुंबई, ठाणे और नवी मुंबई में भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान जताया है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि मुंबई, ठाणे और रायगढ़ जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। जबकि पालघर जिले के छिटपुट इलाकों में भारी बारिश का अनुमान है।

गुजरात में 29 जुलाई को भारी बारिश 
गुजरात में मौसम विभाग ने 29 जुलाई को भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।   मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जयंत सरकार ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव क्षेत्र बनने के आसार हैं। इसके प्रभाव से गुजरात में अगले दो दिन तक भारी और तीसरे दिन अत्यधिक भारी बारिश हो सकती है। राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान 30 जिलों के 133 तालुका में बारिश हुई। इसमें सबसे अधिक 294 मिमी बारिश डांग जिले के वघई में हुई। राज्य में अब तक औसत बारिश 30.74 प्रतिशत दर्ज की गई। दक्षिणी गुजरात और सौराष्ट्र में शुक्रवार को भी बारिश जारी रही।

राजस्थान : जयपुर सहित कई जिलों में मूसलाधार बारिश
राजस्थान में दक्षिण पश्चिमी मानसून सक्रिय होने के कारण सीकर, दौसा, जयपुर और झुंझुनूं सहित अनेक स्थानों पर जमकर बारिश हुई। शुक्रवार सुबह से दोपहर तक जयपुर में 84 मिलीमीटर, ओर दौसा में 83 मिमी बारिश हुई। जबकि बृहस्पतिवार रात से दोपहर तक झुंझुनूं में 140 मिलीमीटर और सीकर में 127.6 बारिश दर्ज की गई। राजधानी जयपुर में भी सुबह से ही तेज बारिश होती रही।  मौसम विभाग ने राज्य के बांरा, झुंझुनूं, सीकर और चूरू जिलों में भी मूसलाधार बारिश होने की संभावना जताई है।

पटियाला और संगरूर में हालात बिगड़े
बठिंडा और पटियाला पहले से जलभराव की मार झेल रहे हैं। पटियाला और संगरूर जिलों में सबसे ज्यादा हालत खराब हुई। घग्धर दरिया के तटबंध टूट जाने की वजह से यहां के कई गांवों में लोग बेघर हो चुके हैं। फसलें डूब चुकी हैं। मौसम विभाग के भारी बारिश की संभावना जताने के बाद प्रशासन अलर्ट पर है। राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है। मौसम विभाग के चंडीगढ़ केंद्र के अनुसार जालंधर, नवांशहर, पठानकोट, गुरदासपुर, लुधियाना, पटियाला, फतेहगढ़ साहिब हाई अलर्ट पर हैं।

छत्तीसगढ़ के 20 जिलों पर सूखा 
रायपुर| छत्तीसगढ़ में अच्छी मानसूनी वर्षा न होने के कारण 20 जिलों पर सूखे की छाया मंडराने लगी है। सरकारी आंकड़े बताते हैं कि राज्य के 27 जिलों में से सिर्फ सात जिलों- सूरजपुर, कोरिया, गरियाबंद, धमतरी, बस्तर, नारायणपुर और कोंडागांव ही ऐसे हैं, जहां सामान्य वर्षा दर्ज की गई है। वहीं बाकी 20 जिलों में बारिश सामान्य से कम है। रायपुर, बलौदाबाजार, दुर्ग, राजनांदगांव, बेमेतरा और कांकरे जिले तो ऐसे हैं, जहां अति अल्पवृष्टि हुई है।

ओडिशा :  दूसरी दिन भी जमकर बरसे बदरा 
ओडिशा के कई हिस्सों में शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन भी बारिश हुई। मौसम विभाग ने अगले दो दिनों में भी कई इलाकों में भारी बारिश का अनुमान जताया है।  एक अधिकारी ने कहा कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवाती गतिविधियों और मानसून की सक्रियता से बारिश हो रही है। राज्य के कई इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश या गरज के साथ छींटे पड़े हैं। सुंदरगढ़, केंझार, अंगुल, देवरिया और संबलपुर समेत कई जिलों के कुछ इलाकों में शनिवार को भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0