Lockdown में नहीं चली ट्रेनें, फिर भी Railway ने कमाया ज्यादा राजस्व, जानिए कैसे

Lockdown में नहीं चली ट्रेनें, फिर भी Railway ने कमाया ज्यादा राजस्व, जानिए कैसे  Lockdown में नहीं चली ट्रेनें, फिर भी Railway ने कमाया ज्यादा राजस्व, जानिए कैसे jhyg

Lockdown में नहीं चली ट्रेनें, फिर भी Railway ने कमाया ज्यादा राजस्व, जानिए कैसे mr bika fb post

उत्तर पश्चिम रेलवे (North Western Railway) के जयपुर मंडल ने पिछले साल की तुलना में इस बार साढे 8 महीने में ही राजस्व प्राप्त किया है. ये जयपुर मंडल रेलवे की कोरोना काल में एक विशेष उपलब्धि प्राप्त की है. इस उपलब्धि के लिए जयपुर मंडल रेलवे के अधिकारियों और कर्मचारियों में खुशी जता रहे हैं. रेलवे के अधिकारियों की माने तो जयपुर मंडल डीआरएम मंजूषा जैन के नेतृत्व में ये उपलब्धि प्राप्त की है. हालांकि कोरोना, लाॅकडाउनऔर अनलाॅकडाउन में यात्री संख्या कम होने के चलते मालभाडा बढाकर राजस्व को कम नहीं होने दिया.

Lockdown में नहीं चली ट्रेनें, फिर भी Railway ने कमाया ज्यादा राजस्व, जानिए कैसे prachina in article 1

उत्तर पश्चिम रेलवे के जयपुर मंडल रेलवे ने पिछले साल की तुलना में इस साल रेवन्यू साढे 8 महीने में पूरा कर उपलब्धि प्राप्त की है. माल भाडा में जयपुर मंडल ने पिछले साल साढे 8 महीने में 275 करोड़ रूपए की आय प्राप्त की थी, लेकिन इस साल वैश्विक महामारी कोरोना के चलते भी जयपुर रेलवे ने इस साल में साढे 8 महीने में 385 करोड रूपए की आय प्राप्त की है. ये आय पिछले पूरे साल 375 करोड़ रूपए से ज्याद आय प्राप्त की हैै, जबकि जयपुर मंडल की कुल आय की तुलना में इस साल कुछ पीछे है. क्योंकि जयपुर मंडल पर 70 से 75 प्रतिशत हिस्सा काॅच ट्रेनों के चलने से आय होती है.

काॅच ट्रेने लाॅक डाउन में बंद होने के कारण अनलाॅकडाउन में धीरे धीरे ट्रेनों की संख्या बढाने लेंगे. जयपुर स्टेशन पर प्रतिदिन 80 ट्रेनों का संचालन होने लगा है. पूरा कैटरिंग स्टाॅल्स,पूरी पैसेंजर के आवागमन भी खोल भी दिया गया है. पहले की तरह जयपुर रेलवे स्टेशन पर माहौल से बनने लगाा है. स्टेशन पर यात्रियों को कोरोना गाइडलाइन की पालना में सोशल डिस्टेंसिंग की पालना के साथ प्रवेश दिया जा रहा है. अब स्टेशन पर भीड़ बढ़ने लगी है. आने वाले नए साल में भी कुछ और नई ट्रेने चलाया जा सकता है, जो कि यात्रियों की स्ट्रेंथ देखकर बढा दिया जाएगा.

अब जयपुर रेलवे स्टेशन पर 80 ट्रेनों का आवागमन होने से कुछ ऐसी शिकायतें भी मिल रही है कि कुछ युवा वर्ग में सीनियर सिटीजन की टिकट लेकर ट्रेनों में यात्रा कर रहे हैं. ऐसी शिकयते मिलने से जयपुर मंडल की वाणिज्य शाखा ने विशेष सुपरवाइजर और अधिकारियों की विशेष टीम गठित की है. ये टीम जयपुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों और सेक्शन में जाकर टिकट चैकिंग कर रही है, ताकि ये पता चल सके किस ट्रेन में ऐसी गतिविधिया चल रही या नहीं, जिससे रेलवे को घाटा होने से बचाया जा सके. कुछ स्टेशनों पर ट्रेनों के ठहराव नहीं होने से चेन पुलिंग होने की घटना भी सामने आ रही है. इसको रोकने के लिए भी रेलवे सुरक्षा बल के साथ मिलकर एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है, जिससे ट्रेनों के चेन पुलिंग होने से रोका जा सके.

कोरोना महामारी के चलते यात्रियों का सफर में संख्या कम देखी जा रही है. ऐसे में रेलवे के सामने रेवन्यू जनरेट करना एक चेतावनी बन गई थी.ज यपुर रेलवे प्रशासन ने माल भाडा ट्रेनों की स्पीड बढाकर ट्रेनों की संख्या भी बढाई गई, जिससे जयपुर से मालभाडा का आवागमन ज्यादा से ज्यादा कर पिछले साल की तुलना में इस साल साढे 8 महीने में 385 करोड का रेवन्यू प्राप्त कियाा है जोकि पिछले साल की तुलना में ज्यादा है. इसके लिए जयपुर मंडल डीआरएम ने सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दी है.

COMMENTS