राजस्थानबीकानेर

19 वां निःशुल्क यज्ञोपवीत कार्यक्रम में 104 बटुकों का हुआ उपनयन संस्कार

आचार्य महानंद वैदिक यज्ञ समिति के तत्वावधान में महानंद जी मंदिर परिसर में 19 वां निःशुल्क यज्ञोपवीत कार्यक्रम आयोजित किया गया । समिति के दाऊ लाल कल्ला ने बताया कि इस बार 104 बटुकों का उपनयन संस्कार संपन्न हुआ । 16 संस्कारों में शामिल उपनयन संस्कार द्विज करण की विशिष्ट प्रक्रिया है । इस विशिष्ट संस्कार में आज गणेश , शोडष मातृका , ब्रह्मा , नवग्रह , वेद माता गायत्री माता पूजन किया गया । अरणीमंथन से अग्नि प्राकट्य – अग्नि देवता का पूजन करने के साथ ही हवन आरंभ किया गया । यज्ञाचार्य पंडित नथमल जी पुरोहित के द्वारा नव विप्र जनों को यज्ञोपवीत एवं गुरु मंत्र दिया गया । तेजकरण व्यास , गणेश आचार्य एवं महेश आचार्य द्वारा देवताओं का पूजन किया गया । किशन पुरोहित के नेतृत्व में अमरचंद आचार्य , गौरी शंकर चूरा , नारायण पुरोहित , रोहित आचार्य , विजय आचार्य , अमित आचार्य , नमामि शंकर आचार्य, माधव बिस्सा, प्रेम रतन भादाणी एवं शुभम व्यास पिछले कई दिनों से कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु जुटे हुए थे । समिति के गणेश आचार्य ने कार्यक्रम में पधारे हुए सभी बटुकों एवं उनके परिजनों के सहयोग हेतु धन्यवाद ज्ञापित किया एवं मायरा , देराड़ी एवं प्रीतिभोज न करने की पुनः अपील भी की । रविंद्र आचार्य ने निवेदन किया कि यज्ञोपवीत के पश्चात सभी बटुक अपने कुलगुरु से आशीर्वाद लेने अवश्य जावे । पवन जोशी ने बताया कि गुरु जी के सानिध्य में पिछले कई वर्षों से यह कार्यक्रम निशुल्क किया जा रहा है , जिसमें हमारी वैदिक परंपराओं को अक्षुण्ण रखते हुए बिना किसी आर्थिक अपव्यय के 1300 से अधिक बटुकों का उपनयन संस्कार किया जा चुका है ।

What's your reaction?