बीकानेर

बीकानेर में चलेगा शुद्ध के लिए युद्ध अभियान , सूचना देने वाले को 51 हजार रुपए का ईनाम

बीकानेर। दीपावली के मद्देनजर आम उपभोक्ताओं को शुद्ध खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से जिले में शुद्ध के लिए युद्ध का विशेष अभियान चलाया जाएगा। जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने बुधवार को अभियान से जुड़े विभागों और समिति सदस्यों की बैठक ली तथा त्योहारी सीजन को देखते हुए सतत कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग मुखबिर तंत्र को विकसित करें तथा संदेह वाले प्रतिष्ठानों पर बोगस ग्राहक भेजकर कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि उपखंड स्तर के अधिकारियों को मुस्तैद रखा जाए तथा पुलिस द्वारा सख्ती के साथ कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि विशेष अभियान के दौरान दूध, मावा, पनीर, मिठाइयां, खाद्य तेल और घी के अधिक से अधिक सैंपल लिए जाएं। इसके लिए शहर और अन्य तहसील क्षेत्रों में कार्रवाई का टाइम टेबल निर्धारित किया जाए। उन्होंने कहा कि अभियान की अवधि में खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वाले उत्पादकों की सूचना देने वाले मुखबीर को ‘अनसेफ फूड’ प्रमाणन पर 51 हजार रुपए तथा ‘सब स्टैंडर्ड’ होने पर 5 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। उन्होंने कहा कि चालान के साथ प्रोत्साहन राशि का आधा हिस्सा सूचना देने वाले को दिया जाएगा।जिला कलेक्टर ने कहा कि एफएसएसएआई द्वारा जारी प्रमाण पत्रों का डिस्प्ले प्रत्येक व्यवसायिक संस्थान पर होना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति मिलावट की सूचना हेल्पलाइन नंबर 181 पर दे सकता है। सूचना देने वाले की पहचान गोपनीय रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि अभियान का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए तथा सैंपलिंग के दौरान नॉर्म्स की पूर्ण पालना की जाए। उन्होंने कहा कि औद्योगिक और उपभोक्ता संगठन भी इस अभियान में भागीदारी निभाएं, जिससे आमजन को शुद्ध खाद्य सामग्री मिल सके।
शुद्ध के लिए युद्ध अभियान की प्रगति
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मोहम्मद अबरार पंवार ने बताया कि 1 जनवरी से 12 अक्टूबर तक एफएसएस एक्ट के तहत 360 निरीक्षण कर 364 सैंपल लिए गए। इनमें 83 नमूने सब स्टैंडर्ड, मिस ब्रांड, अनसेफ पाए गए। उन्होंने कहा कि विशेष अभियान के तहत इस संख्या में इजाफा क्या जाएगा। इस दौरान अतिरिक्त जिला कलेक्टर (प्रशासन) ओम प्रकाश, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखविंदर पाल सिंह, जिला रसद अधिकारी भागूराम महला, महिला एवं बाल विकास की उपनिदेशक शारदा चौधरी, उपखंड अधिकारी अशोक कुमार बिश्नोई, उप विधि परामर्शी नटवर लाल आचार्य, बीकानेर जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष डीपी पचीसिया, खाद्य सुरक्षा अधिकारी भूराराम गोदारा, उपभोक्ता संरक्षण एवं सुरक्षा समिति के योगेश पालीवाल, नरसिंह दास व्यास, विमला चौहान आदि मौजूद रहे।

What's your reaction?