जलदाय मंत्री डाॅ. बी. डी. कल्ला ने शहरवासियों को दी बड़ी सौगात

 जलदाय मंत्री डाॅ. बी. डी. कल्ला ने शहरवासियों को दी बड़ी सौगात

बीकानेर। जलदाय मंत्री डाॅ. बी. डी. कल्ला ने रविवार को बंगलानगर, मुरलीधर व्यास नगर और करमीसर में नवनर्मित उच्च जलाशयों का वर्चुअल उद्घाटन कर शहर वासियों को बड़ी सौगात दी।
राजीव गांधी आईटी सेंटर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान डाॅ. कल्ला ने कहा कि प्रत्येक शहरवासी को गुणवत्तायुक्त पेयजल उपलब्ध करवाना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। पिछले ढाई वर्षों से इस दिशा में सतत कार्य किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि शहर की वर्ष 2052 तक की पेयजल आवश्यकता को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा 429.10 करोड़ की पेयजल योजना को तकनीकी मंजूरी दे दी गई है। इसके तहत दो स्वच्छ जलाशय और 15 से अधिक उच्च जलाशय सहित पाइपलाइन, पेयजल शोधन संयंत्र आदि बनाए जाएंगे। इनके लिए भूमि आवंटन की प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी गई है।
डाॅ. कल्ला ने बताया कि ‘हर घर नल कनेक्शन’ योजना के तहत 20 लाख से अधिक घरों में स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवा दिया गया है। वर्ष 2024 तक सभी एक करोड़ से अधिक घरों तक यह सुविधा मुहैया करवाए जाने का लक्ष्य है। उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्र में परम्परागत जल स्त्रोतों के संरक्षण की दिशा में भी कार्य किया जा रहा है। बीकानेर पूर्व और पश्चिम विधानसभा क्षेत्रों में आवश्यकता के अनुसार अधिक से अधिक नए नलकूप बनाए जाएंगे, जिससे नहरबंदी जैसी विषम परिस्थितियों में पेयजल उपलब्धता का संकट नहीं रहे।
जलदाय मंत्री ने बूंद-बूंद पानी की बचत का आह्वान किया तथा कहा कि राजस्थान में जल संरक्षण की समृद्ध परम्परा रही है। यहां के लोग पानी की कीमत जानते हैं। उन्होंने कहा कि किसान भी कम पानी वाली फसलें लें तथा बूंद-बूंद अथवा फव्वारा सिंचाई पद्धति अपनाएं। जलदाय मंत्री ने कहा कि शहरी क्षेत्र में तीन नए उच्च जलाशय बनने से लगभग 25 हजार उपभोक्ताओं को सीधा लाभ होगा। अंतिम छोर तक पर्याप्त पेयजल पहुंच सकेगा।
जिला कलक्टर नमित मेहता ने कहा कि 429 करोड़ की पेयजल योजना से संबंधित सभी प्रशासनिक कार्यवाही प्राथमिकता से की जाएगी, जिससे यह कार्य शीघ्र प्रारम्भ हों और आमजन को इनका भरपूर लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि आमजन की पेयजल से संबंधित सभी समस्याओं का प्राथमिकता से समाधान के प्रयास किए जाते हैं। सभी अधिकारियों को ऐसी शिकायतों पर त्वरित कार्यवाही के निर्देश दिए गए हैं।
जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग के अतिरिक्त मुख्य अभियंता अजय शर्मा ने बताया कि बंगला नगर का उच्च जलाशय 1750 किलो लीटर क्षमता का है तथा इसके निर्माण पर 625.89 लाख रुपये व्यय हुए हैं। इसी प्रकार 1750 किलोलीटर क्षमता वाले मुरलीधर व्यास नगर के नवनिर्मित उच्च जलाशय पर 310.94 लाख तथा करमीसर क्षेत्र के 500 किलोलीटर क्षमता के उच्च जलाशय तथा 200 किलोलीटर क्षमता के स्वच्छ जलाशय पर 97.72 लाख रुपये व्यय हुए हैं। अधीक्षण अभियंता दीपक बंसल ने आभार जताया।
तीनों स्थानों पर मौजूद रहे स्थानीय लोग
इस दौरान जलदाय मंत्री डाॅ. कल्ला ने तीनों उच्च जलाशयों का उद्घाटन किया। मुरलीधर व्यास नगर, करमीसर और बंगलानगर के नवनिर्मित उच्च जलाशय स्थल पर स्थानीय नागरिक मौजूद रहे तथा वर्चुअल प्लेटफाॅर्म पर मुख्य कार्यक्रम से जुड़े। मुरलीधर व्यास नगर से योगेश बिस्सा, बंगला नगर से हसन गौरी तथा करमीसर से नफीस ने कहा कि इन उच्च जलाशयों के निर्माण से उनकी वर्षों पुरानी आवश्यकता की पूर्ति हो सकेगी। इसके लिए उन्होंने जलदाय मंत्री का आभार जताया।
इस अवसर पर राजीव गांधी सेवा केन्द्र में अतिरिक्त कलक्टर (नगर) अरुण प्रकाश शर्मा, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, नगर निगम आयुक्त एएच गौरी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. ओ.पी. चाहर तथा सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के संयुक्त निदेशक सत्येन्द्र सिंह राठौड़ आदि मौजूद रहे।

S.N.Acharya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page