कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने पर क्या करना चाहिए ?

कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने पर क्या करना चाहिए ?  कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने पर क्या करना चाहिए ? covsankramit

कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है. ऐसे में सावधानी बरतना बहुत जरूरी है. हम बता रहे है कि यदि आप किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ गए हैं तो आपको क्या करना चाहिए. आपको सबसे पहले खुद को आइसोलेशन में रखना चाहिए. इससे संक्रमण दूसरे लोगों तक नहीं पहुंचेगा. किसी तरह का लक्षण दिखने पर आपको अपनी जांच करानी चाहिए. मेडिकल मदद लेने के लिए यदि आप बाहर जा रहे हैं, तो मास्क जरूर पहनें. लोंगों से कम के कम एक मीटर की दूरी बना कर रखें. अपने हाथों से किसी भी चीज को न छुएं.

आपको निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए:

सेल्फ आइसोलेशन में जाएं. बीमार होने या हल्के लक्ष्ण दिखाई ने पर ही ऐसा कर लें.

यदि आपको लगता है कि आप कोविड-19 संक्रमित शख्स की जद में नहीं आए हैं और फिर भी लक्षण नजर आते हैं, तो खुद को क्वारंटीन करे और अपनी लक्षणों की निगरानी करें.

शुरुआती दौर में इस बीमारी के फैलने और दूसरे लोगों को संक्रमित करने आसार अधिक होते हैं. इसलिए जरूरी है कि शुरुआती दौर में ही खुद को सेल्फ आइसोलेट कर लिया जाए.

यदि आपको लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं और आप पुख्ता तौर पर कोविड-19 संक्रमित शख्स के संपर्क में आएं हैं, तो आपके लिए खुद को क्वारंटीन करना जरूरी है.

यदि आपक मेडिकल रूप से कोवि-19 संक्रमण का शिकार हो गए हैं या रहें, तो भी जरूरी है कि लक्ष्ण खत्म होने के बाद भी आप खुद को बचाव के नजरिए से 14 दिनों तक आइसोलेशन में रखें क्योंकि अभी तक यह साफ नहीं है कि रिकवरी के बाद भी लोगों में इंफेक्शन कितने दिनों तक बने रह सकता है

क्या हैं लक्षण :

लगातार खांसी का आना- इस कारण लगातार खांसी हो सकती है यानी आपको एक घंटे या फिर उससे अधिक वक्त तक लगातार खांसी हो सकती है और 24 घंटों के भीतर कम से कम तीन बार इस तरह के दौरे पड़ सकते हैं. लेकिन अगर आपको खांसी में बलग़म आता है तो ये भी चिंता की बात हो सकती है.

बुख़ार- इस वायरस के कारण शरीर का तापमान 37.8 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ सकता है जिस कारण व्यक्ति का शरीर गर्म हो सकता है और उसे ठंडी महसूस हो सकती है.

गंध और स्वाद का पता नहीं चलना- विशेषज्ञों का कहना है कि बुख़ार और खांसी अब भी वायरस के वो संभावित महत्वपूर्ण लक्षण हैं जिन्हें नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए.

ऐसे में अगर आप या आप जिन लोगों के साथ रहते हों उनमें किसी में ये लक्षण हों तो उन्हें घर में ही खुद को सेल्फ़ आइसोलेट करना चाहिए ताकि यह संक्रमण दूसरों तक नहीं पहुंचे.

अमरीकी सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन (सीडीसी) के मुताबिक ठंड लगना, कंपकंपी महसूस होना, मासंपेशियों में दर्द और गले में खराश होना भी कोरोना वायरस की चपेट में आने के संकेत हो सकते हैं.

माना जा रहा है कोरोना वायरस के लक्षण दिखना शुरु होने में औसतन पांच दिन का वक्त लग सकता है लेकिन कुछ लोगों में ये वक्त कम भी हो सकता है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार वायरस के शरीर में पहुंचने और लक्षण दिखने के बीच 14 दिनों तक का समय हो सकता है.

COMMENTS