क्या 1 फरवरी से दौड़ेंगी सारी पैसेंजर ट्रेनें? जानें वायरल मैसेज की सच्चाई

क्या 1 फरवरी से दौड़ेंगी सारी पैसेंजर ट्रेनें? जानें वायरल मैसेज की सच्चाई  क्या 1 फरवरी से दौड़ेंगी सारी पैसेंजर ट्रेनें? जानें वायरल मैसेज की सच्चाई 1fabuary

क्या 1 फरवरी से दौड़ेंगी सारी पैसेंजर ट्रेनें? जानें वायरल मैसेज की सच्चाई mr bika fb post

नई दिल्ली: क्या 1 फरवरी 2021 से देश की सभी पैसेंजर, लोकल और यात्री ट्रेनों को चलाने का फैसला लिया गया है…? अगर आपने भी ऐसी कोई खबर पढ़ी है तो ध्यान दें कि इंडियन रेलवे की ओर से इस तरह की कोई भी जानकारी नहीं दी गई है. इन दिनों सोशल मीडिया (Social Media) पर इस तरह की कई खबरें तेजी से वायरल हो रही हैं. इस वायरल खबर की सच्चाई के लिए पीआईबी (PIB fact Check) की ओर से फैक्ट चेक किया गया है. आइए आपको बताते हैं इस खबर की सच्चाई क्या है…

क्या 1 फरवरी से दौड़ेंगी सारी पैसेंजर ट्रेनें? जानें वायरल मैसेज की सच्चाई prachina in article 1

पीआईबी ने इस खबर का फैक्ट चेक किया है और बताया कि यह खबर पूरी तरह से फेक है. रेलवे की ओर से ऐसी कोई भी घोषणा नहीं की गई है. रेलवे के पूर्व सीईओ वीके यादव ने दिसंबर में बताया था कि ट्रेनें सामान्य रूप से कब चलेंगी इस पर फैसला अभी तक नहीं हुआ है. इस पर मंत्रालय फैसला लेगा. जब भी कोई फैसला लिया जाएगा तो इस बारे में रेलवे की ओर से अधिकारिक जानकारी दी जाएगी.

PIB ने ट्वीट करके दी जानकारी

दावा: एक #Morphed तस्वीर में दावा किया जा रहा है कि रेलवे बोर्ड ने 1 फरवरी 2021 से सभी पैसेंजर ट्रेन, लोकल ट्रेन और यात्री स्पेशल ट्रेन चालू करने का ऐलान किया है.

PIBFactCheck: पीआईबी ने बताया कि यह दावा फर्जी है. रेलवे मिनिस्ट्री की ओर से ऐसी कोई घोषणा नहीं की है.

PIBFactCheck  क्या 1 फरवरी से दौड़ेंगी सारी पैसेंजर ट्रेनें? जानें वायरल मैसेज की सच्चाई PIB Fact check

आपको भी मिले कोई मैसेज तो करवा सकते हैं फैक्ट चेक
अगर आपको भी कोई ऐसा मैसेज मिलता है तो फिर उसको पीआईबी के पास फैक्ट चेक के लिए https://factcheck.pib.gov.in/ अथवा वॉट्सऐप नंबर +918799711259 या ईमेलः [email protected] पर भेज सकते हैं. यह जानकारी पीआईबी की वेबसाइट https://pib.gov.in पर भी उपलब्ध है.

कोरोना काल में बढ़ रहीं फेक खबरें
कोरोना काल में देशभर में जिस तरह का हालात बने हुए हैं ऐसे में कई फेक खबरें तेजी से वायरल हो रही हैं. भारत सरकार की प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो ने वायरल खबर का खंडन करते हुए कहा है कि सरकार ने ऐसा कोई फैसला नहीं लिया है. सरकार ने भी कोरोना काल में इस तरह की फर्जी ख़बरों को फैलने से रोकने के लिए कई प्रयास किए हैं.

COMMENTS