मेघा द्वारा बनाई गई विश्व की सबसे बड़ी ड्रॉइंग पर हर्षाए “मेघ”

मेघा द्वारा बनाई गई विश्व की सबसे बड़ी ड्रॉइंग पर हर्षाए “मेघ”  मेघा द्वारा बनाई गई विश्व की सबसे बड़ी ड्रॉइंग पर हर्षाए “मेघ” megha 1

बीकानेर। लगातार 17 दिनों की कडी मेहनत से मेद्या हर्ष द्वारा तैयार की गई विश्व की सबसे बडी ड्रॉइंग की हौसाला अफजाई करने के लिए स्वयं मेघो बादलों ने बरसर कर अपनी उपस्थित दर्ज करवा कर दिया आर्शीवाद। बीकानेर की लाडली बेटी मेद्या हर्ष द्वारा पिछले 16 अक्टूबर से 70 गुणा 70 के कैनवास पर शुरूआत की गई विश्व की सबसे बड़ी ड्रॉइंग बनाने के काम का शनिवार को समापन समारोह के साथ सम्पन्न हुआ।

कार्यक्रम संयोजक डाॅ. चन्द्रशेखर श्रीमाली ने बताया कि विश्व की सबसे बडी ड्रॉइंग बनाकर गिनीज बुक आॅफ वल्र्ड रिकाॅर्ड के लिए अग्रसित मेद्या हर्ष ने ड्रॉइंग में पर्यावरण, स्वास्थय, जल संरक्षण, वूमेन संरक्षण जैसे कई थीम को शामिल करते हुए इसे पूरा किया तथा इसे विश्व रिकाॅर्ड में दर्ज करने के लिए पेश किया। इस उपलक्ष में स्थानीय बीबीएस स्कूल में आयोजित समापन समारोह में मुख्य अतिथि बीकानेर रेलवे डीआरएम संजय कुमार श्रीवास्तव, विशिष्ट अतिथि राज्य अभिलेखाकार के निदेशक डाॅ. महेन्द्र खड़गावत, स्काउट गाइड की राष्ट्र्ीय उपाध्यक्ष प्रो. विमला डुकवाल, राष्ट्र्पति पुरस्कार प्राप्त चित्रकार महावीर स्वामी बीबीएस स्कूल के प्राचार्य फादर शिबु वर्गीश तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता ब्रहम गायत्री सेवाश्रम के अधिष्ठाता दाताश्री रामेश्वरानंद जी महाराज के आतिथ्य में सम्पन्न हुआ।

समारोह के प्रारम्भ में प्रेस फोटोग्राफर व कार्यक्रम सहयोगी मनीष पारीक ने सभी अतिथियों को स्वागत करते हुए मेघा के कार्य में सहयोग देने वाले सभी का आभार प्रकट किया ।

समारोह में मुख्य अतिथि डीआरएम संजय कुमार श्रीवास्वत ने कहा कि यह बीकानेर के लिए गौरव का क्षण है कि बीकानेर का नाम विश्व स्तर पर रोशन हो रहा है। उन्होंने मेघा को बधाई देते हुए कहा कि वह निरन्तर प्रगति करें और बुलंदियों को छुए। समारोह के विशिष्ट अतिथि प्रो. विमला डुकवाल ने कहा कि बेटी को आगे बढ़ते देख माता-पिता का आज जो प्रशंसा हो रही है वह अमूल्य है।

विशिष्ट अतिथि डाॅ. महेन्द्र खड़गावत ने कहा कि मेघा का यह रिकाॅर्ड बीकानेर के लिए एक अमिट छाप छोडेगा जो वर्षो-वर्ष याद रखा जाएगा और दूसरे इससे प्रेरणा लेगें। बीबीएस प्रिंसिपल फादर शिबू वर्गीश ने कहा कि बीकानेर के लिए मेघा ने एक लम्बी दूरी तय करने का कार्य किया है जिससे बीकानेर का नाम विश्व पटल पर आने वाला है। चित्रकार महावीर स्वामी ने कहा कि मेघा ने साबित कर दिया है कि कला के माध्यम से श्रेष्ठ उचाईयो को छू जा सकता है और सफलता प्राप्त की जा सकती हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए दाताश्री रामेश्वरानंद जी महाराज ने कहा कि जिस घर में बेटियों को सम्मान के साथ उनके लक्ष्य को पूरा करने में सहयोग देते है ऐसे परिवार साधुवाद के पात्र है। उन्होंने कहा कि मेघा ने लक्ष्य निर्धारित कर सफलता की ओर अग्रसर हुई है ऐसे ही सब युवाओ को लक्ष्य के साथ आगे बढ़ाना चाहिए सफलता निश्चित ही मिलेगी।

समारोह में रूपकिशोर व्यास, एनडी व्यास, बृजेन्द्र हर्ष, चित्रकार पृथ्वी आर्ट, शिवेश हर्ष आदि ने भी अपने विचार रखे। समारोह के दौरान सहयोग करने के लिए सभी सहयोगियों का अतिथियो ने अभिनंदन किया । इस अवसर पर मेघा ने विशेष सहयोग देने के लिए फीकी, पिनाकी, पीटीसी हेयर, हर्ष कंसल्टेंसी, सुर्दशना इलेक्ट्र्क्सि, प्रताप एण्ड प्रताप, फूडी देवता, मुकेश गोड़ फोटाग्राफर, बीबीएस प्राचार्य एवं स्टाफ, डाॅ. चन्द्रशेखर श्रीमाली, प्रेस फोटाग्राफर मनीष पारीक, फोटाग्राफर मुकेश पालीवाल कोे विशेष धन्यवाद देते हुए कहा कि बीकानेर के प्रत्येक नागरिक को जिसने मुझे प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष सहयोग दिया विशेष रूप से मीडियाजगत और बीकानेर के स्कूल आॅर काॅलेजो को जिसने हौसला अफजाई करने के लिए प्रत्येक दिन पधारे। इस अवसर पर मेघा के माता-पिता का विशेष सम्मान अतिथियों द्वारा किया गया वहीं सभी का धन्यवाद मेघा के दादा व नाना जी ने संयुक्त रूप से दिया। समारोह का संचालन डाॅ. चन्द्रशेखर श्रीमाली ने किया।

COMMENTS

WORDPRESS: 0