बीकानेर

मानसूनी फिजाओं में हुआ मानवता के लिए योग , योगमय हुआ बीकानेर

बीकानेर। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर एक ओर जहां लोग मानसून के आगमन पर खुष थे वहीं दूसरी ओर योग दिवस की शुभकामनाएं भी एक-दूसरे को दे रहे थे। समूचा शहर योग की गंगा में डुबकी विभिन्न स्थानों पर लगा रहा था। सोषल मीडिया के सजीव प्रसारण के साथ परिवार के साथ घर में भी लोग योग करते हुए नजर आए। योग गुरू दीपक शर्मा के नेतृत्व में शहर के विभिन्न स्थानों पर मानसूनी फिजाओं में ‘‘मानवता के लिए योग’’ की थीम के तहत शहरवासियों ने योगाभ्यास किया। जिसमें जवाहर पार्क, डागा पैलेस, हरिषचंन्द्र लोक माथुर प्रषिक्षण संस्थान (ओटीएस), आनन्दम योग एवं ध्यान केन्द्र में योग प्रोटोकाॅल का अभ्यास हुआ जिसमें वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ योग एवं भारतीय संस्कृति की धाराएं एक साथ बहती दिखाई दी जहां सरकारी कार्मिक-अधिकारी, षिक्षक, विद्यार्थियों एवं शहरवासियों ने सामूहिक योगाभ्यास किया।

योग गुरू दीपक शर्मा ने कहा कि नियमित योग एवं प्राणायाम के अभ्यास से शरीर, मन एवं आत्मा के मध्य समन्वय स्थापित होने के साथ ही हमारी कार्यकुषलता में वृद्धि होती है योग को हमें अपनी दैनिक जीवनचर्या में शामिल करना चाहिए। योग दिवस पर योग षिक्षक गोविन्द ओझा ने बताया कि योग से हमारे संपूर्ण जीवन का सर्वांगीण विकास होता है।

स्थानीय लाली माई पार्क में सैकड़ो योग साधकों के साथ धूम धाम मनाया विश्व योग दिवस

आठवां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस स्थानीय लाली माई पार्क में डॉक्टर पन्नालाल पुरोहित स्मृति संस्थान व अंतराष्ट्रीय योग विज्ञान शोध अकादमी के संयुक्त तत्वावधान में योग प्रशिक्षक भुवनेश पुरोहित के सानिध्य में सैकड़ों योग साधकों की मौजूदगी में हर्षाेल्लास से मनाया गया। 1 जून से चल रहे 21 दिवसीय शिविर का समापन बच्चों को प्रशस्ति पत्र एवं मेडल देकर किया गया। आज के कार्यक्रम के मुख्य अतिथि शिवबाड़ी मठ के अधिष्ठाता श्री विमर्शानंद जी महाराज, विशिष्ट अतिथि उद्योगपति राजेश चूरा एवं भाजपा नेता गोकुल जोशी थे। कार्यक्रम सुबह 5.45 से शुरू होकर 7.30 तक चला।

मुख्य अतिथि विमर्शानंद जी महाराज ने कहा कि योग का कभी समापन नहीं होता, योग आत्मा को परमात्मा से मिलाने का एक माध्यम है व योग के द्वारा अपने अंदर उत्पन्न होने वाले नकारात्मक विकारों को दूर किया जा सकता है।

विशिष्ट अतिथि उद्योगपति राजेश चूरा ने कहा कि शहर के मध्य भाग में इस तरह के कैम्प लगाने से सभी शहरवासी इससे लाभान्वित हो रहे हैं, जो कि अपने आप में प्रेरणादायक है।

विशिष्ट अतिथि गोकुल जोशी ने इस योग शिविर को सफल बताया तथा शिविर में उपस्थित प्रतिभागियों के उज्जवल भविष्य की कामना की।

आज के आयोजन में क्रीड़ा भारती बीकानेर, एएसजी हॉस्पिटल, मास्टर उदय क्लब फुटबॉल समिति, बीकानेरी फैशन कलाकार समिति के कार्यकर्ताओं ने लाली माई पार्क में योग किया। कार्यक्रम के पश्चात बच्चों को मेडल एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किए गए। कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु सुनीलम, यशोवर्धिनी,  उदय व्यास,  वेद प्रकाश, डॉ मोना सरदार डूडी ने पूरा सहयोग किया।

वेटरनरी विश्वविद्यालय में मनाया अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस

वेटरनरी विश्वविद्यालय में आठवां अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस मंगलवार को मनाया गया। ‘मानवता के लिये योग‘ विषय पर आयोजित योग दिवस पर कुलपति प्रो. सतीश के. गर्ग ने सम्बोधित करते हुए कहा कि योग एवं प्राणायाम का भारत में आदि काल से प्रचलन है हमारे ऋषि मुनि संयमित जीवन एवं योग क्रियाओं से दीर्घायु जीवन जीते थे। आज के भागदौड़ के जीवन में योग एवं प्राणयाम की प्रासंगिकता और बढ़ जाती है। जहां युवा योग एवं प्राणायाम की मदद से हाइपरटेंशन एवं अन्य बीमारियों के प्रभावों से बच सकते है अतः योग एवं प्राणायाम को नियमित दिनचर्या का हिस्सा बनाकर हम अपने आप को स्वस्थ रख सकते हैं। योग प्रशिक्षक श्री सुरेश गुप्ता ने विभिन्न योग मुद्राओ एवं प्राणायाम का अभ्यास करवाया तथा विभिन्न योग मुद्राओं के लाभ बताये। उन्होने कहा कि नियमित योग एंव प्राणायाम से असाध्य रोगो से भी छुटकारा मिल सकता है। अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम का आयोजन अधिष्ठाता एवं संकाय अध्यक्ष प्रो. आर.के. सिंह के निर्देशन में डॉ. नीरज कुमार शर्मा एवं डॉ. अनिल बिश्नोई ने किया। इस दौरान डीन-डॉयरेक्टर, शैक्षणिक, अशैक्षणिक कर्मचारी एवं विद्यार्थी मौजूद रहे।

What's your reaction?