featuredदेशसरकारी योजनाएं

What is Atal Pension Yojana : अटल पेंशन योजना क्या है ?

What is Atal Pension Yojana

अटल पेंशन योजना – एक संक्षिप्त विवरण

अटल पेंशन योजना (एपीवाई) की शुरुआत 2015 में भारत सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए एक सामाजिक सुरक्षा योजना के रूप में की गई थी। यह एक परिभाषित लाभ योजना है जो रुपये की मासिक पेंशन प्रदान करती है। 1, 000 से रु। 60 वर्ष की आयु से अभिदाताओं को 5,000।

यह योजना 18-40 वर्ष के आयु वर्ग के सभी भारतीय नागरिकों के लिए खुली है। पेंशन लाभ प्राप्त करने के लिए अभिदाता न्यूनतम 20 वर्षों की अवधि के लिए मासिक योगदान करेंगे। इस योजना को पेंशन निधि नियामक और विकास प्राधिकरण द्वारा प्रशासित किया जाता है (PFRDA).

यह योजना अभिदाताओं को वृद्धावस्था में सामाजिक सुरक्षा प्रदान करेगी और परिवार के सदस्यों पर बोझ को कम करने में मदद करेगी। इससे वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने में भी मदद मिलेगी।

सरकार ने अभिदाता के योगदान का 50% (अधिकतम रु। 1, 000 प्रति वर्ष) उन लोगों के लिए जो 18 से 50 वर्ष की आयु के बीच योजना में शामिल होते हैं और जो किसी भी वैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजना के अंतर्गत नहीं आते हैं।

यह योजना स्वैच्छिक और पोर्टेबल है। ग्राहक 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने से पहले किसी भी समय योजना से बाहर निकल सकता है। बाहर निकलने के विकल्पों में संचित कोष की निकासी और वार्षिकी की खरीद शामिल है।

इस योजना में ‘एपीवाई-कॉमन मोबाइल पोर्टल’ के माध्यम से किसी भी बैंक खाते से अभिदाता के खाते में स्वतः डेबिट करने का प्रावधान है। अभिदाता डाकघरों के माध्यम से भी योगदान कर सकते हैं।

अटल पेंशन योजना के लिए पात्रता मानदंड

क्या है अटल पेंशन योजना?

अटल पेंशन योजना (एपीवाई) असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए एक पेंशन योजना है। इसे भारत सरकार द्वारा 2015 में शुरू किया गया था। यह योजना 18 से 40 वर्ष की आयु के सभी भारतीय नागरिकों के लिए खुली है। इस योजना के तहत, अभिदाताओं को एक लाख रुपये की गारंटीकृत न्यूनतम पेंशन मिलेगी। प्रति माह 1,000 रु. प्रति माह 2,000 रु. 3, 000 प्रति माह, रु। 4, 000 प्रति माह, या रु। 60 वर्ष की आयु से उनके योगदान के आधार पर प्रति माह 5,000।

अटल पेंशन योजना के लिए पात्रता मानदंड क्या हैं?

अटल पेंशन योजना के लिए पात्रता मानदंड निम्नलिखित हैंः

– आवेदक भारत का निवासी होना चाहिए।

अभिदाता की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

अभिदाता को किसी अन्य वैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजना का सदस्य नहीं होना चाहिए।

– अभिदाता का उस बैंक में बैंक खाता होना चाहिए जो योजना में भाग ले रहा है।

अटल पेंशन योजना के क्या लाभ हैं?

अटल पेंशन योजना के लाभ इस प्रकार हैंः

– यह योजना एक लाख रुपये की गारंटीकृत न्यूनतम पेंशन प्रदान करती है। प्रति माह 1,000 रु. प्रति माह 2,000 रु. 3, 000 प्रति माह, रु। 4, 000 प्रति माह, या रु। अभिदाता द्वारा किए गए योगदान के आधार पर 5,000 प्रति माह।

– 60 वर्ष की आयु से अभिदाता को पेंशन का भुगतान किया जाएगा।

– यदि अभिदाता की 60 वर्ष की आयु से पहले मृत्यु हो जाती है, तो अभिदाता के जीवनसाथी को पेंशन का भुगतान किया जाएगा। यदि अभिदाता का जीवनसाथी नहीं है, तो पेंशन का भुगतान अभिदाता के नामांकित व्यक्ति को किया जाएगा।

– पेंशन का भुगतान अभिदाता को किया जाएगा, भले ही वे सेवानिवृत्ति के समय कार्यरत न हों।

– यदि अभिदाता सेवानिवृत्ति के समय कार्यरत है, तो पेंशन नियोक्ता के वेतन के अतिरिक्त होगी।

यह योजना असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए एक व्यापक सामाजिक सुरक्षा प्रदान करती है।

अटल पेंशन योजना के लाभ
अटल पेंशन योजना (एपीवाई) असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए एक पेंशन योजना है जिसे भारत सरकार द्वारा 2015 में शुरू किया गया था। इसका प्रबंधन पेंशन निधि नियामक और विकास प्राधिकरण द्वारा किया जाता है। (PFRDA). इस योजना के तहत, अभिदाताओं को एक लाख रुपये की न्यूनतम गारंटीकृत पेंशन मिलेगी। 1000/- 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद प्रति माह।

यह योजना 18-40 वर्ष के आयु वर्ग के सभी भारतीय नागरिकों के लिए खुली है। कोई भी व्यक्ति जो किसी भी वैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजना का सदस्य नहीं है, वह इस योजना में शामिल होने का पात्र है। इस योजना को राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली के माध्यम से लागू किया जाएगा (NPS).

अभिदाताओं के पास रुपये से लेकर रुपये तक की अपनी पेंशन राशि चुनने का विकल्प होगा। 1000/- से रु। 5000/- प्रति माह। सरकार अभिदाता के योगदान का 50% या रु। 1000/- प्रति वर्ष, जो भी कम हो, प्रत्येक पात्र खाते में, 5 वर्षों की अवधि के लिए, यानी 2015-16 से 2019-20 तक।

यह योजना वृद्धावस्था में सामाजिक सुरक्षा प्रदान करेगी और परिवार के सदस्यों पर बोझ को कम करने में मदद करेगी। यह वृद्धावस्था के वित्तीय समावेशन को भी बढ़ावा देगा और भारत में एक पेंशन प्राप्त समाज के निर्माण में मदद करेगा।

अटल पेंशन योजना के कुछ प्रमुख लाभ इस प्रकार हैंः

1. गारंटीकृत पेंशनः इस योजना में एक लाख रुपये की न्यूनतम गारंटीकृत पेंशन प्रदान की जाती है। 1000/- प्रति माह। अभिदाता के पास रुपये से लेकर रुपये तक की अपनी पेंशन राशि चुनने का विकल्प होगा। 1000/- से रु। 5000/- प्रति माह।

2. सरकारी योगदानः सरकार भी अभिदाता के योगदान का 50%, या रु। 1000/- प्रति वर्ष, जो भी कम हो, प्रत्येक पात्र खाते में, 5 वर्षों की अवधि के लिए, यानी 2015-16 से 2019-20 तक।

3. सामाजिक सुरक्षाः यह योजना वृद्धावस्था में सामाजिक सुरक्षा प्रदान करेगी और परिवार के सदस्यों पर बोझ को कम करने में मदद करेगी। यह वृद्धावस्था के वित्तीय समावेशन को भी बढ़ावा देगा और भारत में एक पेंशन प्राप्त समाज के निर्माण में मदद करेगा।

अटल पेंशन योजना के लिए कैसे करें आवेदन
असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा कवर प्रदान करने के लिए भारत सरकार द्वारा 2015 में अटल पेंशन योजना (एपीवाई) शुरू की गई थी। यह योजना 18-40 वर्ष की आयु के बीच भारत के सभी नागरिकों के लिए खुली है। इस योजना के तहत, अभिदाताओं को एक लाख रुपये की न्यूनतम गारंटीकृत पेंशन मिलेगी। 1000/- 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर प्रति माह।

इस योजना को पेंशन निधि नियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) द्वारा प्रशासित किया जाता है और वर्तमान में इसका प्रबंधन छह प्रमुख पेंशन फंडों, अर्थात् एसबीआई पेंशन फंड्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा किया जाता है। एलआईसी पेंशन फंड्स लिमिटेड, आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल पेंशन फंड्स मैनेजमेंट कंपनी। लिमिटेड, एचडीएफसी पेंशन प्रबंधन कंपनी। , कोटक महिंद्रा पेंशन फंड लिमिटेड और यूटीआई रिटायरमेंट सॉल्यूशंस लिमिटेड।

योजना में शामिल होने के लिए, अभिदाताओं को मासिक रूप से रु। 55/- से रु। 200/-, उनके प्रवेश की आयु के आधार पर, न्यूनतम 20 वर्ष की अवधि के लिए। सरकार भी अभिदाता के योगदान का 50% योगदान करती है, जो अधिकतम रु। 1000/- प्रति वर्ष, प्रत्येक पात्र एपीवाई खाताधारक को।

अटल पेंशन योजना के लिए पात्रता मानदंड

18 से 40 वर्ष की आयु के बीच भारत के सभी नागरिक इस योजना में शामिल होने के पात्र हैं।

अटल पेंशन योजना के लाभ

इस योजना के तहत, अभिदाताओं को एक लाख रुपये की न्यूनतम गारंटीकृत पेंशन मिलेगी। 1000/- 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर प्रति माह। 60 वर्ष की आयु से पहले अभिदाता की मृत्यु के मामले में, अभिदाता का पति/पत्नी अभिदाता द्वारा प्राप्त पेंशन का 50% प्राप्त करने का पात्र होगा। यह पेंशन 70 वर्ष की आयु तक देय होगी।

अटल पेंशन योजना के लिए कैसे करें आवेदन

योजना को निम्नलिखित में से किसी भी चैनल के माध्यम से सदस्यता दी जा सकती हैः

1. बैंक-सभी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक, निजी क्षेत्र के बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक और सहकारी बैंक इस योजना के तहत नामांकन की सुविधा प्रदान कर रहे हैं।

2. डाकघर-मुख्य डाकघर और चयनित डाकघर भी इस योजना के तहत नामांकन की सुविधा प्रदान कर रहे हैं।

3. एनपीएस की उपस्थिति का बिंदु (पीओपी)

अटल पेंशन योजना पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न
क्या है अटल पेंशन योजना?

अटल पेंशन योजना (एपीवाई) भारत सरकार द्वारा 2015 में शुरू की गई एक सामाजिक सुरक्षा योजना है। यह असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए एक परिभाषित लाभ पेंशन योजना है और इसका प्रबंधन पीएफआरडीए द्वारा किया जाता है। इस योजना के तहत, अभिदाताओं को एक लाख रुपये की निश्चित न्यूनतम पेंशन मिलेगी। 1000/- प्रति माह, रु। 2000/- प्रति माह, रु। 3000/- प्रति माह, रु। 4000/- प्रति माह, रु। 5000/- प्रति माह, 60 वर्ष की आयु में, उनके योगदान के आधार पर, जिसे वे 60 वर्ष की आयु या उसके बाद किसी भी आयु से प्राप्त करने का विकल्प चुन सकते हैं।

अटल पेंशन योजना का लक्षित समूह क्या है?

इस योजना का लक्षित समूह असंगठित क्षेत्र के श्रमिक हैं। इसमें अनौपचारिक क्षेत्र के श्रमिक जैसे घरेलू कामगार, निर्माण श्रमिक, सड़क विक्रेता, कृषि श्रमिक आदि शामिल हैं।

अटल पेंशन योजना के क्या लाभ हैं?

इस योजना के दो लाभ हैं। सबसे पहले, यह अभिदाताओं को पेंशन के रूप में वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है। दूसरा, यह अभिदाताओं को उनकी सेवानिवृत्ति के लिए बचत करने के लिए भी प्रोत्साहित करता है।

अटल पेंशन योजना के लिए पात्रता मानदंड क्या है?

इस योजना के लिए पात्रता मानदंड इस प्रकार हैंः

– आवेदक की आयु 18-40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

– आवेदक भारत का निवासी होना चाहिए।

– ग्राहक के पास बैंक खाता होना चाहिए।

अटल पेंशन योजना के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता होती है?

इस योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज इस प्रकार हैंः

– आधार कार्ड

– पैन कार्ड

– बैंक खाता विवरण/पासबुक

– आय प्रमाण

– पते का प्रमाण

 

1. अटल पेंशन योजना क्या है?

2. अटल पेंशन योजना में पहले कितने साल की उम्र में शामिल हो सकते हैं?

3. अटल पेंशन योजना में कौन-कौन से डॉक्यूमेंट्स आवश्यक होते हैं?

Atal Pension Yojana kya hai, Atal Pension Yojana ke fayde kya hai, Atal Pension Yojana ka uddeshya kya hai, Atal Pension Yojana mein account kaise kholein, Atal Pension Yojana ka eligibility kya hai, Atal Pension Yojana mein kitni age tak join kar sakte hain, Atal Pension Yojana ki contribution ki jankari kaise prapt karein

What is atal pension yojana

  1. Atal Pension Yojana – An Overview

The Atal Pension Yojana (APY) was launched in 2015 by the Government of India as a social security scheme for the unorganized sector workers. It is a defined benefit scheme that provides a monthly pension of Rs. 1,000 to Rs. 5,000 to the subscribers from the age of 60 years.

The scheme is open to all Indian citizens in the age group of 18-40 years. The subscribers would contribute monthly for a minimum period of 20 years to receive the pension benefits. The scheme is administered by the Pension Fund Regulatory and Development Authority (PFRDA).

The scheme would provide social security in old age to the subscribers and would help in reducing the burden on the family members. It would also help in promoting financial inclusion.

The government has also announced a co-contribution of 50% of the subscriber’s contribution (up to a maximum of Rs. 1,000 per annum) for those who join the scheme between the age of 18 and 50 years and who are not covered by any statutory social security scheme.

The scheme is voluntary and portable. The subscriber can exit the plan at any time before attaining the age of 60 years. The exit options include withdrawal of the accumulated corpus and purchase of an annuity.

The scheme has a provision for auto-debit of the subscriber’s account from any bank account through the ‘APY-Common Mobile Portal.’ The subscribers can also contribute through post offices.

  1. Eligibility Criteria for Atal Pension Yojana

What is Atal Pension Yojana?

The Atal Pension Yojana (APY) is a pension scheme for unorganized sector workers. It was launched by the Government of India in 2015. The scheme is open to all Indian citizens between the ages of 18 and 40 years. Under the scheme, subscribers will receive a guaranteed minimum pension of Rs. 1,000 per month, Rs. 2,000 per month, Rs. 3,000 per month, Rs. 4,000 per month, or Rs. 5,000 per month, depending on their contributions, from the age of 60 years.

What are the Eligibility Criteria for Atal Pension Yojana?

The following are the eligibility criteria for Atal Pension Yojana:

– The subscriber should be a resident of India.

– The subscriber’s age should be between 18 and 40 years.

– The subscriber should not be a member of any other statutory social security scheme.

– The subscriber should have a bank account with a bank that is participating in the scheme.

What are the Benefits of Atal Pension Yojana?

The benefits of Atal Pension Yojana are as follows:

– The scheme provides a guaranteed minimum pension of Rs. 1,000 per month, Rs. 2,000 per month, Rs. 3,000 per month, Rs. 4,000 per month, or Rs. 5,000 per month, depending on the contributions made by the subscriber.

– The pension will be paid to the subscriber from the age of 60 years.

– If the subscriber dies before the age of 60 years, the pension will be paid to the spouse of the subscriber. If the subscriber does not have a spouse, the pension will be paid to the nominee of the subscriber.

– The pension will be paid to the subscriber even if they are not employed at the time of retirement.

– If the subscriber is employed at the time of retirement, the pension will be in addition to the salary from the employer.

– The scheme provides for comprehensive social security for the unorganized sector workers.

  1. Benefits of Atal Pension Yojana

The Atal Pension Yojana (APY) is a pension scheme for unorganized sector workers that was introduced by the Government of India in 2015. It is managed by the Pension Fund Regulatory and Development Authority (PFRDA). Under this scheme, the subscribers would receive a minimum guaranteed pension of Rs. 1000/- per month after attaining the age of 60 years.

The scheme is open to all Indian citizens in the age group of 18-40 years. Any person who is not a member of any statutory social security scheme is eligible to join this scheme. The scheme would be implemented through National Pension System (NPS).

The subscribers would have the option to choose their own pension amount ranging from Rs. 1000/- to Rs. 5000/- per month. The government would also contribute 50% of the subscriber’s contribution or Rs. 1000/- per annum, whichever is lower, to each eligible account, for a period of 5 years, i.e., from 2015-16 to 2019-20.

The scheme would provide social security in old age and would help in reducing the burden on the family members. It would also promote old-age financial inclusion and help in building a pensioned society in India.

Some of the key benefits of Atal Pension Yojana are:

1. Guaranteed Pension: The scheme provides for a minimum guaranteed pension of Rs. 1000/- per month. The subscriber would have the option to choose their own pension amount ranging from Rs. 1000/- to Rs. 5000/- per month.

2. Government Contribution: The government would also contribute 50% of the subscriber’s contribution, or Rs. 1000/- per annum, whichever is lower, to each eligible account, for a period of 5 years, i.e., from 2015-16 to 2019-20.

3. Social Security: The scheme would provide social security in old age and would help in reducing the burden on the family members. It would also promote old-age financial inclusion and help in building a pensioned society in India.

  1. How to Apply for Atal Pension Yojana

Atal Pension Yojana (APY) was launched by the Government of India in 2015 to provide social security cover to unorganized sector workers. The scheme is open to all citizens of India between the ages of 18-40 years. Under the scheme, subscribers would receive a minimum guaranteed pension of Rs. 1000/- per month upon attaining the age of 60 years.

The scheme is administered by the Pension Fund Regulatory and Development Authority (PFRDA) and is currently managed by six major pension funds, namely SBI Pension Funds Pvt. Ltd., LIC Pension Funds Ltd., ICICI Prudential Pension Funds Management Co. Ltd., HDFC Pension Management Co. Ltd., Kotak Mahindra Pension Fund Ltd. and UTI Retirement Solutions Ltd.

To join the scheme, subscribers have to contribute monthly between Rs. 55/- to Rs. 200/-, depending on their age of entry, for a minimum period of 20 years. The government also contributes 50% of the subscriber’s contribution, subject to a maximum of Rs. 1000/- per annum, to each eligible APY account holder.

Eligibility Criteria for Atal Pension Yojana

All citizens of India between the ages of 18 and 40 years are eligible to join the scheme.

Benefits of Atal Pension Yojana

Under the scheme, subscribers would receive a minimum guaranteed pension of Rs. 1000/- per month upon attaining the age of 60 years. In case of death of the subscriber before the age of 60 years, the spouse of the subscriber would be eligible to receive 50% of the pension received by the subscriber. The pension would be payable till the age of 70 years.

How to Apply for Atal Pension Yojana

The scheme can be subscribed through any of the following channels:

1. Banks – All public sector banks, private sector banks, regional rural banks and cooperative banks are facilitating the enrollment under the scheme.

2. Post offices – Head post offices and selected post offices are also offering the facility to enroll under the scheme.

3. Point of Presence (POP) of NPS

  1. FAQs on Atal Pension Yojana

What is Atal Pension Yojana?

Atal Pension Yojana (APY) is a social security scheme launched by the Government of India in 2015. It is a defined benefit pension scheme for the unorganized sector workers and is managed by the PFRDA. Under this scheme, subscribers would receive a fixed minimum pension of Rs. 1000/- per month, Rs. 2000/- per month, Rs. 3000/- per month, Rs. 4000/- per month, Rs. 5000/- per month, at the age of 60 years, depending on their contributions, which they can choose to receive starting at the age of 60 years or any age thereafter.

What is the target group of Atal Pension Yojana?

The target group of this scheme is the unorganized sector workers. This includes workers in the informal sector, such as domestic workers, construction workers, street vendors, agricultural workers, etc.

What are the benefits of Atal Pension Yojana?

The benefits of this scheme are two-fold. Firstly, it provides financial security in the form of a pension to the subscribers. Secondly, it also incentivizes the subscribers to save for their retirement.

What are the eligibility criteria for the Atal Pension Yojana?

The eligibility criteria for this scheme are as follows:

-The subscriber must be between 18-40 years of age.

-The subscriber must be a resident of India.

-The subscriber must have a bank account.

What are the documents required for Atal Pension Yojana?

The documents required for this scheme are as follows:

-Aadhaar Card

-PAN Card

-Bank account statement/ passbook

-Income proof

-Address proof

What's your reaction?