इस शारदीय नवरात्रि में पड़ेंगे तीन सर्वार्थसिद्धि योग , जाने केसे करे पूजा

इस शारदीय नवरात्रि में पड़ेंगे तीन सर्वार्थसिद्धि योग , जाने केसे करे पूजा  इस शारदीय नवरात्रि में पड़ेंगे तीन सर्वार्थसिद्धि योग , जाने केसे करे पूजा shardiya navratri

बीकानेर हलचल ।  17 अक्टूबर से नवरात्रि  की शुरुआत हो रही है. नवरात्रि मां दुर्गा की उपासना का विशेष पर्व है. नवरात्रि के नौ दिनों में मां दुर्गा के नौ रूपों की उपासना की जाती है. इस बार अधिक मास लग जाने के कारण नवरात्रि 25 दिनों की देरी के साथ प्रारंभ हो रही है.

इस शारदीय नवरात्रि में पड़ेंगे तीन सर्वार्थसिद्धि योग , जाने केसे करे पूजा prachina in article 1

घटस्थापना का शुभ मुहूर्त

नवरात्रि का पर्व आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से है। नवरात्रि के प्रथम दिन घटस्थापना का शुभ मुहूर्त प्रात: 6 बजकर 23 मिनट से प्रात: 10 बजकर 12 मिनट तक है। घटस्थापना के लिए अभिजित मुहूर्त प्रात:काल 11:44 से 12:29 तक रहेगा।

सर्वार्थसिद्धि योग
इस साल शारदीय नवरात्रि के दौरान तीन सर्वार्थसिद्धि योग पड़ रहे हैं. ये शुभ योग 18 अक्टूबर, 19 अक्टूबर और 23 अक्टूबर को बन रहे हैं. 18 अक्टूबर को त्रिपुष्कर योग भी बन रहा है. इस नवरात्रि के दौरान गुरु व शनि स्वगृही रहेंगे, जो बेहद शुभ फलदायी है. इस नवरात्रि में दुर्गा सप्तशती के साथ-साथ दुर्गा चालीसा का पाठ करना लाभकर होगा. प्रॉपर्टी, वाहन और अन्य चीजों की खरीदारी के लिए नवरात्रि में हर दिन शुभ मुहूर्त रहेगा.

 

घोड़े पर होगा मां का आगमन
मान्यता है कि मां हर बार अलग वाहन पर सवारी कर धरती पर आती हैं. इस बार मां का आगमन घोड़े पर हो रहा है. शास्त्रों के अनुसार, मां का घोड़े पर आगमन पड़ोसी देशों के साथ कटु संबंध, राजनीतिक उथल-पुथल, रोग व शोक देता है. मां की विदाई भैंस पर हो रही है. इसे भी शुभ नहीं माना जाता है.

 

 

कब से शुरू होगी नवरात्रि, जानें तिथियां

7 अक्टूबर 2020 (शनिवार)- प्रतिपदा घटस्थापना

18 अक्टूबर 2020 (रविवार)- द्वितीया माँ ब्रह्मचारिणी पूजा

19 अक्टूबर 2020 (सोमवार)- तृतीय माँ चंद्रघंटा पूजा

20 अक्टूबर 2020 (मंगलवार)- चतुर्थी माँ कुष्मांडा पूजा

21 अक्टूबर 2020 (बुधवार)- पंचमी माँ स्कंदमाता पूजा

22 अक्टूबर 2020 (गुरुवार)- षष्ठी माँ कात्यायनी पूजा

23 अक्टूबर 2020 (शुक्रवार)- सप्तमी माँ कालरात्रि पूजा

24 अक्टूबर 2020 (शनिवार)- अष्टमी माँ महागौरी, दुर्गा महा नवमी, पूजा दुर्गा, महा अष्टमी पूजा

25 अक्टूबर 2020 (रविवार)- नवमी मां सिद्धिदात्री, नवरात्रि पारणा, विजयादशमी

26 अक्टूबर 2020 (सोमवार)- दुर्गा विसर्जन

आरंभ हो जाएंगे शुभ कार्य

नवरात्रि का पर्व आरंभ होते ही शुभ कार्यों की भी शुरूआत हो जाएगी। मलमास में शुभ कार्यों को वर्जित माना गया है। मलमास में शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं, लेकिन नवरात्रि आरंभ होते ही नई वस्तुओं की खरीद, मुंडन कार्य, ग्रह प्रवेश जैसे शुभ कार्य आरंभ हो जाएंगे। शादी-विवाह देवउठनी एकादशी तिथि के बाद ही आरंभ होंगे। नवरात्रि में देरी के कारण इस बार दीपावली 14 नवंबर को मनाई जाएगी।

 

 

COMMENTS