जोधपुरबीकानेरराजस्थान

Jodhpur Violence : जोधपुर में झंडा लगाने को लेकर देररात भिड़े दो गुट, सुबह फिर पत्थरबाजी, विधायक के घर के बाहर गाड़िया फूंकी गईं

जोधपुर : राजस्थान में सीएम अशोक गहलोत के गृह जिले जोधपुर में देर रात जमकर बवाल हुआ। इस बीच सुबह में फिर पथराव की सूचना है। ईद और अक्षय तृतीया पर साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश हुई है। जालौरी गेट पर देर रात दो गुटों के बीच जमकर बवाल और पत्थरबाजी से इलाके में हालात तनावपूर्ण हो गए। हालात संभालने पहुंची पुलिस टीम पर भी पथराव किया गया, जिसमें कई पुलिसकर्मी भी जख्मी हुए हैं। बाद में स्थिति ये हो गई जिला प्रशासन ने एहतियातन इलाके में सभी इंटरनेट सेवाएं रात से ठप कर दी हैं।

इसी बीच उदय मंदिर थाना अधिकारी अमित सिहाग ने लाठीचार्ज शुरू कर दिया और लाठीचार्ज के साथ कई पत्रकारों को भी निशाना बनाकर उन्हें पीटा गया ..। समुदाय विशेष के लोगों ने इस दौरान पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया और रास्ते में जो भी मिला उनके साथ मारपीट भी शुरू कर दी.. । हालाक को संभालने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया और आंसू गैस के गोले भी छोड़े.

हिंसा की आग विधायक के घर तक पहुंच गई है. बीजेपी विधायक सूर्यकांता व्यास के घर के बाहर उपद्रवियों ने बाइकों को आग लगा दी. इससे पहले सुबह भी दोबारा पथराव की खबरें भी सामने आईं. पुलिस ने इससे निपटने लाठीचार्ज भी किया और आंसू गैस के गोले भी दागे. यह हंगामा सोमवार रात यानी ईद की पूर्व संध्या से शुरू हुआ था.

सुबह फिर हंगामा, पुलिस का लाठीचार्ज

वहीं जोधपुर में सुबह में फिर हंगामा हुआ है। उपद्रवियों ने 15 से 20 गाड़ियों के कांच तोड़े। एटीएम में भी तोड़फोड़ हुई है। पुलिस पर अटैक में पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। सुबह में बवाल के बाद पुलिस (Rajasthan Police) ने हालात संभाला। तुरंत ही पुलिस ने लाठीचार्ज करके उपद्रवियों को खदेड़ा। आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए। इस बीच जयपुर से एडीजी क्राइम सहित आलाधिकारी जोधपुर रवाना हो गए हैं।

विवाद की शुरुआत स्वतंत्रता सेनानी की प्रतिमा के पास लगे एक झंडा हटाने को लेकर शुरू हुई। बात जालोरी गेट चौराहे (Jalori Gate) पर बालमुकंद बिस्सा सर्किल के पास की है। जहां लगे भगवा ध्वज को उतार फेंकने और उसकी जगह समुदाय विशेष का झंडा फहराने से हंगामा बढ़ा। जिसमें दोनों पक्ष के लोग आमने-सामने आए गए और मारपीट शुरू हो गई। इसी के बाद जमकर पत्थरबाजी हुई। इसमें कई लोग चोटिल हुए हैं। जानकारी के मुताबिक, हंगामे और पत्थरबाजी की सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची। बीच-बचाव कर भीड़ को खदेड़ना शुरू किया।

वहीं दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत लोगों के साथ जालोरी गेट पर धरने पर बैठे हैं. इससे पहले शेखावत भी जालोरी गेट पहुंचे और उन्होंने स्थानीय लोगों से मुलाकात की. स्थानीय लोगों ने उन्हें बताया कि प्रदर्शनकारियों ने उनके वाहनों के शीशे तोड़ दिए और घरों में भी पत्थरबाजी की. गजेंद्र सिंह शेखावत ने उन्हें न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया. केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के साथ महापौर दक्षिण वनिता सेठ, पूर्व महापौर घनश्याम ओझा, भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष प्रश्नचंद मेहता, पूर्व महापौर देवेंद्र सालेचा, विधायक सूर्यकांता व्यास सहित कई पदाधिकारी भी मौजूद थे.

What's your reaction?

Leave A Reply

Your email address will not be published.