खारकीव से भारतीयों को सुरक्षित निकालने के लिए 6 घंटे तक युद्ध रोकने को तैयार हुआ रूस

2 Min Read

यूक्रेन और रूस के बीच जंग का गुरुवार को आठवां दिन है. इस बीच भारत सरकार यूक्रेन में फंसे भारतीयों को सुरक्षित वापस लाने के लिए पुरजोर कोशिश कर रही है. इसके लिए वायुसेना की भी मदद ली जा रही है. इस बीच भारत सरकार ने रूस के साथ एक अहम समझौता किया है. खारकीव में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए रूस 6 घंटे तक युद्ध रोकने को तैयार हो गया है. यह गैप वहां फंसे भारतीय लोगों को सुरक्षित खारकीव से निकालकर यूक्रेन के आसपास के देशों के बॉर्डर तक पहुंचाने के लिए लिया गया है.

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार रात को रूस के राष्ट्रफति व्लादिमीर पुतिन से बात की थी. इस दौरान पीएम मोदी ने यूक्रेन में फंसे भारतीयों को सुरक्षित निकालने का मुद्दा उठाया था. रूस के राष्ट्रपति ने पीएम को बताया था कि रूस हर संभव मदद करने को तैयार है. खारकीव में यूक्रेनी सेना भारतीय स्टूडेंट्स को मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं.

व्लादिमीर पुतिन ने पीएम मोदी से बातचीत के दौरान यह भरोसा दिलाया था कि इंडियन स्टूडेंट्स को वॉर जोन से सुरक्षित निकालकर उन्हें भारत भेजने के लिए सभी जरूरी निर्देश जारी किए गए हैं. रूसी सेना इस दिशा में हरसंभव कोशिश करेगी. उन्होंने भारतीय छात्रों के फौरन रेस्क्यू के लिए रूसी सेना द्वारा खारकीव से रूस तक एक सुरक्षित कॉरिडोर बनाने की भी बात कही थी. इसके अगले दिन ही रूस 6 घंटे तक युद्ध रोकने के लिए तैयार हो गया है.

- Advertisement -

रूसी पुलिस ने यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के सातवें दिन सेंट पीटर्सबर्ग में युद्ध-विरोधी प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया. स्वतंत्र निगरानी समूह ओवीडी-इन्फो का कहना है कि यूक्रेन पर आक्रमण के विरोध में रूस में कुल 7,000 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है

Share This Article