डाॅ.करणीसिंह स्टेडियम की दशा सुधारी जाएगी- गौतम

डाॅ.करणीसिंह स्टेडियम की दशा सुधारी जाएगी- गौतम bikaner news डाॅ.करणीसिंह स्टेडियम की दशा सुधारी जाएगी- गौतम IMG 20190820 WA0036

बीकानेर(Bikaner News)। डाॅ.करणीसिंह स्टेडियम के मुख्य प्रांगण का बेहतर रख-रखाव किया जाएगा, साथ ही परिसर में स्थित अन्य खेल मैदानों की दशा भी सुधारी जाएगी। सेना भर्ती के लिए जो युवक वहाँ अभ्यास कर रहे हैं, उन्हें सभी सुविधाएं मिलें तथा रात के समय भी खिलाड़ी अभ्यास कर सकें, इसके लिए शीघ्र ही हाईमास्ट लाईट लगाई जाएगी।
यह बात जिला कलक्टर व न्यास अध्यक्ष कुमारपाल गौतम ने मंगलवार को देर शाम डाॅ.करणीसिंह स्टेडियम का जायजा लेने के बाद कही। उन्होंने बताया कि डाॅ.करणीसिंह स्टेडियम का जो मुख्य प्रांगण है, वहाँ दूब लगाई जाएगी तथा स्टेडियम के मुख्य स्थानों पर हाईमास्ट लगाई जाएगी, जिससे कि खिलाड़ी देर शाम तक प्रैक्टिस कर सकें। उन्होंने बताया कि स्टेडियम में आने वाले खिलाड़ियों को पीने का पानी उपलब्ध हो, इसके लिए एक प्याऊ की स्थापना भी शीघ्र की जाएगी। उन्होंने खेल अधिकारी को निर्देश दिए कि 400 मीटर के ट्रैक का रख-रखाव और बेहतर किया जाए। ट्रैक के बीच जो छोटे-छोटे खड्डे हैं, उन्हें भरकर समतल किया जाए, जिससे कि सेना भर्ती के लिए अभ्यास कर रहे प्रतियोगियों की किसी तरह की परेशानी न हो।
उन्होंने बताया कि स्टेडियम के बीच में डिश फैंकने के लिए जो स्थान बना हुआ है, वह भी अप टू मार्क नहीं है। इसे अगले तीन दिनों में ठीक किया जाए और मानक के अनुसार इसका निर्माण करवाया जाए। उन्होंने स्टेडियम परिसर में स्थित बास्केटबाॅल, वाॅलीबाॅल के ग्राऊण्ड की दशा सुधारने के लिए भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। सभी खेल मैदान देखने के बाद जिला कलक्टर ने कहा कि इतने भव्य स्थान में बने इन सभी मैदानों की बेहतर सार-संभाल के लिए जिम्मेदार अधिकारियों से प्रतिमाह जानकारी ली जाएगी।
साइकिल वैलोड्राम निर्माण पर होगी बैठक
जिला कलक्टर ने डाॅ. करणीसिंह स्टेडियम परिसर में ही बने टेबल टेनिस और बैडमिंटन खेल मैदान को भी देखा तथा आवश्यक सुविधाओं आदि के बारे मे जानकारी प्राप्त की। उन्होंने बताया कि साइकिल वैलोड्राम की जो वर्तमान स्थिति है, इसमें पुनः साइकिलिस्ट साइकिल चला सके, इसके लिए इसकी मरम्मत की जाए अथवा डिस्मेंटल करके नया बनाया जाए, इस पर विचार-विमर्श करने के लिए एक बैठक अगले सप्ताह खेल अधिकारियों और साइकिलिंग से जुड़े व्यक्तियों के साथ बैठक कर अंतिम निर्णय लिया जाएगा। अगल सर्वसम्मति बनती है, तो डीएमएफटी के माध्यम से अन्र्तराष्ट्रीय मानक का एक नया साइकिल वैलोड्राम बनाया जाएगा। स्थान के चयन के लिए सभी से बातचीत की जाएगी। गौतम ने बताया कि डाॅ. करणीसिंह स्टेडियम की दशा सुधारने के लिए विभिन्न संस्थाओं के सीएसआर फण्ड का उपयोग करने के लिए भी एक बैठक पृथक से की जाएगी।

COMMENTS